संजीवनी टुडे

News

जन्माष्टमी पर देवस्थान विभाग के वैष्णव एवं कृष्ण मंदिरों में मचेगी धूम

Sanjeevni Today 13-08-2017 20:03:53

जयपुर। कृष्ण जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर 15 अगस्त, मंगलवार को राज्य एवं राज्य के बाहर स्थित देवस्थान विभाग द्वारा प्रबंधित एवं नियंत्रित 30 राजकीय मंदिरों में विशेष आयोजन किए जाएंगे। देवस्थान विभाग के आयुक्त जितेंद्र कुमार उपाध्याय ने बताया कि सभी मंदिरों की साफ-सफाई, विग्रह पंचामृत अभिषेक, तुलसीपत्र से सहस्रार्चन, श्रीकृष्ण की आवरण पूजा, राजोपचार पूजा, भजन कीर्तन, श्रृंगार, भोग-प्रसाद आदि विभिन्न आयोजनों के लिए विस्तृत दिशा निर्देश संबंधित सहायक आयुक्त को जारी किए जा चुके हैं। 

इन मंदिरों में रहेंगे आयोजन 
देवस्थान द्वारा चयनित प्रमुख मंदिरों में रा. आ. नि. मंदिर श्री लक्ष्मीनारायण जी, पावटा, दौसा, रा.आ.नि.मंदिर श्री मथुराधीश जी, हजारी मोहल्ला, अलवर, रा.आ.नि.मंदिर श्री गोपीनाथ राणावत जी, खेतड़ी जिला झुंझुनू, रा.आ.नि.मंदिर श्री बिहारी जी, किला भरतपुर, रा.आ.नि.मंदिर श्री राधा गोपाल जी,पानी की टंकी के पास, किले के बाहर करौली, रा.आ.नि.मंदिर श्री गंगश्याम जी, जोधपुर, रा.आ.नि.मंदिर श्री कुंज बिहारी जी, जोधपुर, रा.आ.नि.मंदिर श्री लक्ष्मीनारायण जी,बीकानेर, रा.आ.नि मंदिर,श्री गोपीनाथ जी रोड,बीकानेर, रा.आ.नि.मंदिर श्री लक्ष्मीनारायण जी चुरू, रा.आ.नि.मंदिर श्री जगत शिरोमणी, वृंदावन चंद्रमा जी, गोकुल चंद्रमा जी, उदयपुर, रा.आ.नि.मंदिर चारभुजा जी, गढ़बोर, जिला राजसमंद, रा.आ.नि.मंदिर श्री लक्ष्मीनारायण जी राशमी, जिला चित्तौड़गढ़, रा.आ.नि.मंदिर श्री द्वारकाधीश जी, झालरापाटन-झालावाड़ रा.आ.नि.मंदिर श्री कल्याण राय जी, बांरा, रा.आ.नि.मंदिर श्री मदन मोहन लाल जी, गुस्साई जी की घाटी, किशनगढ़, जिला अजमेर, में होंगे। 

यह भी पढ़े:  यहां पर मनपसंद पुरुषों की लगती है बोली, खरीदती है लड़कियां!

रा.आ.नि.मंदिर श्री बृजनंदन जी, जहाजपुर, जिला भीलवाड़ा, रा.प्र.प्र. मंदिर बृजनिधी जी,चांदनी चौक, जयपुर, रा.प्र.प्र. मंदिर श्री बलदेव जी परशुराम द्वारा आमेर रोड, जयपुर, रा.प्र.प्र.मंदिर श्री राधा बिहारी जी महल के पास, चिड़िया खाना कोठी मोहल्ला तलय्या,धोलपुर रा.प्र.प्र. मंदिर श्री बांकड़े बिहारी जी, पैलेस रोड, जैसलमेर, रा.प्र.प्र. मंदिर जगमोहन जी भोसवालों का मोहल्ला, नोहर,  जिला हनुमानगढ़, रा.प्र.प्र,मंदिर श्री रघुनाथ जी गढ़, श्रीगंगानगर, रा.प्र.प्र. मंदिर, श्री लाखनश्याम जी, उथरदा, जिला उदयपुर, रा.प्र.प्र. मंदिर श्री गोपाल जी, अस्थल मंदिर तालाब के पास, प्रतापगढ़, रा.प्र.प्र. मंदिर, श्री फूल बिहारी जी, पाटन पोल, कोटा,  रा.प्र.प्र.मंदिर, श्री लालजी, बालचंद पाडा, बूंदी, रा.प्र.प्र. श्रेणी मंदिर श्री मुरलीधर जी,सुरमो का चौक, डूंगरपुर, रा.प्र.प्र. श्रेणी मंदिर श्री विट्ठल राय जी, बांसवाड़ा, रा.प्र.प्र. मंदिर श्री राधा माधव जी, वृंदावन (उत्तर प्रदेश) हैं। 

उपाध्याय ने बताया कि सहायक आयुक्तों को कार्यक्रमों के अपेक्षित प्रचार प्रसार करने के संबंध में निर्देश दिये गए हैं ताकि अधिक से अधिक श्रद्धालुगण इसका लाभ प्राप्त कर सकें । सहायक आयुक्तों द्वारा कार्यक्रम के फ्लैक्स छपवाए जाकर सुदृष्य स्थानों पर प्रकाशित करवाए जाएंगे तथा आमंत्रण पत्रों के माध्यम से जन सामान्य एवं जनप्रतिनिधियों की अधिकाधिक भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी। जिन मंदिरों में श्रद्धालुओं की संख्या अधिक रहती हैं वहां स्थानीय प्रशासन एवं पुलिस का सहयोग लेकर कार्य संपन्न करने के लिये संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

Watch Video

More From national