loading...
दिल्ली रोड पर 'एक्सल गैंग' ने कार रोककर चार महिलाओं के साथ किया गैंगरेप आडवाणी और उमा भारती को बाबरी केस पर राहत नहीं, कहा - 30 मई को कोर्ट में पेश हो VIDEO: बच्चों की इस मासूम मस्ती को देखकर हंस हंसकर दुखने लगेगा आपका पेट 'सचिन अ बिलियन ड्रीम्स' देख भावुक हुए अमिताभ, कहा- इस फिल्म को देश के हर नागरिक को दिखाना चाहिए बूंदी नगर परिषद परिसर में आयोजित शिविर में पट्टे वितरित कर आमजन को किया लाभान्वित बाबरी विध्वंस मामला: CBI अदालत ने दिया 30 मई तक सभी आरोपियों को हाजिर होने का आदेश यहां पर इस औरत ने दिया एक साथ 5 बच्चों को जन्म, लेकिन... वाइफ के साथ स्विमिंग पूल में रोमांटिक पोज देते नजर आए 'चंद्रकांता' के एक्टर महिला रेलवे ट्रैक के पास मृत पड़ी थी मां, शव से लिपट दूध पीता रहा बच्चा ढाई माह की ये नन्हीं बच्ची बन गई रातों रात स्टार, जानिए वजह राष्ट्रपति ने मैनचेस्टर में हुए हमले के लिए एलिजाबेथ को लिखा सन्देश, जताया गहरा दुःख प्रियंका ने अमेरिकी मीडिया से कहा- हर ब्राउन रंग की लड़की एक जैसी नहीं होती हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त में महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस बाल-बाल बचे ट्रम्प नाम के इस कुत्ते को तलाश रही द‌िल्ली की पु‌ल‌िस OMG: व्हेल के पेट में 3 दिनों तक रहकर जिंदा लौटा ये शख्स अपने रिलेशनशिप को अलग लेवल पर ले जाना चाहते है अरबाज-एलेक्जेंड्रा आरोपीयो ने नाबालिक से बलात्कार, मामला दर्ज जियॉक्स ने लांच किया Viva 4G स्मार्टफोन, कीमत 5,593 रुपए स्विमिंग पूल में दिखा नेहा धूपिया का हॉट लुक सचिन की बायोपिक के प्रीमियर में पहुंचे ये क्रिकेटर्स
3 तलाक के विरोध में जज को लिख डाला खून से खत
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 05:34:36 AM
1 of 1

नई दिल्ली। देश में तीन तलाक के विरोध का विरोध यू तो काफी दिनों से होता आ रहा है, महिलाएं भी इसके विरोध में खड़ी हैं और स्वयं के लिए न्याय और समानता की गुहार करती नजर आ रही हैं, सरकार की तरफ से पहले ही कहा जा चुका है कि यह कुप्रथा समाज के लिए एक बोझ है इससे समाज में  लिंग भेद बढ़ता है। इसी सिलसिले में एक नए मामले में एक मुस्लिम महिला ने सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को खून से खत लिखकर अपने लिए न्याय की मांग की है। खत में महिला ने लिखा है कि तीन तलाक को देश से प्रभावी तरीके से समाप्त किया जाए।

तीन तलाक कानून को खत्म किया जाए,
सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस को लिखे खत में महिला ने लिखा है कि देश से तीन तलाक कानून  को खत्म किया जाए, देश में ऐसा कानून होना चाहिए जिससे लोगों को समानता मिले, लिंग भेद ना हो। मेरे पति ने मुझे तलाक दे दिया है, मैं ऐसे किसी भी कानून को नहीं मानती जिसके कारण मेरी और मेरी चार साल के बच्ची की जिंदगी तबाह हो गई है, अगर मुझे इंसाफ नहीं दिया जा सकता है तो मुझे अपनी जान देने की अनुमति दी जाए।

मामले के अनुसार शबाना नाम की औरत की 25 मई 2011 को हुई, पति का नाम टीपू है। शबाना बताती है कि वो नर्सिंग कर चुकी है, पर उसका पति उसे खेतों मंे काम करवाना वाहता था, जब वह ऐसा करने से मना करती तो वो उसे मारता भी था, उसे दहेज के लिए प्रताडित किया जाता रहा। बाद में पति ने किसी और से शादी कर ली, जिसके बाद शबाना ने इसकी रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई, और बाद में काफी बातें बढ़ी जिसके बाद टीपू ने उसे तलाक दे दिया। ऐसे में उसका और उसकी चार साल की बेटी तहजीब की जिंदगी बर्बाद सी हो गई है। महिला ने खून से लिखे खत में लिखा है कि मुझे यह तलाक ना तो मंजूर है और ना ही मैं तलाक के इस नियम को मानती हूं। देश से ऐसे कानून को समाप्त किया जाए और मुझे और मेरी बेटी को न्याय मिले।

यह भी पढ़े: जेब में रखे चीनी करेगा मोबाइल चार्ज ये है तरीका

यह भी पढ़े: नोटबंदी से नोटवाली हुई एप्पल, इस तरह हुआ फायदा

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.