‘मॉनसून शूटआउट’ का नया गाना ‘अंधेरी रात’ में दिया हुआ रिलीज़ THE फैक्ट्री कार्नर ने मनाया बालदिवस कई खतरनाक बीमारियों को दूर भगाता है अमरूद, जानिए अभिनेत्री नमिता ने फिल्म निर्माता वीरेंद्र चौधरी संग रचाई शादी DSP ने शादी का झांसा देकर महिला कांस्टेबल से बनाए शारीरिक सम्बन्ध सुस्त मांग से सोने में गिरावट, चांदी स्थिर मिनटों में निखरी और बेदाग त्वचा पाने के लिए दही का करें इस्तेमाल JIO का ऐलान, कल से बंद हो जायेगी ये सर्विस मिस्र के उत्तरी प्रांत में चरमपंथियों का हमला, 85 लोगो की मौत, 80 घायल ईरान: 4.3 की तीव्रता से आया भूकंप, 35 घायल दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में चलती बस में युवक की चाकू मारकर की हत्या अब इन दोनों कपल का हुआ ब्रेकअप, 4 सालों से कर रहे थे डेट ईरान के पश्चिमी प्रांत में भूकंप के झटके, 36 लोग घायल क्या नोटबंदी के समय किसी सूटवाले को लाइन में देखा था: राहुल गांधी RSS प्रमुख मोहन भागवत का बड़ा बयान, कहा- अयोध्या में राम मंदिर बनेगा इसके अलावा कुछ नहीं टमाटर के दाम 80 रुपये प्रति किलोग्राम हुए, यह हैं वजह सागरिका संग विवाह बंधन में बंधने पर जहीर को इस खिलाड़ी ने दी ये नेक सलाह... 27 नवंबर को गुजरात में PM मोदी, पांच दिन में 17 जनसभाओं को करेंगे संबोधित अक्टूबर में किराया बढ़ाने की वजह से दिल्ली मेट्रो में रोजाना घटे 3 लाख यात्री लिखे गए नोट होंगे वैध: RBI
डोकलाम सीमा विवाद पर बौखलाया चीन, कहा-भारत पीछे नहीं हटने पर उठानी पड़ेगी शर्मिंदगी
sanjeevnitoday.com | Sunday, July 16, 2017 | 11:20:51 AM
1 of 1

नई दिल्ली। सिक्किम के डोकलाम क्षेत्र में भारत की कठोर रुख से चीन की बौखलाहट बढ़ती जा रही है। चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने शनिवार को एक कमेंट्री में लद्दाख को पाकिस्तान का हिस्सा बताया। इसमें धमकी भी दी गई कि अगर भारत ने डोकलाम से सेना नहीं हटाई तो उसे शर्मिंदगी का सामना करना पड़ सकता है। रिपोर्ट में स्पष्ट किया गया कि सिक्किम गतिरोध पर वार्ता की कोई गुंजाइश नहीं है। गतिरोध का एकमात्र हल है कि भारत डोकलाम क्षेत्र से अपनी सेना वापस बुलाए।

चीन की स्टेट काउंसिल के तहत काम करने वाली और आधिकारिक प्रेस एजेंसी शिन्हुआ के एक लेख में कहा गया है कि चीन के लिए सीमा रेखा ही बॉटम लाइन थी। भारत को मौजूदा स्थिति को पिछले दो मौकों की तरह नहीं देखना चाहिए जहां 2013 और 2014 में लद्दाख के पास दोनों देशों की सेनाएं आमने सामने खड़ी हो गई थीं। दक्षिणी पूर्वी कश्मीर के इस हिस्से में भारत, पाकिस्तान और चीन की सीमाएं तकरीबन मिलती हैं। राजनयिक प्रयासों से दोनों सेनाओं के बीच संघर्ष को सुलझा लिया गया था।  लेकिन इस बार पूरा मामला अलग है।

लेख में विदेश सचिव एस जयशंकर के हालिया बयान का भी जिक्र है, जिसे सकारात्मक दिखाया गया है।  यह कहता है, 'जैसा कि एक पुरानी चीनी कहावत है, शांति सबसे कीमती चीज है। यह नोट करने वाली बात है कि भारत के विदेश सचिव सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने हाल ही में सिंगापुर में इस मसले पर सकारात्मक टिप्पणी की, जयशंकर ने कहा कि भारत और चीन को अपने मतभेदों को विवाद नहीं बनाना चाहिए। चीन, भारत से इसी तरह के और सकारात्मक कदमों की अपेक्षा करता है। उसने लद्दाख क्षेत्र को भी विवादित बताने के साथ पाकिस्तान से जोड़ने का प्रयास करते हुए सीमा विवाद को नई दिशा देने की कोशिश की है। इसमें लद्दाख के साथ कश्मीर को भी जोड़ा गया।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.