loading...
हाईटेक भिखारी: क्रेडिट और डेबिट कार्ड से भीख लेता हैं यह भिखारी! OMG: दो रुपये के पीछे हुई हाथापाई, वृद्ध ने गवाई जान! ‘कृत्रिम दिल’ की बदौलत 555 दिनों तक जीते रहे ब्रिटेन के लार्किन! गोलगप्पे का स्वाद बढ़ाने के लिए कर डाला ये हैरान कर देने वाला काम! OMG: TV का रिमोट चुराने पर हो गयी 22 साल की जेल! ये हैं भारत के 7 करोड़पति भिखारी, जानें रोज की कमाई? सत्यवादी राजा हरिश्चंद्र के पुत्र रोहिताश्व ने करवाया था इस किले का निर्माण, दीवारों से खून.. जानें इतिहास भारत में मुस्लिम दूसरा सबसे बड़ा बहुसंख्यक: आजाद VIDEO: इस फिल्म में रॉ एजेंट की भूमिका निभायेंगे सुशांत सिंह डॉलर के मुकाबले रुपये में मजबूती, 65 रुपये के स्तर पर आया केजरीवाल सरकार ने दिया था निगम का संपत्ति कर बढ़ाने का निर्देश : मनोज तिवारी संदिग्ध परिस्थितियों में गर्भवती की मौत, हत्या का आरोप नेता सदन के तौर पर योगी तो उनके ठीक सामने नेता प्रतिपक्ष की कुर्सी पर बैठेंगे रामगोविंद चौधरी हथियार सहित शातिर बदमाश गिरफ्तार अवैध देशी शराब की 51 पेटियां बरामद राजा भइया की कोठी पर सजा दरबार, शिकायतों के निस्तारण का कड़ा निर्देश अमर कालोनी : धारदार हथियार से महिला की हत्या PICS: बॉलीवुड की 5 सबसे खूबसूरत अभिनेत्रियां डाकघर बैंक हुआ हिट, दो दर्जन बड़े बैंक चाहते है जुड़ना मगरा व मेवात क्षेत्र की 300 ग्राम पंचायत मुख्यालयों को स्मार्ट विलेज के रूप में किया जाएगा विकसित, ग्राम सेवक का पदनाम होगा ग्राम विकास अधिकारी
ममता का सेना को राजनीती मे घसीटना नीच कार्य:बीजेपी
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 03:53:38 PM
1 of 1

नई दिल्ली। बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव सिद्दार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि सेना को राजनीती मे घसीट कर उन्होंने अपना ओछापन दिखा दिया है , हो सकता है कि वो नोटबंदी के विरोधी ग्रुप की चीयर लीडर हो  पर सेना को राजनीते से परे रखना चाहिए। 

इससे पहले ममता ने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य सरकार को बिना किसी पूर्व  सूचना के इस तरह सेना को तैनात किया जाना एक गंभीर मुद्दा है। राज्य में इमरजेंसी जैसे हालात पैदा हो गए हैं।  उन्होंने इस तरह सेना की तैनाती को असंवैधानिक बताते हुए राष्ट्रपति से मोदी सरकार की शिकायत करने का मन भी बनाया है

इससे पहले रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों की ओर से आज लोकसभा में यह मुद्दा उठाए जाने पर जवाब देते हुए कहा कि सेना की मंशा पर शक करना और उसे बेवजह राजनीतिक विवाद में घसीटना सही नहीं है। उन्होंने कहा, मुझे इस सदन को यह कहते दुख हो रहा है कि सेना के इस तरह के नियमित अभ्यास पर विवाद खड़ा किया जा रहा है। ये एक तरह की राजनीतिक हताशा है।’


ये सेना का नियमित अभ्यास  
रक्षा मंत्री ने बनर्जी का नाम लिए बगैर कहा कि एक राज्य की मुख्यमंत्री ने सेना के बारे जो भी कहा है वह दुखद है। ‘पिछले कई वर्षों से इस तरह का अभ्यास जारी है। राज्य में पिछले साल 19 नवंबर को भी यह अभ्यास किया गया था। इस बार भी बाकी राज्यों के साथ सेना की पूर्वी कमान ने उत्तर पूर्व के कई राज्यों में इस तरह का अभ्यास चलाया है। उत्तर प्रदेश, बिहार और झारखंड में भी ऐसा अभ्यास किया गया है। ये सारे अभ्यास शुरू किए जाने के पहले संबंधित राज्यों के प्रशासन और पुलिस को इसकी जानकारी दी गई थी। ऐसे में विवाद खड़ा करना और वह भी सेना को लेकर ऐसा करना बिल्कुल गलत है।

 यह भी पढ़े: भारतीय के कैमरे में कैद हुआ भूत, सोशल मीडिया पर वायरल

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े: सुना होगा शुगर फ्री लेकिन सही में ये है इसका मतलब

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.