पुणे रेलवे पुलिस का अधिकारी बताकर जूलर से ऐंठे 84 हजार गोल्ड की कीमतों में कमी, चांदी चमकी जम्मू कश्मीर को लेकर केंद्र सरकार ने किया रणनीति में बदलाव, करेगी सभी पक्षों से बातचीत शेयर बाजार में बढ़त, सेंसेक्‍स में 117 अंकों की बढ़ोत्‍तरी नाइजीरिया: आत्मघाती हमले में 13 की मौत, 16 घायल साई शब्द का कोई औचित्य नहीं, करे बदलाव: राज्यवर्धन राठौड़ गुजरात चुनाव तारीख घोषणा देरी को लेकर चुनाव आयोग ने रखा अपना पक्ष खूबसूरती बनी लड़की की दुश्मन, चली गई नौकरी 'गोलमाल अगेन' ने तीसरे दिन बॉक्स पर की इतनी कमाई, जानिए इस शख्स के कारनामें को जानकर आप भी रह जाएंगे दंग टीम इंडिया में मुस्लिम खिलाड़ियों को लेकर IPS से ट्विटर पर भिड़े हरभजन सिंह पोर्न स्टार मिया खलीफा हुई ट्रोल, लोगों ने किये भद्दे कमेंट पिछले 30 सालों से सिर्फ चाय पर जिंदा है ये औरत! सहवाग ने रॉस टेलर को कहा 'दर्जी' तो टेलर ने दिया ये करारा जवाब 'फिरंगी' का दूसरा पोस्टर हुआ रिलीज, कल आएगा ट्रेलर जल्द ही गुजरात का दौरा करेंगे शरद यादव, खोलेंगे बीजेपी की पोल यहां हनुमानजी की मूर्ति से निकल रहे है आंसू, देखने ले लिए उमड़ी भीड़ वीडियो : नशे में धुत्त डीएसपी ने चढ़ाई कार, जनता ने की धुनाई अभिनेत्री ईशा देओल ने बेटी को दिया जन्म, धर्मेंद्र-हेमा मालिनी बने नाना-नानी राहुल गांधी ने ट्विटर हैंडल पर लिख कहा- नहीं खरीदा जा सकता गुजरात को
विदेशी चंदा : भाजपा और कांग्रेस ने ली सुप्रीम कोर्ट से अपील वापस
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 07:04:49 PM
1 of 1

नई दिल्ली। उच्चतम  न्यायालय के फैंसला, जिसमे भाजपा और कांग्रेस विदेशी चंदे  पर कानून का उल्लंघन करने का दोषी प्रथम दृष्टया  दोषी पाया गया था को  चुनौती देने वाली याचिका को वापस ले लिया है। 
दोनों ने केंद्र की कोर्ट में इस दलील के बाद याचिका वापस ली जिसमें कहा गया कि दोनों ने इस मामले में एफसीआरए का उल्लंघन नहीं किया है. दोनों पार्टियों की ओर से कोर्ट में कहा गया कि इस मामले में पहले ही कानून में 2010 में संशोधन कर दिया गया है।  इसके मुताबिक दोनों पार्टियों ने कोई उल्लंघन नहीं किया है। 

विदेशी चंदा मामले में दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले के ख़िलाफ़ कांग्रेस और बीजेपी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई की है. दोनों पार्टी ने इस मामले में कानून के तहत जांच कराने के हाई कोर्ट के आदेश पर तत्काल अंतरिम रोक लगाने की भी मांग की थी। 

दिल्ली हाई कोर्ट ने गैर-सरकारी संगठन एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म (एडीआर) की जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए कांग्रेस और भाजपा को मिले विदेशी चंदे पर सरकार और चुनाव आयोग को कानून के मुताबिक छह महीने के भीतर कार्रवाई करने का आदेश दिया था। 

यह मामला वेदांता कंपनी से चंदा लेने से जुड़ा हुआ था।  चुनाव आयोग ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उसके पास ऐसे मामलों की जांच कराने का अधिकार नहीं है। 

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: नोटबंदी के बीच आईएएस अफसरों ने सिर्फ 500 रूपये में रचाई शादी

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.