शाम होते ही एक लाख 71 हजार दीयों से जगमगा उठेगा अयोध्या दीपावली पर लक्ष्मी पूजन करने की संपूर्ण विधि दिवाली स्पेशल: मां लक्ष्मी की कृपा बनाये रखने के लिए घर में होनी चाहिए ये 5 चीजें दीपावली शुभ मुहूर्त: शाम सवा सात बजे से सवा नौ बजे तक दीपावली पर्व: आपातकाल की स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य महकमा अलर्ट ये बेहतरीन और आसान रंगोली डिजाइन कर सकते हैं आपकी दिवाली को रंगीन दीपावली विशेष : जानिए, मां लक्ष्मी और गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त दीपावली विशेष : क्या आपको पता है दीवाली शब्द की उत्पति कहा से हुई है ? हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस और बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की लिस्ट उपराष्ट्रपति की जयपुर यात्रा की तैयारियों को लेकर हुई उच्च स्तरीय बैठक टीम इंडिया ने ऐसे मनाया पांड्या का बर्थडे, वीडियो देख कर हंसी के मारे हो जाओगे लोट पॉट आज बाजार का हीरो रहा रिलायंस इंडस्ट्रीज, निवेशकों ने कमाए 27000 करोड़ ... SBI ने पेश किया दिवाली ऑफर, मुफ्त में दे रहा है Mi Max 2 दिवाली से एक दिन पहले सोने की कीमतों में 290 रुपए की हुई बढ़ोतरी अयोध्या में 2019 तक राम मंदिर बनने के योगी आदित्यनाथ ने दिए संकेत युवराज सिंह पर उनकी भाभी ने लगाया घरेलू हिंसा का आरोप, कराया केस दर्ज यहां दहकते हुए अंगारों पर चलकर भक्तों ने किए माता के दर्शन VIDEO : हर्षिता मर्डर केस में नया खुलासा, बहन ने कहा -जीजा ने करवाया हर्षिता का कत्ल संसार के सबसे महंगे गणपति, कीमत सुनकर आप रह जाएंगे हैरान बिना जांच किए कैंसर के बारें में पता लगा लेती है ये औरत
गोरखालैंड: गोरखालैंड आंदोलन हुआ हिंसक पुलिस फायरिंग में दो की मौत, कई लोग घायल
sanjeevnitoday.com | Saturday, June 17, 2017 | 08:32:42 PM
1 of 1

दार्जीलिग। दार्जीलिंग पर्वतीय क्षेत्र में गोरखालैंड आंदोलन एक बाद फिर से हिंसक हो गया है। यहां गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के उग्र प्रदर्शनकारियों ने इंडियन रिजर्व बटालियन (IRB) के एक अधिकारी पर खुखरी से हमला कर दिया, जिसमें वे बुरी तरह घायल हुए हैं। इनकी पहचान किरण तमांग के रूप में की गई है, जो आईआरबी के 2nd बटालियन में असिस्टेंट कमांडर हैं। इसके जवाब में पुलिस फायरिंग में दो आंदोलनकारियों की मौत हो गयी है। और दर्जन भर से अधिक घायल हो गए हैं। जिसमें 19 पुलिसकर्मी घायल हो गए हैं। 

 

प्राप्त जानकारी के अनुसार गोरखालैंड की मांग को लेकर गोजमुमो ने पहले से ही पहाड़ बंद का ऐलान किया है। दो दिन पहले मोरचा सुप्रीमो बिमल गुरूंग के घर और कार्यालय पर पुलिस ने छापामारी की थी। उसके बाद से पहाड़ पर बेमियादी बंद का ऐलान किया गया है। पुलिस कार्यवाइ के विरोध में शनिवार को गोजमुमो ने दार्जीलिंग सहित पूरे पहाड़ पर रैली निकालने की घोषणा की थी। इस रैली को रोकने के लिए पुलिस ने पुलिस ने पहले से तगड़ा इंतजाम कर रखा था। दिन में करीब 11 बजे जब मोरचा की रैली निकली उसके बाद ही परिस्थिति बिगड़ गयी। मोरचा समर्थकों पर पुलिस के बीच भिड़ंत हो गयी।

भीड़ का तितर -बितर करने के लिए पुलिस ने पहले आंसू गैस के गोले दागे। जवाब में मोरचा समर्थकों ने भी पुलिस पर हमला बोल दिया। इस दौरान पुलिस की कई गाड़ियां भी फूंक दी गयी। स्थिति बेकाबू देख पुलिस को गोली चलानी पड़ी इसमें दो मोरचा समर्थक मारे गए। मोरचा ने हांलाकि अपने चार समर्थकों के मारे जाने का दावा किया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मारे गए दो मोरचा समर्थकों का नाम गोक निवासी विमल शाशंकर और कैजले निवासी सुनिल राई है। मोरचा नेता विनय तामंग का कहना है कि चार समर्थक मारे गए है। मारे गए तीसरे मोरचा समर्थक का नाम महेश गुरूंग है चौथे की पहचान होनी बाकी है। 
 
 बता दे की, गोजमुमो ने शनिवार को गोरखालैंड की मांग को लेकर महात्मा गांधी के डांडी मार्च के तर्ज पर ही मार्च निकाल था। पहाड़ के विभिन्न स्थानों से मार्च निकालकर गोजमुमो समर्थक पार्टी के केंद्रीय कार्यालय पातलेबास जाने वाले थे। सिंहमारी स्थित मोरचा कार्यालय के सामने पुलिस ने बेरीकेट लगाकर रखा था। यहां से मार्च को आगे नहीं बढ़ने दिया गया। उसके बाद ही पुलिस के साथ झड़प शुरू हो गयी। पुलिस ने यहां मोरचा के दो समर्थकों को दबोच लिया उसके बाद स्थिति बिगड़ गयी।

पुलिस और मोरचा समर्थक भिड़ गए उपद्रवियों को काबू करने के लिए पुलिस ने आंसू गैसे के गोले दागे। हालात बिगड़ने पर पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी इस बीच पहाड़ पर उपद्रव का दौर जारी है। कल रात से लेकर अब तक कई स्थानों पर आगजनी की घटना हुयी है। इसी दौरान मोरचा समर्थकों की गिरफ्तारी भी हो रही है। घूम से भी मोरचा के चार समर्थकों को पकड़ा गया है। शुक्रवार की रात गोक ग्राम पंचायत दो कार्यालय में आग लगा दी गयी इसके अलावा मोरचा समर्थकों ने पुलिस को रोकने के लिए गोक में सड़क को काट दिया है।

अन्य स्थानों पर भी उपद्रव की खबर है। पहाड़ पर विस्फाटक हालात  पर नियंत्रण पाने के लिए सेना की तैनाती कर दी गयी है। दार्जीलिंग शहर को सेना ने अपने कब्जे में ले लिया है। सेना के जवान टहलदारी कर रहे हैं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए माइकिंग भी की जा रही है। 



FROM AROUND THE WEB

1 comments

  • Vivekanand   17/06/2017

    Vsvgg cdus ncst9.fNueekggd6f

    (0)
Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.