संजीवनी टुडे

News

OMG: यहां लोहे की गर्म सलाखों से दागकर किया जाता है इलाज

Sanjeevni Today 07-12-2017 06:02:00

नई दिल्ली। वर्तमान समय में किसी भी बीमारी का इलाज करने के लिए मेडिकल साइंस ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं, लेकिन गांव के कुछ इलाकों में इलाज आज भी ऐसे तरीकों से किया जाता हैं, जिसे जानकर आश्चर्य होता हैं। दरअसल, छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में लोग अपना ही नहीं बल्कि बच्चों का भी इलाज गर्म सलाखों से दगवाकर करवाते हैं, जिसे छत्तीसगढिया बोलचाल की भाषा में 'आंकना' कहते हैं। 

जानकारी के मुताबिक, इस तरीके से बीमारियों का इलाज करने वाले वैद इसे पूरी तरह से कारगर होने का दावा करते हैं, जबकि इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। कांकेर के हर पांच-दस गांव में एक ऐसा वैद्य मिल जाएगा, जो कथित तौर पर आंककर ही कई रोगों का इलाज करता है। 

यहां इलाज़ मुफ्त में किया जाता है। इस इलाज़ में हंसियानुमा लोहे को आग में लाल कर लोगों के शरीर के उन हिस्सों को दागते हैं, जहां उसे तकलीफ होती हैं।इस अवैज्ञानिक तरीके को पीड़ित लोग अपना भी रहे हैं और इससे आराम मिलने की बात भी कहते हैं। 

वहीं डॉक्टर इस तरीके को काफी खतरनाक और जानलेवा बताते हैं। यहां के लोग अनेक बिमारियों जैसे- वैद्यरत्तीलकवा, गठिया, वात, मिर्गी, बाफूर, अंडकोष, धात रोग, बेमची, आलचा सहित कई अन्य रोगों का इलाज इसी विधि से करवाते आ रहे हैं।

जानकारी के मुताबिक, यहां छत्तीसगढ़ के आलावा ओडिशा, महाराष्ट्र से भी लोग आते हैं। दूरदराज़ से आने वाले मरीजों के रहने व खाने की व्यवस्था भी वैद्य अपने घर पर ही कराते हैं। इस तरह सरकार भी इस अंधविश्वास को रोकने के लिए कोई खास कदम नहीं उठा रही है।

Watch Video

More From interesting-news

Recommended