एशियाई शेरनी महक का ऑपरेशन के बाद स्वास्थ्य में आया सुधार मंत्रिमंडल ने दंतचिकित्‍सक विधेयक, 2017 को दी मंजूरी म्‍यांमार नौसेना के कमांडर-इन-चीफ एडमिरल तिन आंग सैन का भारत आगमन एमपी की नम्रता को रजत पदक, भोपाल की संयोगिता को कांस्य से करना पड़ा संतोष अखिलेश यादव का योगी आदित्यनाथ पर पलटवार, श्वेत पत्र सफेद झूठ की किताब 14वीं बटालियन पर आतंकी हमला, एक हेड कास्टेबल शहीद 5 जवान घायल गृह मंत्री ने पाक विस्थापित हिन्दु नागरिकों को भारतीय नागरिकता प्रदान की प्रो कबड्डी 2017: यू मुम्बा को गुजरात ने दी 45-23 मात हार्दिक ने जब भगवान के दर्शन किये तो हाथ में से गिरी खाने की प्लेट राजस्थली राज्य सरकार के उपक्रम राजसिको का ट्रेडमार्क: मेघराज लोहिया हाईकोर्ट, ममता बनर्जी हिन्दू-मुस्लिम में दरार पैदा न कर VIDEO : मुंबई मे भारी बारिश से जन जीवन दिनचर्या को लगा ब्रेक सचिन और हरभजन सिंह सबसे पसंदीदा भारतीय क्रिकेटर: स्टीव स्मिथ 'बालिका वधू' की सांची ने टीवी पर वापसी करने के लिए कसरत की स्टार्ट प्रदेश में स्वाईन फ्लू नियंत्रण व उपचार हेतु व्यापक प्रयास जारी: कालीचरण सराफ प्रदेश मे शिक्षा विभाग कि ओर से पहली अभिभावक बैठक का आयोजन.. बिपाशा के पति करण लंदन में आये पोंछा लगाते हुए नजर ईडन गार्डन्स बारिश के बावजूद भी खेलने लायक: सौरव गांगुली विश्व पर्यटन दिवस 27 सितम्बर को, आमेर में होगा प्रवेश निःशुल्क राज. बेरोजगार एकीकृत महासंघ के प्रतिनिधि मंडल की RPSC अध्यक्ष से हुई वार्ता, सौपा ज्ञापन
केंद्र सरकार राजस्थानी भाषा को संवैधानिक मान्यता देने पर गंभीर -मेघवाल
sanjeevnitoday.com | Tuesday, July 18, 2017 | 06:57:58 AM
1 of 1

 

जयपुर।  केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने कहा है कि केंद्र सरकार राजस्थानी भाषा को संवैधानिक मान्यता देने पर गंभीर है और इस संबंध में शीघ्र ही अच्छी खबर आने की उम्मीद है। 

नई दिल्ली में प्रवासी राजस्थानियों की संस्था  राजस्थान रत्नाकर के वार्षिक समारोह में बोलते हुए मेघवाल ने बताया कि राजस्थानी भाषा देश विदेश में करोड़ों लोगों द्वारा बोली जाती हो और कुछ देशों में तो यह उनके पाठ्यक्रम का हिस्सा भी है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार राजस्थानी के साथ साथ भोजपुरी और भोती भाषा को भी संविधान की आठवी सूची में शामिल करने पर विचार किया जा रहा है।

समारोह में मुख्य अतिथि केंद्रीय विधि और न्याय तथा इलेवट्रोनिक और सूचना प्रोद्योगिकी राज्य मंत्री पी पी चौधरी ने कहा कि प्रवासी राजस्थानियो विशेष कर उद्यमियों ने देश विदेश में प्रदेश का गौरव बढ़ाया है और वे जहाँ जहाँ भी जाते है उस क्षेत्र के विकास में अहम भूमिका निभाते आ रहे है। उन्होंने बताया कि सूचना प्रोधोगिकी आई टी के क्षेत्र में राजस्थान की बेजोड़ प्रतिभाओं ने देश विदेशों में अपनी धाक जमाई है।

इस मौके पर जयराम आश्रम हरिद्वार के ब्रह्म स्वरूप ब्रह्मचारी ने राजस्थानी भाषा को मान्यता का समर्थन किया और हरियाणवीं को शामिल करने की राय दी। जाने माने हास्य व्यंग्य कवि श्री सुरेंद्र शर्मा ने नई पीढ़ी में भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कारों को आत्मसात करवाने को ही सबसे बड़ी समाजसेवा बताया।

इस मौके पर सुखमंच थिएटर दिल्ली के कलाकारों ने कोर्ट मार्शल नाटक की प्रभावी प्रस्तुति दी। करीब दो घंटे चले इस नाटक में  कलाकारों ने दर्शकों को  मंत्र मुग्ध कर बांधे रखा और जबरदस्त तालियां बटोरी।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.