loading...
loading...
loading...
नीतीश कुमार दे रहे थे भाषण और कैंडी-क्रश खेल रहे थे IPS अधिकारी नहीं मिली एंबुलेंस, बीमार बहन को कंधे पर लेकर दौड़ता रहा भाई, फिर हुई मौत उत्तरी भारत में मानसून का प्रवेश, राजस्थान समेत कई हिस्सों में भारी बारिश की संभावना साबरमती आश्रम की 100वी वर्षगांठ पर पहुंचे PM मोदी इस झील के पानी में समय-समय पर होते हैं बदलाव, जानिए रहस्य! GST से पहले बिग बाजार से लेकर ऐमजॉन तक हो रही है ऑफर्स की बौछार राष्ट्रपति चुनावों को लेकर 5 अगस्त को होगा मतदान: नसीम जैदी इस अजीबोगरीब परम्परा के बारें में सुनकर आप चौंक जाएंगे! शराब ठेकों के विरोध में सड़कों पर उतरीं महिलाएं, जीटी रोड जाम मध्यप्रदेश में दो जुलाई को रचा जायेगा इतिहास एक साथ लगेंगे 6 करोड़ पौधे 1 जुलाई से लागू हो रहा है GST, 30 जून की आधी रात को संसद में ख़ास कार्यक्रम का आयोजन इस बच्ची के जज़्बे को देखकर आपके भी उड़ जाएंगे होश बाइक सवारों ने युवती के हाथ से छीना फोन और फिर... BSNL दे रहा है यूजर्स को हर दिन 2 जीबी फ्री डाटा और अनलिमिटेड कॉलिंग 'स्पाइडर मैन: होमकमिंग' का ट्रेलर लांच, टाइगर श्रॉफ देंगे अपनी आवाज चीन ने फिर किया कारनामा, बना डाला शीशे का ब्रिज अपराधियों ने 2 सगी बहनों से की छेड़खानी, फिर दी धमकी डाओ में हुई 150 अंकों की बढ़ोतरी J&K: पुंछ सेक्टर में फायरिंग जारी, 2 जवान घायल ये अचरज भरी बातें जानकर आप भी रह जाएंगे दंग
कश्मीर: अशांति के 100 दिन पूरे, सबसे ज्यादा, आम जनजीवन प्रभावित
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 09:58:40 AM
1 of 1

श्रीनगर।  दक्षिण कश्मीर में अनंतनाग जिला के कोकरनाग इलाके में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद से कश्मीर में चल रही अशांति के रविवार को 100 दिन पूरे हो गए। इस दौरान अलगाववादियों द्वारा आहूत हड़ताल और प्रशासनिक पाबंदियों के कारण आज 100वें दिन भी आम जनजीवन प्रभावित रहा है। हालांकि स्थिति में सुधार को देखते हुए आज घाटी से कर्फ्यू हटा दिया गया। मौजूदा आंदोलन का नेतृत्व कर रहे अलगाववादियों की ओर से बुलाई गई हड़ताल के चलते घाटी में पिछले 100 दिन से बंद की स्थिति है। हालांकि बीच-बीच में कुछ अवधि के लिए राहत दी जाती है। हड़ताल के कारण दुकानें, व्यापारिक प्रतिष्ठान और पैट्रोल पंप लगातार बंद रहे।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

हड़ताल और प्रतिबंधों की वजह से छात्रों की पढ़ाई पर असर पड़ा है क्योंकि घाटी में स्कूल, कालेज और अन्य शिक्षण संस्थान बंद हैं। इस बीच श्रीनगर की ऐतिहासिक जामिया मस्जिद की ओर जाने वाले सभी रास्तों को भी बंद कर दिया गया। सुरक्षा की दृष्टि से काफी तादाद में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। पुलिस के एक अधिकारी के मुताबिक, घाटी के सभी क्षेत्रों के अलावा श्रीनगर से भी कर्फ्यू हटा लिया गया है। हुर्रियत ने हड़ताल को 20 अक्तूबर तक बढ़ा दिया है। हुर्रियत कांफ्रैंस के उदारवादी धड़े के अध्यक्ष मीरवायज मौलवी उमर फारूक के गढ़ जामिया मस्जिद के आस-पास की स्थिति में भी कोई परिवर्तन नहीं आया है।

श्रीनगर में एक अधिकारी ने कहा कि स्थिति में सुधार आ रहा है। लोग हुर्रियत के बुलाए गए बंद को नकार रहे हैं और अपने दैनिक कार्यों के लिए घरों से बाहर आ रहे हैं। सिविल लाइंस और शहर के बाहरी इलाकों में कई दुकानें खुलीं। कुछ लोगों ने कहा कि कश्मीर की आशंति ने उनका सबकुछ छीन लिया है और अलगाववादियों को इससे कोई लेना-देना नहीं है।

यह भी पढ़े : क्या आप जानते है छोटे स्तन होने के ये 10 फायदे...?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: फेसबुक पर ऑनलाइन दोस्ती .. और फिर इस तरह दे डाला खुनी वारदात को अंजाम!

यह भी पढ़े: OMG! इस गांव में लड़कियां अपने मां-बाप के सामने बनाती है शारीरिक संबंध



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.