देश और दुनिया के इतिहास में 24 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं नाशपाती के सेवन से होते है ये फायदे तुतला कर बोलते हैं तो करे आंवले का सेवन मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए लोगो को जागरूक किया पार्षद ने सेहत विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर क्षेत्र का दौरा किया किदवई में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजन स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के फैसले से इलाकावासियों की खुशी आधी-अधूरी स्वास्थ्य अधिकारियों की लापरवाही के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा के घटिया परिणाम पर मनोहर लाल ने जताई नराजगी सुमन महाराज ने कहा- क्षमा धर्म का प्राण और अराधना का सार है शिविर में डेढ़ सौ लोगों का स्वास्थ जांचा भारत को रूस बेचना चाहता है अपना सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान मिग-35 जूनियर पाइलेटों से भरवा रही है जमानती बांड जेट एयरवेज स्मैक बेचने के आरोप में दो तस्कर गिरफ्तार विश्व पैरा एथलीट: भारत एक स्वर्ण सहित पांच पदक के साथ रही टॉप 30 से बाहर भारत सरकार ‘मेक इन इंडिया के तहत बनाएगी सुपर कंप्यूटर WWC17: भारत के सपने हुए चकनाचूर, इंग्लैंड चौथी बार बनी वर्ल्ड चैंपियन मेलबर्न के फेडरेशन चौक पर भारतीय झंडा फहराएंगी ऐश्वर्या वर्ल्ड कप फाइनल LIVE: भारतीय महिला टीम लड़खड़ाई, वेदा के बाद गोस्वामी भी लोटी, score 208/7 चार वर्षीय मासूम बच्ची को चिमटो से दागने वाली दादी गिरफ्तार
विमुद्रीकरण के कारण एक बार में नहीं निकाल पाएंगे पूरा वेतन !
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 07:12:05 PM
1 of 1

नई दिल्ली। केंद्र सरकार की विमुद्रीकरण योजना के मद्देनजर भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा नकदी निकासी की सीमा तय किये जाने से दिसम्बर के पहले सप्ताह में वेतनभोगी लोगों को नकदी की समस्या हो सकती है। आरबीआई ने बैंक से पूरा वेतन एक बार में निकालने की छूट भी नहीं दी है। 

आमतौर पर सरकारी व अन्य निजी कंपनियों में नौकरी करने वाले अधिकांश लोगों की तनख्वाह मास के पहले सप्ताह में बैंक खातों में आती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवम्बर को जब 500 और 1000 रूपये के पुराने नोट बंद करने की घोषणा की थी। उस समय तक ऐसा एक बड़ा वर्ग बैंक एटीएम से अपना वेतन निकाल कर बच्चों की स्कूल फीस, किस्त व राशन आदि जैसे जरूरी खर्चों का भुगतान कर चुका था। 

लेकिन एक दिसम्बर को वेतन का दिन नजदीक आ रहा है। ऐसे में उन लोगों को समस्या हो सकती है जिनका वेतन बैंक के माध्यम से आता है। केंद्र सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को दस हजार सेलरी एडवांस का विकल्प दिया था लेकिन निजी कंपनियों में काम करने वालों को ऐसी कोई छूट नहीं मिली। सरकार ने वेतनभोगी लोगों की निकासी सीमा से कोई छूट भी नहीं दी है। 

रिजर्व बैंक ने एक सप्‍ताह में केवल 24 हजार रूपये तक निकालने की सीमा तय कर रखी है| इसलिए 24 हजार से अधिक वेतन वाले लोग अपना वेतन एक बार में नहीं निकाल सकेंगे। फिर दूसरे सप्‍ताह वे 24 हजार रुपये की सीमा तक वेतन ही निकाल सकेंगे।

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: नोटबंदी के बीच आईएएस अफसरों ने सिर्फ 500 रूपये में रचाई शादी

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.