loading...
इतिहास के पन्नों से- आखिर क्यों भारत छोड़ने को उतारू थी ताकतवर प्रधानमंत्रियों में से एक इंदिरा गाँधी! आज का राशिफल (24 मार्च 2017, शुक्रवार) जानिए नवरात्रों में क्यों रखते हैं 9 दिन तक उपवास, क्या हैं महत्व! क्या कोलंबस ने ही की थी अमेरिका की खोज, जानिए क्या कहता हैं इतिहास! जानिए बाल छोटे क्यों रखते हैं सैनिक! शारीरिक संबंधों को बेहतर बनाने के लिए रात को तेज आवाज में सुने संगीत! LG ने भारत में लॉन्च किया Stylus 3, फीचर्स और कैमरा हैं खासियत Take a Selfie: दोस्तों के साथ सेल्फी लेने से बढ़ती हैं खुशियां! खौफनाक मंजर.. प्यार के लिए सिर झुकाकर खाई छड़ी से मार! दावा: इस तरीके से रेगिस्तान को बनाया जा सकता हैं उपजाऊ! जानिए मन में क्यों आते हैं अजीब विचार, क्या कहते थे सर आइंस्टीन? Amazing: इस मंदिर में जलाया जाता हैं घी की जगह पानी का दीपक! पीलिया पीड़ित मरीजों के लिए बेहतर इलाज हैं चींटी का डंक! सीएम योगी एक्शन का असर, प्रशासन चुस्त-दुरुस्त, कई विभागों से मचा हुआ हैं हड़कंप! अमेरिका की 271 अवैध लोगों की सूची को भारत ने किया अस्वीकार एक्सेल एंटरटेनमेंट फिल्म 'गोल्ड' में हॉकी कोच बनेंगे कुणाल एसवाईएल मुद्दे पर शुक्रवार को राजनाथ से मिलेगा हरियाणा का सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल पुलिस वाहन चालक की हत्या के मामले में दो गिरफ्तार सपा राज में बने आगरा-लख़नऊ एक्सप्रेस वे समेत सभी सड़कों की जांच कराएगी UP सरकार होमगार्ड के प्लाटून कमांडर को 3 हजार की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा
भुवनेश्वर: अस्पताल में लगी भीषण आग, 24 लोगों की मौत, कई झुलसे
sanjeevnitoday.com | Tuesday, October 18, 2016 | 07:29:19 AM
1 of 1

भुवनेश्वर। ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर के एक निजी अस्पताल में सोमवार रात भड़की आग में 24 लोगों की मौत हो गई। बड़ी संख्या में मरीज और तीमारदार झुलस गए हैं। आग पर काबू पा लिया गया है। माना जा रहा है कि आग चार मंजिले सम अस्पताल के प्रथम तल पर स्थिति डायलिसिस वार्ड में बिजली की शॉर्ट सर्किट से लगी। तेजी से फैली आग ने बगल में स्थित आइसीयू को भी चपेट में ले लिया।
 
JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166
 
जिस समय आग लगी, अस्पताल में करीब 500 मरीज मौजूद थे। स्वास्थ्य सचिव आरती आहुजा के मुताबिक फिलहाल स्पष्ट तौर पर कहा नहीं जा सकता है कि कितने लोगों की मौत हुई है। दूसरी ओर कैपिटल अस्पताल के अधीक्षक बिनोद कुमार मिश्रा ने बताया है कि उनके यहां लाए गए लोगों में नौ की पहले ही मौत हो चुकी थी। जबकि पांच की हालत अत्यंत गंभीर है। आम्री अस्पताल के यूनिट हेड डॉ. सलिल कुमार मोहंती ने बताया है कि उनके यहां कैजुअलिटी वार्ड में 37 मरीज लाए गए थे। जिनमें आठ को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया है। आग की चपेट में आए लोगों में ज्यादातर आइसीयू के मरीज हैं। मामले पर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने गहरा शोक व्यक्त किया है और मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच के आदेश दे दिए हैं।
 
पीएम ने एम्स भेजने को कहा
हादसे की खबर मिलने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नड्डा से बात की और सभी जख्मी लोगों को एम्स में शिफ्ट कराने की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए। केंद्रीय मंत्री धर्मेद्र प्रधान से बात कर घायलों व अन्य प्रभावितों को हर संभव सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। प्रधानमंत्री ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए कहा है कि उनकी संवेदनाएं पीडि़त परिवारों के साथ है।
 
शॉर्ट सर्किट से लगी आग
अग्नि शमन विभाग के निदेशक बी. बेहरा ने बताया है कि आग पर काबू पाने के लिए तीन फायर स्टेशनों के कर्मचारियों और सात अग्निशमन गाडि़यों को लगाया गया था। पुलिस आयुक्त दफ्तर और अस्पताल के कर्मचारी आग पर काबू पाने में काफी मददगार साबित हुए। बेहरा ने बताया कि प्रथम दृष्टया लगता है कि आग शॉर्ट सर्किट से लगी। लेकिन वास्तविक कारण का पता विस्तृत जांच के बाद ही चल सकेगा। गंभीर हालत वाले मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट करने के लिए एक दर्जन से ज्यादा एंबुलेंस को लगाया गया।
 
खिड़कियां तोड़कर कूदे मरीज
एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक काफी संख्या में मरीज खिड़कियों के शीशे तोड़कर कूद गए और अपनी जान बचाई। ज्योति प्रकाश नामक शख्स के पिता अस्पताल में भर्ती हैं। ज्योति प्रकाश ने बताया-'मैंने पहली मंजिल से कूदकर अपनी जान बचाई। मेरे पिता के साथ क्या हुआ, मालूम नहीं। चारों तरफ धुआं के कारण कुछ पता नहीं चल पा रहा है।


FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.