वरुण धवन हुए निराश, नही मिला वोटर लिस्ट में नाम लौटना पड़ा बिना मतदान एक्ट्रैस श्रद्धा कपूर पहुंची वोट डालने, फोटो क्लिक करते फोटोग्राफर के साथ हुआ कुछ ऐसा... बन गए अल्ट्रामैन, 3 दिन में 517km दौड़ लगाकर रच डाला इतिहास मिलिंद सोमन ने ये खट्टी-मीठी बातें दिलाती है बड़ी बहन की याद..! यहां लुक नही है मायने, है एक-दूसरे से बिल्कुल अलग फिर भी है साथ, ऐसे है यह कपल..! 7वां वेतन आयोग: बढ़ेगा कर्मचारियों का महंगाई भत्ता और एचआरए..! यूपी चुनाव में सबसे खूबसूरत उम्मीदवार, जो है काफी चर्चा में, तस्वीरें वायरल यहां बीमारी से पीड़ित लोगों को किडनैप कर, उनकी बॉडी पार्ट्स से बनाई जाती हैं दवाइयां..! संभल मे दस वर्षीय मासूम के साथ दुष्कर्म, पुलिस मामला दबाने मे जुटी मुख्यमंत्री को जब स्कूली बच्चों ने ’शिक्षक’ बनकर पढ़ाया... ट्रेन से कटकर वृद्ध की मौत गोमती नदी में डूबा छात्र, हंगामा नोटबंदी राष्ट्रहित में एक बड़ा फैसला : मनोज सिन्हा संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत, दहेज हत्या का आरोप शेयर बाजार में आई तेजी, सेंसेक्स में 100 अंकों का उछाल सपा-बसपा ने राजनीति में फैलाया कीचड़, अब खिलेगा कमल: राजनाथ मुख्यमंत्री के साथ दिव्यांग बच्चों ने साझा किए अपने बड़े सपने एक साल में 82000 धनाढ्यों ने छोड़ा देश पुलिस व सीआरपीएफ ने डकैत को दबोचा विजय माल्या को भारत लाने की मुहिम तेज
कावेरी जल विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक से कहा, अगले आदेश तक तमिनाडु पानी देना जारी रखें
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 06:12:53 PM
1 of 1

नई दिल्ली। सूत्रों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक सरकार से मंगलवार को कहा कि वह अगले आदेश तक तमिलनाडु को दो हजार क्यूसेक पानी रोजाना देना बरकरार रखें। इसके साथ ही, शीर्ष अदालत ने दोनों ही राज्यों से अपने यहां पर शांति और भाईचारा बनाए रखने को कहा। सोमवार को उच्चस्तरीय पैनल ने कावेरी विवाद के निपटारे के लिए पुराने पड़े चुके और अवैज्ञानिक वाटर एप्लीकेशन टेक्निक्स को छोड़ने की सलाह देते हुए कहा कि कर्नाटक और तमिलनाडु दोनों ही राज्य पानी की किल्लत से जूझ रहे थे। यहां पर लोग बेरोजगारी और वित्तीय संकट की समस्या से जूझ रहे हैं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

सुप्रीम कोर्ट की तरफ से कावेरी नदी की जमीनी हकीकत का सही पता लगाने के लिए गठित पर्यवेक्षक समिति ने कहा कि नदी किनारे बसे इन दोनों राज्यों को एक दूसरे के हितों के बारे में देखना होगा। तमिलनाडु और पुडुच्चेरी में सिंचाई की उसकी आवश्यकता पूरी कर उसके हितों की रक्षा करना होगा तो वहीं विकास और शिक्षा के प्रति कर्नाटक की महत्वाकांक्षा को भी देखना होगा।

मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक सरकार से कहा कि वह अगले आदेश तक तमिलनाडु को 2000 क्यूसेक पानी देते रहें।

यह भी पढ़े : खुशियां बाँट रही फीमेल डॉक्टर.. न्यूड होकर करती है इलाज, मरीजों की लगी रहती हैं लंबी कतार !

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.