सेंसेक्स 45.61 अंकों की मजबूती के साथ 32,446.12 स्तर पर पीएम मोदी कल वाराणसी दौरे पर, 17 परियोजनाओं का करेंगे लोकार्पण इस शख्स को सांपों से हुआ प्यार, बचाता है लोगों का जीवन Happy Birthday: इस अभिनेता के प्यार में पागल थी 'बेबो' लेकिन अपने से10 साल बड़े... इंडिया का अभ्यास सत्र चढ़ा बारिश की भेंट, ये करते नजर आए धोनी सुसाइड नोट: मैम इतनी बड़ी सजा किसी को न दें, अलविदा पापा-मम्पी और दीदी सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर कहा- मेक्सिको में सभी भारतीय सुरक्षित Unitech को 49 लाख रुपए की लगी चपत जम्मू-कश्मीर में SSB कैंप पर हुए आतंकी हमले में 2 जवान शहीद Navratri special: पहली बार कर रहे है उपवास... तो न भूलें ये बातें INDvsAUS: बारिश के चलते बढ़ेगी टॉस की अहमियत शॉपर्स स्टॉप ने अमेजन से मिलाया हाथ, अब घर बैठे करे शॉपिंग अमेजन पर सेल शुरू, पाए भारी डिस्काउंट राम रहीम के बाद अब जगदगुरु फलाहारी बाबा पर लगा दुष्‍कर्म का आरोप पाक ने फिर जम्मू-कश्मीर के अरनिया सेक्टर में किया सीज़फायर का उल्लंघन त्रिपुरा में टीवी पत्रकार शांतनु भौमिक की चाकू मारकर हत्या INDvsAUS: दूसरा वनडे आज, विजयी रथ को आगे बढ़ाना चाहेगी भारत दुर्गा विसर्जन मामले पर कलकत्ता HC आज सुनाएगा फैसला 'पद्मावती' का फर्स्ट लुक जारी, रानी के Look में नजर आई दीपिका छह पैसे मजबूत होकर 64.27 रुपए प्रति डॉलर पर हुआ बंद
अब्दुल कलाम को सलामी देने के लिए व्हीलचेयर से उठ खड़े हुए थे अर्जन सिंह
sanjeevnitoday.com | Sunday, September 17, 2017 | 08:18:30 AM
1 of 1

नई दिल्ली। भारतीय सैन्य इतिहास के नायक रहे मार्शल अर्जन सिंह का शनिवार को निधन हो गया। वह 98 वर्ष के थे। उन्होंने 1965 के भारत-पाक युद्ध में भारतीय वायुसेना का नेतृत्व किया था। वायुसेना के सूत्रों ने जानकारी दी कि आज देर शाम साढ़े सात बजे अर्जन सिंह का निधन हो गया।

यह भी पढ़े : भूल से मां के प्रेमी के बगल में जाकर सो गई बेटी फिर क्या हुआ जानिए...

आपको बता दे पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम के पार्थिव शरीर को सलामी देते हुए उनकी तस्वीर वायरल हो गई थी। 2 साल पहले जब अब्दुल कलाम का निधन हुआ तो अर्जन सिंह उन्हें श्रद्धांजलि देने पालम एयरपोर्ट पहुंचे थे। यहां वो व्हीलचेयर पर आए थे, लेकिन कलाम को सलामी देते वक्त तनकर खड़े हो गए थे और पास जाकर सलामी दी थी। 

अर्जन सिंह भारतीय वायुसेना के एकमात्र ऐसे अधिकारी रहे जो पांच सितारा रैंक तक पदोन्नत हुए। यह पद भारतीय थलसेना के फील्ड मार्शल के बराबर है। 

यह भी पढ़े : बेटे की खातिर मां ने "निगला" सांप का जहर... फिर भी नहीं बचा उसकी सकी मौत!

अविभाजित भारत के पंजाब प्रांत के लायलपुर में 15 अप्रैल 1919 को जन्मे अर्जन सिंह के पिता, दादा और परदादा ने सेना के घुड़सवार दस्ते में सेवा दी थी।  मांटगुमरी, ब्रिटिश भारत (अब पाकिस्तान) में शिक्षित सिंह 19&8 में रायल एअरफोर्स (आरएएफ), क्रैनवेल से जुड़े थे और बाद के वर्ष में दिसंबर में वह वायुसेना में पायलट अफसर के रूप में शामिल हुए।

अर्जन सिंह की खास बातें...
- अर्जन सिंह भारतीय वायुसेना के ऐसे एकमात्र अफसर हैं, जिन्हें साल 2002 में फील्ड मार्शल के बराबर फाइव स्टार रैंक देकर प्रमोशन दिया गया था। अर्जन सिंह को उनकी सेवा और योगदान के लिए 1965 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। 
- साल 2016 में अर्जन सिंह के 97वें जन्मदिन पर पश्चिम बंगाल के पानागढ़ स्थित भारतीय वायुसेना के एयर बेस को उनका नाम दिया गया था। वह देश के इकलौते ऐसे अधिकारी थे जिनके जिंदा रहते ही किसी एयरफोर्स स्टेशन का नाम उनपर रखा गया था। 
- पद्म विभूषण से सम्मानित अर्जन सिंह ने 60 अलग-अलग तरह के विमान उड़ाए थे। 
- 1974 में उन्हें केन्या में भारतीय उच्चायुक्त नियुक्त किया गया था. वहीं, 1989 में उन्हें दिल्ली का उप-राज्यपाल बनाया गया था। 
- ब्रिटिश भारतीय सेना ने अर्जन सिंह की कोशिशों के चलते ही इंफाल पर कब्जा किया। इसी के बाद उन्हें डीएफसी की उपाधि से नवाजा गया। 

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.