loading...
loading...
loading...
बेटी फैशन शो 2017: आयोजित फैशन शो में पहुंचे ये स्टार्स US में पीएम मोदी का 'अटक से कटक' की बात कहना बेहद चौंकाने वाला कांग्रेस सहित अन्य विपक्षी दल GST बैठक का बहिष्कार करने की सोच रहे है यहां पर 2 नाक के साथ पैदा हुआ ये अनोखा बच्चा! शो 'ये रिश्ता क्या कहलाता है' की नायरा ने करवाया बोल्ड फोटोशूट, देखें तस्वीरें हेड कांस्टेबल ने अपनी ही बेटी को बनाया हवस का शिकार जल्द लॉन्च होगी जगुआर की SUV E-Pace, जानिए फीचर्स 9वीं की छात्रा के साथ दो युवको ने किया सरेआम गैंगरेप केजरीवाल और सत्येंद्र जैन के खिलाफ विधानसभा में सबूत पेश करने के लिए कपिल ने मांगी इजाजत Pics: फैंस को ईद की मुबारकबाद देने शाहरुख के साथ पहुंचे अबराम, अपने नन्हें हाथों से अबराम ने किया सभी को नमस्ते Nokia 6 US में 229 डॉलर की कीमत के साथ होगा लांच यहां पर महिला ने दिया 6 किलो के बच्चे को जन्म! नियंत्रण रेखा से जुड़े गाँवों को पाक ने करवाया खाली केजरीवाल के 'ईद मुबारक' ट्वीट पर कपिल मिश्रा ने किया पलटवार जवाब पंचायत में आयोजित ग्राम सभा से लौट रही युवती का शव नग्न अवस्था में मिला पति के छोटे साइज से तंग आकर पत्नी ने किया ये... अपने आत्मविश्वास को जगाने के लिए करे ये पांच उपाय आधार कार्ड मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दिया मोदी सरकार को झटका पिछले 11 दिन में पेट्रोल 1.93 रुपए, डीजल 96 पैसे हुआ सस्ता नीतीश कुमार ने लगाई प्रवक्ताओ को फटकार, कहा- चुनावों को लेकर बेवजह की बयानबाजी ना करें
3 तलाक के विरोध में जज को लिख डाला खून से खत
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 05:34:36 AM
1 of 1

नई दिल्ली। देश में तीन तलाक के विरोध का विरोध यू तो काफी दिनों से होता आ रहा है, महिलाएं भी इसके विरोध में खड़ी हैं और स्वयं के लिए न्याय और समानता की गुहार करती नजर आ रही हैं, सरकार की तरफ से पहले ही कहा जा चुका है कि यह कुप्रथा समाज के लिए एक बोझ है इससे समाज में  लिंग भेद बढ़ता है। इसी सिलसिले में एक नए मामले में एक मुस्लिम महिला ने सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को खून से खत लिखकर अपने लिए न्याय की मांग की है। खत में महिला ने लिखा है कि तीन तलाक को देश से प्रभावी तरीके से समाप्त किया जाए।

तीन तलाक कानून को खत्म किया जाए,
सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस को लिखे खत में महिला ने लिखा है कि देश से तीन तलाक कानून  को खत्म किया जाए, देश में ऐसा कानून होना चाहिए जिससे लोगों को समानता मिले, लिंग भेद ना हो। मेरे पति ने मुझे तलाक दे दिया है, मैं ऐसे किसी भी कानून को नहीं मानती जिसके कारण मेरी और मेरी चार साल के बच्ची की जिंदगी तबाह हो गई है, अगर मुझे इंसाफ नहीं दिया जा सकता है तो मुझे अपनी जान देने की अनुमति दी जाए।

मामले के अनुसार शबाना नाम की औरत की 25 मई 2011 को हुई, पति का नाम टीपू है। शबाना बताती है कि वो नर्सिंग कर चुकी है, पर उसका पति उसे खेतों मंे काम करवाना वाहता था, जब वह ऐसा करने से मना करती तो वो उसे मारता भी था, उसे दहेज के लिए प्रताडित किया जाता रहा। बाद में पति ने किसी और से शादी कर ली, जिसके बाद शबाना ने इसकी रिपोर्ट पुलिस में दर्ज करवाई, और बाद में काफी बातें बढ़ी जिसके बाद टीपू ने उसे तलाक दे दिया। ऐसे में उसका और उसकी चार साल की बेटी तहजीब की जिंदगी बर्बाद सी हो गई है। महिला ने खून से लिखे खत में लिखा है कि मुझे यह तलाक ना तो मंजूर है और ना ही मैं तलाक के इस नियम को मानती हूं। देश से ऐसे कानून को समाप्त किया जाए और मुझे और मेरी बेटी को न्याय मिले।

यह भी पढ़े: जेब में रखे चीनी करेगा मोबाइल चार्ज ये है तरीका

यह भी पढ़े: नोटबंदी से नोटवाली हुई एप्पल, इस तरह हुआ फायदा

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.