loading...
जब तुलसीदास जी काशी में विद्वानों के मध्य बैठकर कर रहे थे भगवत्-चर्चा! फेफड़ों के कैंसर का इलाज तलाशने की दिशा में कामयाबी? 2020 तक हो पायेगा एड्स का रामबाण इलाज, यह नई दवा करेगी वायरस का खात्मा! यहाँ इंटरव्यू में लड़कियों से पूछा जाता हैं ये सवाल! कम उम्र में शारीरिक संबंध बनाने पर भुगतने पड़ सकते हैं ये खतरनाक परिणाम! Research: कई मुलाकातों और सामने वाले के व्यवहार से होता है सच्चा प्यार! जानिए महिलाएं क्यों करती हैं ऑर्गैजम का नाटक? क्या आप जानते है नाखूनों पर बने अर्ध चांद का मतलब? Alert: एड्स से भी ज्यादा खतरनाक बीमारी हैं "सेक्स सुपरबग", जानें लक्षण! खूबसूरत दिखने के लिए इस लड़की ने कर डाला अविश्वसनीय काम! आतंकवाद के जाल में फंसकर रह गयी हैं दुनिया: नरेंद्र मोदी रैसलमेनिया 33 से पहले अंडरटेकर को लेकर रोमन रेंस ने दिया ये बयान पीएम मोदी का मंत्रिमण्डल जनता की उम्मीदों पर खरा उतरा है, कांग्रेस अपने बड़बोलेपन के कारण विपक्ष में भी नहीं: राजनाथ अमेरिका: नस्लीय हमले के विरोध में भारतीय मूल के लोगों ने निकाली रैली दो घरों सहित आधा दर्जन जगहों से लाखों की चोरी एक अप्रैल तक बैंक शाखाओं के खुला रहने का बैंक यूनियन ने किया विरोध महापंचायत सामाजिक कुरीतियों को रोकने के लिए एक जुट दो महिलाओं की धारदार हथियार से हत्या BJP सांसद हुकुमदेव नारायण ने पटना एयरपोर्ट पर झाड़ा रौब, खाली बस लेकर पहुंचे प्लेन तक बड़े बडे वादे करके किसानों को गुमराह कर रही है BJP सरकार: कांग्रेस
दिल्ली हाई कोर्ट ने केजरीवाल की याचिका खारिज की
sanjeevnitoday.com | Wednesday, October 19, 2016 | 05:52:31 PM
1 of 1

नई दिल्ली I सूत्रों के अनुसार दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पटियाला हाउस कोर्ट में अपने खिलाफ चल रहे आपराधिक मानहानि मामले पर रोक लगाने की मांग संबंधी याचिका को खारिज कर दिया। कोर्ट ने 25 जुलाई को  इस याचिका पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था।

JAIPUR : मात्र 2 लाख में प्लाट बुक करे कॉल करे -09314166166

मुख्यमंत्री ने गत 19 मई के निचली अदालत के उस फैसले को चुनौती दी थी, जिसमें मामले की सुनवाई तब तक टालने से इन्कार किया गया है जब तक हाई कोर्ट 10 करोड़ के सिविल मानहानि मामले में कोई फैसला नहीं दे देता है। मुख्यमंत्री व अन्य पांच आप नेताओं के खिलाफ ये दोनों याचिका केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दायर की है। इससे पूर्व मुख्यमंत्री की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता रामजेठ मलानी ने कहा था कि एक ही मसले पर सिविल व आपराधिक दो मामले दायर किए गए हैं। इनमें से एक मामले में सुनवाई पर रोक लगाई जा सकती है।वहीं, जेटली के अधिवक्ता हरिश साल्वे व सिद्धार्थ लूथरा ने कहा था कि वर्तमान समय में शब्द तलवार से अधिक ताकतवर होते हैं। मुख्यमंत्री के साथ कोई अन्याय नहीं होगा, अगर दोनों मामले अलग-अलग चलते हैं।

मामले में अरविंद केजरीवाल के अलावा आप नेता कुमार विश्वास, आशुतोष, राघव चड्ढा, संजय सिंह और दीपक वाजपेयी आरोपी हैं। दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ (डीडीसीए) में कथित भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए दिसंबर 2015 में मुख्यमंत्री व अन्य आप नेताओं ने वित्त मंत्री अरुण जेटली के खिलाफ बयानबाजी की थी जिसके बाद वित्त मंत्री ने हाई कोर्ट में सिविल व पटियाला हाउस कोर्ट में आपराधिक मामला दायर किया था।

यह भी पढ़े : जानिए! आखिर हिन्दू धर्म में क्यों वर्जित है स्त्रियों का नारियल फोड़ना..?

यह भी पढ़े: आ रहा है "Porn Star" बनाने वाला रियलिटी शो !

यह भी पढ़े: शर्मनाक: 'छात्रा' को बंधक बनाकर 'प्रोफेसर' ने किया बलात्कार, क्या ऐसे हो गए है हमारे आदरणीय गुरु?

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.