रुपया 20 पैसे गिरकर 64.33 रुपए प्रति डॉलर पर बंद सुप्रीम कोर्ट ने आतंकी अशफाक को नहीं दिया पैरोल राशिफल : 20 सितंबर : कैसा रहेगा आपके लिए बुधवार का दिन, जानने के लिए क्लिक करें देश और दुनिया के इतिहास में 20 सितंबर की महत्वपूर्ण घटनाएं सर्वे: अस्वस्थ जीवनशैली है यौन रोग का कारण... खाद्य पदार्थो में मिलावट को कैसे पता करें, जानिए... बुधवार के दिन गणेश जी की पूजा करने से होती है सभी मनोकामनाएं पूर्ण दोस्तों से अलग होने पर उदास मन को ऐसे करे फ्रेश.... अधिक चाय पीना सेहत के लिए हानिकारक इन बीमारियों से लड़ने की क्षमता प्रदान करता है कुट्टू का आटा बालो को जब वाश करते समय रखें इन बातों का ख्याल तो इस कारण नहीं होती लड़कियों की शर्ट में पॉकेट शारीरिक कमजोरी को दूर करती है ये घरेलू चीजें सेहत के बहुत फायदेमंद है रात में नहाना अपने बालों को नया लुक देने के लिए यूज करे हेयर चॉक काम के दौरान तनाव सेहत के लिए खतरनाक एशियाई शेरनी महक का ऑपरेशन सफलतापूर्वक हुआ सम्पन्न एम एस सुब्बुलक्ष्मी एक अपूर्व और प्रतिष्ठित शख़्सियत थीं जिन्होंने सबको मंत्रमुग्ध कियाः उप राष्ट्रपति आस्ट्रेलिया दौरे: भारतीय महिला हॉकी टीम-ए का एलान, प्रीति करेगी कप्तानी फिल्म 'बागी-2' के लिए गंजे हुए टाइगर श्रॉफ
LIVE: 2 मर्डर केस में पंचकूला CBI अदालत में सुनवाई शुरू, हरियाणा में सुरक्षा के कड़े इंतजाम
sanjeevnitoday.com | Saturday, September 16, 2017 | 11:01:56 AM
1 of 1

पंचकूला। पत्रकार छत्रपति साहू और डेरा प्रबंधक रणजीत सिंह की हत्या मामलों में पंचकूला सीबीआइ कोर्ट में गुरमीत राम रहीम सुनवाई शुरू हो गई है। सुनवाई के मद्देनजर कोर्ट परिसर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। वहीं इस अहम सुनवाई के मद्देनजर हरियाणा पुलिस ने पंचकूला कोर्ट परिसर के आसपास सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए हैं। कोर्ट की तरफ जाने वाले रास्तों पर हरियाणा पुलिस के साथ पैरामिलिट्री फोर्स को तैनात किया गया है। इस अहम सुनवाई के दौरान कानून-व्यवस्था की स्थिति ना बिगड़े, इसके लिए तमाम बंदोबस्त किए गए हैं। 

हत्या के दो केस कौन–कौन से हैं

24 अक्टूबर 2002 को सिरसा के सांध्य दैनिक 'पूरा सच' के संपादक रामचन्द्र छत्रपति को उनके घर के बाहर गोलियों से छलनी कर दिया गया था। 21 नवम्बर 2002 को छत्रपति की दिल्ली के अपोलो अस्पताल में मौत हो गई थी। उनके अखबार 'पूरा सच' ने एक गुमनाम पत्र छापा था। पत्र में बताया गया था कि किस तरह से सिरसा स्थित डेरा मुख्यालय में साध्वियों का यौन उत्पीड़न होता था।

यह भी पढ़े:तुर्की में हुआ LOVE बेबी का जन्म, जानिए क्या है इस बच्चे की खासियत

दूसरा मामला 10 जुलाई 2002 का है जब डेरा प्रबंध समिति सदस्य रहे रणजीत सिंह की हत्या की गई थी। डेरा प्रबंधन को रंजीत सिंह पर साध्वी का पत्र तत्कालीन प्रधानमंत्री तक पहुंचाने का शक था। हत्या का शिकार बने दोनों लोगों के परिवार ने अदालत का दरवाजा खटखटाया था जिसके बाद ही पंजाब एवं हरियाणा हाई कोर्ट ने नवंबर 2003 में सीबीआई जांच के आदेश दिए थे।

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.