अक्सर-2 को जरीन खान ने बताया अश्लील, कहा- मुझसे छोटे कपड़े पहनने के आलावा करवाये ऐसे काम नॉर्थ कोरिया में महिला सैनिकों की आपबीती- रेप होना आम बात हमेशा पीएम मोदी के साथ क्यों रहती है ये महिला, जानिए पूरी सच्चाई... जिम्बाब्वे: मुगाबे के इस्तीफा देने के बाद राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे एमर्सन नांगाग्वा राष्ट्रपति पुतिन के खिलाफ चुनाव में उतरी ये 'पोर्न स्टार' सावधान! 2018 में भयानक भूकंप से पूरी दुनिया में मच सकती है तबाही कानपुर-मेरठ में EVM गड़बड़ी का आरोप लगाकर बसपा कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा चुनावी मौसम में गुजरात की सियासत में आया उबाल, कांग्रेस दिलाएगी गुजरात के पाटीदारों को आरक्षण फ्लाइट में देरी के कारण केंद्रीय मंत्री केजे अल्फोंस पर फूटा महिला का गुस्सा, कहा... बिस्कुट खाना है पसंद तो घर ही बनाइये ओरियो आइस क्रीम शेक सचिन का रिकॉर्ड तोड़ सकता है विराट कोहली: शोएब अख्तर दुनिया की सबसे तेज़ सुपरसोनिक मिसाइल "ब्रह्मोस" स्वर्ण पदक विजेता हॉकी खिलाड़ी वंदना को गृह क्षेत्र में किया सम्मान दुर्घटनाग्रस्त C2-A विमान: अब तक 8 लोगो को बचाया सुरक्षित, सर्च अभियान अभी भी जारी हॉन्ग कॉन्ग ओपन: साइना, पीवी सिंधु और प्रणय दूसरे दौर में पहुंचे रेसिपी: इस प्रकार बनाएं स्वादिष्ट पनीर ब्रेड रोल समय पर कर्ज नहीं चुका पाया तो साहूकार ने बरसाई चप्प्ल विराट को प्रपोज करने वाली इंग्लैंड महिला क्रिकेटर ने T-20 में बनाया वर्ल्डरिकॉर्ड दिमाग को हैल्दी बनाने के लिए चॉकलेट का करें सेवन VIDEO : फ्लाइट लेट होने पर महिला का फूटा ग़ुस्सा, मंत्री को लगाई फटकार
जोराम नेशनलिस्ट पार्टी ने मुख्यमंत्री ललथनहवला के इस्तीफे की मांग की
sanjeevnitoday.com | Sunday, November 12, 2017 | 12:29:26 AM
1 of 1

एजल। मिजोरम में विपक्षी जोराम नेशनलिस्ट पार्टी ने कोलकाता में कथित तौर पर जमीन खरीदने की जानकारी नहीं देने पर राज्य के मुख्यमंत्री ललथनहवला के इस्तीफे की आज मांग की।

जोराम नेशनलिस्ट पार्टी ( जेडएनपी ) युवा अध्यक्ष ललमौनपुईया पुंटे ने संवाददाताओं के समक्ष दावा किया कि ललथनहवला ने कोलकाता में एक भूखंड खरीदा है जहां वह एक इमारत बनवा रहे हैं ।

यह भी पढ़े: गोरखपुर में अलगटपुर बांध टूटने से 4 जिलों में घुसा पानी देखिए VIDEO

उन्होंने आरोप लगाया कि ललथनहवला ने 30 अगस्त 2013 को अपने नाम जमीन की रजिस्ट्री करवायी थी लेकिन 2013 में हुए विधानसभा चुनावों के लिए नामांकन के दौरान उन्होंने अपने हलफनामे में इसकी जानकारी नहीं दी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री ने आठ नवंबर 2013 को विधानसभा चुनाव के लिए पर्चा दाखिल किया था । उन्होंने इसकी जानकारी निर्वाचन आयोग को नहीं दी थी और यह जनप्रतिनिधित्व कानून 1951 की धारा 125 का उल्लंघन है।

यह भी पढ़े: वीडियो: एक पैर से विकलांग होने के बावजूद भी देखें इस शख्स की मेहनत, रह जाएंगे हैरान

पुंटे ने कहा कि ललथनहवला सूचना छिपाने के आरोप में अयोग्य करार दिये जा सकते हैं। निर्वाचन आयोग उन्हें अयोग्य करार दे उससे पहले ही उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। अनेक प्रयास के बावजूद ललथनहवला से संपर्क नहीं हो सका।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.