loading...
आटा फैक्ट्री में लगी आग, आग से फैक्ट्री पूरी खाक, दमकलों ने 7 घंटे में आग पर पाया काबू एंटी रोमियो स्क्वॉड: निर्दोष युवक-युवतियों को परेशान करने वाले पुलिसकर्मियों पर सख्त हुये CM योगी LIVE धर्मशाला टेस्ट: भारत को अश्विन के रूप में लगा छठा झटका, स्कोर 224/06 कांग्रेस के दो पूर्व सांसदों की संपत्ति हो सकती है ज़ब्त LIVE धर्मशाला टेस्ट: भारत को रहाणे के रूप में लगा पांचवा झटका, स्कोर 219/05 नबालिग से 2 साल तक 8 शिक्षको ने किया रेप, कई बार खिलाई गर्भनिरोधक गोलियां, फिर हो गया कैंसर अमेरिका के नाइट क्लब में फायरिंग, 1 की मौत 13 घायल Time पत्रिका के 100 सर्वाधिक प्रभावशाली लोगों में शामिल हुए PM मोदी शॉपिंग मोल या रेस्टोरेंट के बाहर कुछ इस तरह स्पॉट हुईं मलाइका, देखें तस्वीरें राजस्थान खनिज के क्षेत्र में बनेगा मॉडल स्टेट: सुरेन्द्र पाल MCD चुनाव: मुस्लिम आबादी क्षेत्रों में AIMIM 50 सीटों पर खड़े करेगी अपने उम्मीदवार Video: भारतीय फिल्म का यूट्यूब पर सबसे ज्यादा देखा जाने वाला ट्रेलर बना 'बाहुबली 2' का ये ट्रेलर हैमिल्टन टेस्ट: दक्षिण अफ्रीका 314 पर हुई ऑल आउट, न्यूजीलैंड ने बनाए 67/0 दुबई के रियल्टी बाजार में सबसे आगे है भारतीय इन्वैस्टर्स इस फैशन ब्रांड के लिए प्रियंका ने करवाया फ़ोटोशूट, देखें तस्वीरें चीन से सुरक्षा संतुलन बनाने के लिए अमेरिका भारत को दे सकता है F-16 लड़ाकू विमान मानव तस्करी मामले में राजस्थान का दूसरा नंबर गुजरात के पाटन में साम्प्रदायिक झड़प में एक व्यक्ति की मौत नीदरलैंड की विश्व कप फुटबाल में जगह बनाने की उम्मीदों को लगा बड़ा झटका रेल यात्रियों के लिए खुशखबरी : 500 स्टेशनों पर लगाये जाएंगे वाईफाई हॉटस्पॉट बूथ
चम्बल की जांच कराएंगी जलदाय मंत्री किरण माहेश्वरी
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 02:47:10 PM
1 of 1

भीलवाड़ा। चम्बल परियोजना के पानी को शहर में लाने के लिए जलदाय मंत्री से उद्घाटन कराकर पाइपलाइन को वापस खोलने का मामला जयपुर पहुंच गया है। जलदाय मंत्री किरण माहेश्वरी ने इसे चम्बल परियोजना व जलदाय विभाग के अधिकारियों की गंभीर लापरवाही माना है। मंत्री माहेश्वरी ने बताया कि इतनी जल्दबाजी क्यों की गई, इसकी उच्चस्तरीय जांच होगी। इसके लिए जयपुर से एक टीम आएगी। 

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -0931416616

गौरतलब है कि 'जलदाय मंत्री से करा दी पुराने पम्पहाउस की पूजा' शीर्षक से समाचार प्रकाशित किया था। इसमें बताया था कि नौ अक्टूबर को स्थानीय अधिकारियों ने कोटा रोड स्थित पुराने पम्पहाउस की मंत्री माहेश्वरी से पूजा करवा दी और फीता कटवा दिया। मंत्री को बताया था कि पुराने पम्पहाउस से चम्बल की लाइन को जोड़ रहे हैं। इस पर मंत्री ने घोषणा कर दी कि दस अक्टूबर को शहर के लोग चम्बल का पानी पिएंगे। खासबात यह कि मंत्री के जयपुर रवाना होते ही अधिकारियों ने लाइन को वापस खोल दिया। इस मामले के लिए मंत्री ने जिला कलक्टर से भी तथ्यात्मक रिपोर्ट मांगी है।

मंत्री ने कहा, झूठ बोलने वाले भुगतेंगे
जलदाय मंत्री ने कि चम्बल के अधिकारियों ने उनको बताया कि पाइपलाइन सहित सभी तैयारियां पूरी है। बस पम्प हाउस का कुछ काम अधूरा है जो कुछ दिन में पूरा हो जाएगा। अभी पुराने पम्प हाउस से चम्बल की लाइन जोड़ रहे हैं, लेकिन इस तरह लाइन वापस खोल देना गलत है। उन्होंने बताया कि जब पानी साफ नहीं आ रहा था तो कुछ इंतजार करना चाहिए। अब झूठ बोलने वाले भुगतेंगे।

जिम्मेदारों का तबादला, कौन दे जवाब
चम्बल परियोजना में काम करने वाले जिम्मेदार अधिकारियों के तबादले हो गए हैं। इसमें परियोजना के अधीक्षण अभियंता आईसी कुमार, बीएल जाटोल तथा जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता आरके ओझा का तबादला हो गया। इस कारण अब चम्बल का उद्घाटन हो गया लेकिन पानी कब पिलाएंगे यह जवाब देने वाले कोई नहीं है।

योजना का बना दिया मजाक- कलक्टर 
समाचार प्रकाशित होने के बाद जिला कलक्टर ने चम्बल परियोजना के अधिकारियों को तलब किया। इसमें अधिकारियों से पूछा कि अब तक पानी क्यों नहीं पिलाया और पुराने पम्प हाउस की पूजा क्यों करवाई। इस पर चम्बल के अधिकारियों ने कहा, मंत्री को हमने नहीं, जलदाय विभाग ने बुला लिया। इस पर जिला कलक्टर डॉ. टीनाकुमार नाराज हो गईं। उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी योजना का मजाक बना दिया। जिस योजना पर पूरी सरकार गंभीर है, उसमें इस तरह की लापरवाही पर उन्होंने लताड़ लगाई।

यह भी पढ़े: कई मुलाकातों के बाद होता है सच्चा प्यार..!!

यह भी पढ़े: यहां पर चूहा मारने पर दिया जाएगा 25 रूपए का इनाम

यह भी पढ़े: ओह! तो महिलाएं इस वजह से भी करती हैं ऑर्गैजम का नाटक...!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.