प्रधानमंत्री कौन से धन से चुनाव जीते, यह बताने से कतरा क्यों रहे हैं - गहलोत शिक्षक ने की छात्रा से छेड़खानी 'कहानी 2' के सेट पर विद्या बालन को हो गया था इनसे प्यार सुब्रमण्यम स्वामी को अयोध्या मसले में पक्षकार मानने से मुस्लिम बोर्ड का इन्कार विदेश में नौकरियां आउटसोर्स करने वाली कंपनियों पर 35 फीसदी कर लगाने की ट्रंप ने दी चेतावनी.. राहिल शरीफ बने बहुराष्ट्रीय इस्लामी आतंकवाद विरोधी बल के प्रमुख दक्षिण अफ्रीका ने पहली गोल्फ टेस्ट श्रृंखला में भारत को हराया.. जाधवपुर विश्वविद्यालय के मुख्य छात्रावास में फांसी पर लटका मिला छात्र चंद्रबाबू नायडू की रिश्तेदार दस लाख के पुराने नोटों के साथ पकड़ी गई जर्मन कोच: भारत हाकी विश्व कप में खिताब का प्रबल दावेदार.. महेश भट्ट की बेटी को है यह बीमारी... लूट की योजना बनाते चार गिरफ्तार सम्मेलन में भारत और अफगानिस्तान ने आतंक के मुद्दे पर पाक को घेरा.. सरताज अजीज को स्वर्ण मंदिर मे घुसने से मना किया तीन बार प्यार हुआ, उन्हें बदले में प्यार करने वाली कोई नहीं मिली: करन जौहर जयललिता को पड़ा दिल का दौरा शरीफ हैं ट्रंप से मिलने को इच्छुक, अगले महीने कर सकते हैं अमेरिका यात्रा जेल से पैरोल पर आने के बाद वापस न जाने का आरोपी गिरफ्तार मोदी के बाद अब केजरीवाल भी करेंगे परिवर्तन रैली इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे से पहले धोनी के लिये कोई मैच नहीं?
अब डेबिट या क्रेडिट से नहीं Aadhar नंबर से होंगे ट्रांजैक्शन
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 11:06:20 AM
1 of 1


नई दिल्ली। नोटबंदी के बाद कैश के प्राप्त करने के लिए लोगों को हो रही दिक्कतों को खत्म करने के लिए सरकार एक और बढ़ा कदम उठा सकती है। सरकार अब कैशलैस इकोनॉमी को बढ़ावा देने के बारे में विचार कर रही है। नीति आयोग चाहता है कि देश में सभी प्रकार के ट्रांजैक्शन के लिए लोग केवल 12 अंकों वाले आधार कार्ड का उपयोग किया जाए। सरकार इसके लिए एक कॉमन मोबाइल एप को बना रही है।

 

डिजिटल पेमेंट को मजबूत करना चाहती है सरकार


आपको बता दें यदि सरकार का यह प्लान कामयाब हो जाता है तो डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड पुराने दिनों की बात हो जाएगी। दरअसल, सरकार डिजिटल पेमेंट को मजबूत करना चाहती और नीति आयोग इस बारे में कई कदम उठा रहा है। इसके तहत जल्द ही कैश ट्रान्जैक्शन को हतोत्साहित करने की खातिर नीति भी बनाई जा सकती है। हालांकि सरकार ने भी यह नहीं बताया कि यह प्लान कितने दिनों मे तैयार हो जाएगा।


पिन की भी नहीं होगी आवश्यकता


यूआईडी के महानिदेशक अजय पांडेय ने बताया कि आधार नंबर पर आधारित ट्रांजैक्शन कार्डलेस होंगे। इसके लिए पिन की भी आवश्यकता नहीं होगी। एंड्रॉयड फोन यूजर्स फिंगरप्रिंट अथेंटिकेशन के जरिए यह काम आसानी से कर सकेंगे। इसके जरिए आप बाजार से किसी भ्भी तरह की खरीददारी कर सकते हैं।


थंब आइडेंटिफिकेशन


इसके लिए मोबाइल हैंडसेट्स में आइरिस या थम्ब आइडेंटिफिकेशन की सुविधा होगी। पैसा कस्टमर के अकाउंट से दुकानदार के अकाउंट में ट्रांसफर होगा। सभी 118 सार्वजनिक व निजी बैंकों के उपभ्भोक्तओं को मिलेगी सुविधा।


आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम


नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत ने बताया कि लोगों को अपने आधार को अपने बैंक अकाउंट से लिंक करना होगा। बाद में फंड ट्रांसफर, बैलेंस इनक्वायरी, कैश जमा, निकासी और इंटरबैंकिंग ट्रांजेक्शन के लिए आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस)का इस्तेमाल कर सकेंगे। इससे डिजिटल पेमेंट मजबूत होगा।

यह भी पढ़े: फूड आइटम की बिक्री दुगनी हो जाती है जब ये मॉडल छोटे कपडे पहन कर करती है दुकानदारी..!

यह भी पढ़े: चमत्कारी पहाड़ ! आज भी खुद ब खुद ऊपर की और चलने लगती है गाड़िया ... छुपी है रहस्यमहि ताकत

यह भी पढ़े: VIDEO: जब बीच सड़क पर गाने पर अचानक ही ये लड़का-लड़की करने लगे DANCE!

यह भी पढ़े : रोज-रोज होता था पेट दर्द, चेक करवाया तो निकला कंडोम, डाक्टर भी चौंक गये



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.