राष्ट्रपति भवन राष्ट्रीय संस्थान है और सभी देशवासियों से सम्बद्ध : राष्ट्रपति PoK में लगे आजादी के नारे, कहा- पाक भेजता है आतंकी अजहर ने कहा- लोढ़ा समिति के सुझावों पर अमल नहीं एचसीए परिवार का शक्ति प्रभाव दांबुला वनडे: अभ्यास के दौरान धोनी-विराट में हुई टक्कर शक के चलते फौजी ने अपनी पत्नी को उतारा मौत के घाट द्रोणाचार्य अवार्ड की सूची से सत्यनारायण राजू का नाम ख़ारिज मुजफ्फरनगर में ट्रैन हादसा, कलिंग उत्कल एक्सप्रेस के 6 डिब्बे उतरे पटरी से राजनीती के पितामह रहे सत्यमूर्ति का जन्मदिन आज ग्रीनपार्क स्टेडियम की बिजली गुल, खिलाडी हुए बेघर, बाहर गुजारी रात जब कैमरे के सामने असहज दिखे ‘दीपवीर’, जानिए यह थी वजह जन्मदिन विशेष : भारत के नवें राष्ट्रपति शंकरदयाल शर्मा सिनसिनाटी ओपन: भारतीयों का सफर खत्म, सानिया मिर्जा-बोपन्ना हारे स्पेन आतंकी हमला में जारी हुए संदिग्धों के नाम, 14 की गई थी जान छेड़छाड़ का विरोध करना पड़ा भारी, बदमाश ने लड़की को मारे लात घुसे ओवैसी के पार्षदों और शिव सेना नेताओ में वंदे मातरम् को लेकर हाथापाई 2019 के वर्ल्ड कप में खेलने के लिए श्रीलंका टीम को जितने होंगे 2 मैच सुशांत और सारा की फिल्म 'केदारनाथ' का पहला मोशन पोस्‍टर रिलीज सृजन घोटाले में सहकारिता अधिकारी पंकज झा गिरफ्तार नडाल पराजित होने के बाद भी बनेंगे नंबर वन
बिहार, असम और पश्चिम बंगाल के कई हिस्से बाढ़ की चपेट में
sanjeevnitoday.com | Sunday, August 13, 2017 | 11:23:21 AM
1 of 1

नई दिल्ली। बिहार में पिछले कुछ दिनों से भारी बारिश के चलते लोगों को बड़ी  मुसिबतों का सामना करना पड़ रहा है। अररिया और सुपौल जिले में बारिश और बाढ़ से हालात बेहद खराब हैं। वहीं असम के 19 जिले और 1752 गांव बाढ़ की चपेट में हैं। और पश्चिम बंगाल के कई जिले भी बाढ़ से ग्रस्त है।अररिया जिले में कल हुई जोरदार बारिश से बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। बिहार का शोक कही जाने वाली कोसी नदी ने सुपौल में अपना कहर दिखाना शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़े: अमेरिका के वर्जीनिया में राष्ट्रवादियों और विरोधी प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प, 3 की मौत

सुपौल जिले के कई गांव में कोसी नदी की चपेट में आ गए हैं। दरअसल नेपाल में भारी बारिश की वजह से पानी छोड़ा गया है। जिसकी वजह से कोसी नदी में बाढ़ आ गई है। मौसम विभाग से मिली खबर के मुताबिक, बिहार में अगले 4 दिन भारी बारिश की आशंका है।

असम में बाढ़ ने दोबारा विनाश की कहानी लिखनी शुरू कर दी है राज्य के 19 जिलों के करीब 12 लाख लोग बाढ़ की चपेट में हैं। गुवाहाटी में ब्रह्मपुत्र नदी में बाढ़ से हालात बिगड़ते जा रहे हैं। असम के कोकराझार के बाढ़ प्रभावित इलाके में राहत और बचाव की टीम बाढ़ में घिरे लोगों को सुरक्षित जगहों पर पहुंचाने में जुटी है। लोग जुगाड़ से बनी नाव से नदी को पार करने के लिए मजबूर हैं।

जिले की तोर्सा, कालजानी और रायडाक नदियों में उफान है। इसे देखते हुए प्रशासन ने पीली सतर्कता जारी की है। गत दो दिनों की बारिश में केवल हासीमारा में ही 500 मिमी. बारिश रिकार्ड की गई है। जबकि जलपाईगुड़ी में  295 मिमी. और अलीपुरदुआर समेत पूरे उत्तर बंगाल में 350 मिमी. बारिश हुई। प्रशासन के सूत्रों ने बताया कि तीस्ता, तोर्सा, कालजानी, रायडाक और बमानसाई समेत करीब 20 छोटी-बड़ी नदियां कूचबिहार जिले से होते हुए बांग्लादेश की ओर जाती है।

गौरतलब है कि बंगाल में लगातार हो रही भारी बारिश  की वजह से कई जिलों में बाढ़ की स्थिति हो गई है। उत्तरी बंगाल के कई जिलों में लोगों को बाढ़ से होने वाली भारी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। नदियों में पानी भरने की वजह से पास के इलाकों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। बाढ़ में फंसे लोगों को सरकार की तरफ से राहत सामग्री भेजने सहित और भी कई जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.