जापान ओपन: सिंधु-साइना हारी, श्रीकांत और प्रणय क्वार्टर फ़ाइनल में UNICEF के प्रोग्राम में 2,89,780 रुपये का व्हाइट गाउन पहनकर पहुंची PC बनारस बना अपराध का ठिकाना भारत ने AUS से 14 साल पहले का किया हिसाब चुकता, कुलदीप ने ली हैट्रिक सुकमा में पुलिस मुठभेड़ में नक्सल कमांडर भीमा को किया ढेर साउथ अफ्रीका दौरे पर भारतीय टीम 4 नहीं बल्कि 3 टेस्ट खेलेगी क्राइम मनोविज्ञान विधि से जांच करना चाहती है पुलिस , सुनंदा पुष्कर मामला LIVE: भारत ने दूसरा वनडे में ऑस्ट्रेलिया को चटाई धूल, सीरीज में 2-0 की बढ़त मोदी सरकार केश लेश की और भ्रष्टाचार गुजरे जमाने की बात: अरुण जेटली LIVE: ऑस्ट्रेलिया के नौ विकेट गिरे, भारत जीत की और अग्रसर सात साल की मासूम बच्ची के साथ युवक ने किया दुष्कर्म अपेक्स बैंक को मोदी ने किया उत्कृष्ट सहकारी बैंक सेवा के लिए सम्मानित किया यूपी का ATM ठग दौसा में हुआ गिरफ्तार LIVE: भारत के कुलदीप ने मारी हैट्रिक, score 148 रन 8 विकेट इन बॉलीवुड सितारों ने ऐसे दी फैंस को नवरात्रि की शुभकामना परमाणु प्रतिबंध संधि पर 50 देशो ने किये हस्ताक्षर, कई देशो ने नकारा उत्तर प्रदेश व लखनऊ में भारी बारिश की संभावना,मौसम विभाग LIVE: दोनों मैचों में मैक्सवेल को चहल ने भेजा पेवेलियन, स्कोर 100 के पार उधमपुर में नाबालिक लड़की के साथ किया दुष्कर्म आरोपी गिरफ्तार LIVE: भारत को मिली तीसरी सफलता, ट्रेविस हेड लौटे score 85/3
भारतीय चिड़ियाघर के पशु चिकित्सकों के प्रशिक्षण कार्यशाला का दिल्ली चिड़ियाघर में समापन
sanjeevnitoday.com | Friday, September 15, 2017 | 08:07:29 PM
1 of 1

नई दिल्ली। केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण द्वारा स्मिथसोनियन राष्ट्रीय प्राणि उद्यान, वाशिंगटन डी. सी., यूएसए और राष्ट्रीय प्राणि उद्यान, नई दिल्ली के सहयोग से “11 सितंबर से 14 सितंबर 2017 के बीच पशु स्वास्थ्य प्रबंधन पर भारतीय चिड़ियाघर के पशु चिकित्सकों में क्षमता निर्माण के लिए” चार दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन केन्द्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ हर्षवर्द्धन ने 11 सितंबर 2017 को नई दिल्ली स्थित इंदिरा पर्यावरण भवन के गंगा सभागार में किया। इस प्रशिक्षण कार्यशाला में भारत के 18 चिड़ियाघरों के करीब 18 पशु चिकित्सकों ने भाग लिया।

यह भी पढ़े: 100 मीटर दूर से सांप को सूंघकर पकड़ लेता है ये सपेरा!

कार्यशाला का उद्घाटन करने के तुरंत बाद, सारे प्रतिभागी राष्ट्रीय प्राणि उद्यान में पहुंचे।इस प्रशिक्षण कार्यशाला में स्मिथसोनियन राष्ट्रीय प्राणि उद्यान, वाशिंगटन डी. सी., यूएसए के डॉ जेसिका सिग्सल-विल़ॉट, डॉ बुद्धन पुकाजेथी और मिस्टर एथंनी कार्लबॉन बारथेल ने अपी बातें रखीं। कार्यशाला के प्रथम दिन, प्रतिभागियों को सफल स्थिरीकरण, अभिग्रहण और रोकथाम की प्रक्रिया के बारे में सिखाया गया था। दूसरे दिन, जगुआर को  स्थिरीकरण के क्रम में स्थिर किया गया; पशु की जांच, नमूना संग्रह, माइक्रोचिप्स की जांच और फिर सेहत की निगरानी की गई। इसके बाद प्रतिभागियों ने, डार्ट की तैयारी और डार्ट कार्यप्रणाली पर चर्चा की।13 सितंबर 2017 को स्थिरीकरण के क्रम में; पशु की जांच, नमूना संग्रह, माइक्रोचिप्स की जांच और फिर सेहत की निगरानी के क्रम में एक जंगली बिल्ली का स्थिरीकरण किया गया।इसके बाद फिर इस पर प्रतिभागियों ने, डार्ट की तैयारी और डार्ट कार्यप्रणाली पर चर्चा की। कक्षा के सत्र में क्षेत्र रोगों और इनकी स्थिति पर भी चर्चा पर जारी रही।  

यह भी पढ़े: जीबी रोड पर चल रही वेश्यावृति के पीछे केंद्रीय मंत्री का हाथ: DCW चीफ

कार्यशाला के अंतिम दिन 14 सितंबर 2017 को स्थिरीकरण के क्रम में; पशु की जांच, नमूना संग्रह, माइक्रोचिप्स की जांच और फिर सेहत की निगरानी के क्रम में एक सफेद बाघ का स्थिरीकरण किया गया। इसके बाद फिर इस पर प्रतिभागियों ने चर्चा की। प्रशिक्षण कार्यशाला का समापन हिमाचल प्रदेश के मुख्य वन्यजीव वार्डन, रमेश कांग की अध्यक्षता में किया गया था। केन्द्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के सदस्य सचिव डॉ जी एन सिंह ने स्मिथसोनियन राष्ट्रीय प्राणि उद्यान, वाशिंगटन डी. सी., यूएसए के सहयोग से ही इस कार्यशाला का क्यों आयोजन किया गया, इसके बारे में विस्तार से बताया। राष्ट्रीय प्राणि उद्यान के निदेशक रेणु सिंह ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। और अंत में, प्रतिभागियों ने कहा कि इस कार्यशाला से उन्हें अपने कार्य स्थलों पर आत्मविश्वास से कार्य करने में काफी फायदा मिलेगा।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.