देश और दुनिया के इतिहास में 22 अगस्त की महत्वपूर्ण घटनाएं जानिये किस तरह के लड़कों की तरफ ज्यादा आकर्षित होती हैं लड़कियां मुहासों से छुटकारा पाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय 22 अगस्त राशिफल : जानिए कैसा रहेगा आपके लिए मंगलवार का दिन प्रत्येक नागरिक को किसी भी धर्म को अपनाने की पूर्ण स्वतंत्रता शीघ्र ही शुरू होगी ‘यूनिवर्सल स्क्रीनिंग’ स्वास्थ्य योजना स्वास्थ्य केन्द्र के भवन निर्माण हेतु स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र भारतीय पहलवान का पहला दिन खराब, पहले ही दौर में हारे एफआईआर की प्रति अब मिलेगी ऑनलाईन, जानिए कैसे बूढादीत में स्थित प्राचीन सूर्य मंदिर को बनाया निशाना, आरोपियों को पकड़ा कैसे रूक पायेंगे रेल हादसे ? कपिल शर्मा ने सिद्धू के साथ मनमुटाव पर अपनी तोड़ी चुप्पी संदेश ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें बड़ी लीग में खेलना चाहिए: कांस्टेनटाइन काश कि रेल बजट तकनीक केन्द्रित होता राजस्थान ने लॉन्च की 'हैलो इंग्लिश प्रिमियम' एप, अंग्रेजी ज्ञान को बनाएगी बेहतर अतिक्रमण हटाने गए नगर परिषद के कर्मचारियों पर चले लात घूसे एटीपी रैंकिंग में एंडी मरे को पछाड़ नडाल टॉप पर "फिल्मों का बदलता ट्रेंड " सरकार ने बढ़ाई भीम कैशबैक योजना की अवधि, मार्च तक मिलेगा कैशबैक तीन तलाक मुद्दे पर कल सुप्रीम कोर्ट लेगा अहम फैसला
नोटबंदी का विरोध 125 करोड देशवासियों का विरोध है : जितेंद्र सिंह
sanjeevnitoday.com | Monday, November 28, 2016 | 08:07:49 PM
1 of 1

नई दिल्ली।   राज्यमंत्री जितेन्द्रसिंह ने सोमवार को कहा कि राजग सरकार को घेरने की संयुक्त रणनीति पर विपक्षी दलों में मतभेद सामने आ गया है। उन्होंने कहा कि यह विरोध लोगों के लिए नहीं था बल्कि ऐसा लगता है कि यह देश। 

वित्त राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि विपक्षी दल बंटे हुए हैं। पहले उन्हें आपस में एकता कायम करनी चाहिए। लोग सरकार के कदम का समर्थन कर रहे हैं, लेकिन विपक्षी दल इस मुद्दे पर बंटे हुए हैं।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उन्होंने (कांग्रेस पार्टी) किसी आह्वान या भारत बंद का समर्थन नहीं किया है। 

कुछ विपक्षी दल भी यहां एकत्र हुए और उन्होंने प्रधानमंत्री  की संसद के बाहर की गई टिप्पणी पर उनसे माफी मांगने के लिए दबाव डालने का फैसला किया। मोदी ने कहा था कि विपक्षी दल नोटबंदी विपक्षी दल नोटबंदी का विरोध करके काले धन का समर्थन कर रहे हैं।   

कांग्रेस  नेता जयराम रमेश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘धमाका’ राजनीति में भरोसा रखते हैं और बड़े नोटों को बंद करने का फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि उन्हें उत्तर प्रदेश में कुछ संभावनाएं दिखाई दीं जहां अगले साल चुनाव होने हैं. उन्होंने दावा किया कि विदेशों में जमा कालेधन को वापस लाने के प्रधानमंत्री के बड़े चुनावी वादे को पूरा करने में सरकार की नाकामी को ढकने के लिए 1000 और 500 रुपये के नोटों को बंद किया गया है। 

यह भी पढ़े: ...तो लडकिया इस समय सबसे ज्यादा सोचती है सेक्स के बारे में

यह भी पढ़े: यह है दुनिया की 'एकमात्र कामसूत्र' की पाठशाला।

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: चमत्कारी स्प्रे, इसे लगाने के बाद खिंची चली आएंगी लड़कियां..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.