शशिकला को संभालनी चाहिए अन्नाद्रमुक की कमान : पन्नीरसेल्वम HOCKEY: इंग्लैंड भी नही रोक सका भारत का विजयी अभियान, 5-3 से परास्त BIRTHDAY PARTY: स्टनिंग लुक में नजर आई नव्या पिस्टल दिखाकर महिला से मारपीट और गैंगरेप पर्रिकर ने मॉरीशस को पूर्ण सहयोग का दिया आश्वासन ऐसा क्या कारण था जो कटप्पा ने बाहुबली को मारा तेलंगाना में करीब 82 लाख रूपये के नए नोट जब्त पंजाब: बेरवाला गांव के जंगल में मिली मिसाइल,मचा हड़कंम एयर इंडिया फंसे यात्रियों को निकालने के लिए आज रात दो उड़ानें करेगी संचालित नहीं मिली एम्बुलेंस, मजबूरन हाथ रिक्शे से लाना पड़ा शव life Ok शो ‘बहू हमारी रजनीकांत’ बंद नहीं होगा भारत को तीन साल में मिलेगी राफेल लड़ाकू विमानों की पहली खेप: वायुसेनाध्यक्ष खेल मंत्री ने सोनीपत में नए कुश्ती हाल का उद्घाटन किया.. नोटबंदी भ्रष्टाचार ख़त्म करने का अचूक हथियार: मोदी खरीददारी करने गयी महिला से छेड़छाड़, आरोपी फरार तेंदुए की कीमती खाल की तस्करी के आरोप में एक गिरफ्तार गुरदासपुर के छावनी इलाके में तलाशी अभियान 'ओके जानू' 13 जनवरी, 2017 को सिल्वर स्क्रीन पर होगी रिलीज स्पेशल टीम ने कुख्यात सूरज गिरोह के 9 गुर्गों को किया गिरफ्तार जम्मू कश्मीर में ले घूमने का मजा, सुरक्षा की चिंता न करें : महबूबा
डीटीसी घोटाला: अधिकारियों ने बदल डाले 8 करोड़ से ज्यादा 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट
sanjeevnitoday.com | Wednesday, November 30, 2016 | 09:46:13 AM
1 of 1

नई दिल्ली। दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) में 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बदलने की का घपलेवाजी सामने आई है। शुरुआती जांच में अधिकारियों की मिलीभगत से 8 करोड़ से ज्यादा के छोटे नोटों को पांच सौ और हजार के पुराने नोट से बदलकर बैंक में जमा कर दिया गया। फ़िलहाल परिवहन मंत्री सत्येंद्र जैन ने पूरा मामला एसीबी को सौंपने की बात कही है।

 
दिल्ली सरकार के मुताबिक 8 नवंबर को नोटबंदी के ऐलान के बाद सभी डिपो पर ये आदेश दे दिया गया था कि पुराने 500 और 1000 रुपये के नोट नहीं चलेंगे। इस आदेश के बावजूद 20 नवंबर तक अलग-अलग लगभग 20 डिपो पर 8 करोड़ 14 लाख (कुल 8,14,85,500) रुपये के पुराने नोट बदले गए। यानी बसों में टिकट से आये छोटे नोटों को देकर कई डिपो पर 500 और 1000 के नोट लिए गए है। पुराने नोटों बदलने के घोटाले का ये मामला सामने आते ही परिवहन मंत्री सत्येंद्र जैन ने जांच के आदेश दे दिए है।
 

सत्येंद्र जैन ने बताया कि शुरुआती जांच में जो शिकायतें मिली थी वो सही पायी गयी हैं। मामला सामने आने के बाद विभागीय जांच के आदेश दिए गए है। अधिकारियों को निलंबित करने के आदेश देकर मामले को एसीबी को सौंप दिया है। हालांकि सवाल ये खड़ा होता है कि क्या 8 करोड़ रुपए से ज्यादा का अमाउंट डीटीसी की कमाई का हिस्सा है या फिर यह कोई बड़ा घोटाला है।

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े: दुनिया के सबसे ठंडे महाद्वीप में पानी नहीं बल्कि बहता है खून, छिपे हैं कई राज



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.