संजीवनी टुडे

News

निठारी कांड: 9वें मामले में सुरेन्द्र-मोनिंदर दोषी करार

Sanjeevni Today 07-12-2017 04:32:00

गाजियाबाद। दिल्ली के नोएडा के बहुचर्चित निठारी कांड के नौवें मामले में सुरेन्द्र कोली और  मोनिंदर सिंह पंढेर को सीबीआई की अदालत ने दोषी करार दिया। दोनों की सजा का ऐलान  शुक्रवार को किया जाएगा। बता दें कि सीबीआइ ने 29 दिसंबर, 2006 को यह मामला दर्ज किया था और यह निठारी कांड में दर्ज नौवां मामला है। बहुचर्चित निठारी कांड से जुड़े अपहरण, रेप और मर्डर इस नौवें मामले में गाजियाबाद की स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने यह बड़ा फैसला सुनाया है।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने सुरेंद्र कोली और मनिंदर सिंह पंधेर और उसके नौकर सुरेंद्र कोली को आइपीसी की धारा 364 (हत्या करने के लिए व्यपहरण या अपहरण), 302 यानी हत्या और सेक्शन 376 (दुष्कर्म) के तहत दोषी माना है। नोएडा के बहुचर्चित निठारी कांड में सीबीआई की तरफ से 16 मामले दर्ज किए गए थे। इससे पहले आठ मामलों में कोली को मौत की सजा सुनाई जा चुकी है।

पुलिस अधिकारी के मुताबिक, मोनिंदर पंढेर की कोठी में अक्सर कॉलगर्ल्स आया करती थीं। उनके लिए घरेलू सहायक सुरेंद्र कोली ही खाने-पीने की व्यवस्था करता था। इस दौरान वो उनसे नजदीकी बढ़ाना चाहता था, लेकिन नौकर होने की वजह से कामयाब नहीं हो पाता। इसलिए वह धीरे-धीरे नेक्रोफीलिया नामक मानसिक बीमारी से ग्रसित होता गया। इस वजह से वो छोटे बच्चों के प्रति सेक्शुअली अट्रैक्ट होने लगा। जब इलाके में सन्नाटा छा जाता था तो कोठी से गुजरने वाली लड़कियों को वो पकड़ लेता और उनका मुंह बांध कर उनसे दुष्कर्म करता था। इतना ही नहीं, वो हत्या करने के बाद शव के साथ भी रेप करता था। 

 

Watch Video

More From national

Recommended