सेना को बदनाम मत करो :राज्यपाल पश्चिम बंगाल पंजाब विस चुनाव के लिए कांग्रेस की पहली सूची जारी होने को लेकर अटकलें तेज Sanjeevni Today: Top Stories of 5pm संजीवनी टुडे स्पेशल ! ऐसी रोचक जानकारी जो कर देगी सोचने पर मजबूर... एक बार पढ़े SC ने यूनिटेक को दिया पैसे लौटाने का आदेश एस्टन कचर ने अपने बेटे के नाम रखा पोर्टवुड कचर ये फिल्म बनेगी तो सिर्फ रणबीर कपूर के साथ ही बनेग़ी: संजय गुप्ता इस इलाके में 28 साल बाद गुंजी बच्चे की किलकारी JEE MAIN 2017 के फॉर्म भरने के लिए जरुरी हुआ आधार कार्ड स्वदेशी युद्धक विमान तेजस 'ओवरवेट' होने के कारण रिजेक्ट बेहद अजीब ! 1 मिनट तक छोड़ दिया नोटों से भरे बंद कमरे में, अंत में हुआ ये हाल वीजा, साइबर सुरक्षा और निवेश पर भारत और कतर में समझौते इस गुफा में निवास करते है भगवान् शिव और एक शेषनाग, कई रहस्य है इसमें ... जाने आप भी ट्रम्प की टीम से मिलने के लिए दूत भेज रहा है PAK Yamaha ने बेहतरीन फीचर्स के साथ लॉन्च की YZF-R15 हक्कानी नेटवर्क अभी भी अमेरिकी सेना के लिए बड़ा खतरा: अमरीकी शीर्ष कमांडर भारत में जल्द लॉन्च होगा LG V20 स्मार्टफोन कोस्ट गार्ड में 140 वॉरशिप शामिल कर समुद्र की महाशक्ति बनेगी नौसेना चौथा टेस्ट मैच देखने के लिए स्टूडेंट्स को मिलेगा फ्री पास प्रीति जिंटा के मौसरे भाई ने की आत्महत्या
नोटबंदी का विरोध 125 करोड देशवासियों का विरोध है : जितेंद्र सिंह
sanjeevnitoday.com | Monday, November 28, 2016 | 08:07:49 PM
1 of 1

नई दिल्ली।   राज्यमंत्री जितेन्द्रसिंह ने सोमवार को कहा कि राजग सरकार को घेरने की संयुक्त रणनीति पर विपक्षी दलों में मतभेद सामने आ गया है। उन्होंने कहा कि यह विरोध लोगों के लिए नहीं था बल्कि ऐसा लगता है कि यह देश। 

वित्त राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने कहा कि विपक्षी दल बंटे हुए हैं। पहले उन्हें आपस में एकता कायम करनी चाहिए। लोग सरकार के कदम का समर्थन कर रहे हैं, लेकिन विपक्षी दल इस मुद्दे पर बंटे हुए हैं।

राज्यसभा में विपक्ष के नेता और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि उन्होंने (कांग्रेस पार्टी) किसी आह्वान या भारत बंद का समर्थन नहीं किया है। 

कुछ विपक्षी दल भी यहां एकत्र हुए और उन्होंने प्रधानमंत्री  की संसद के बाहर की गई टिप्पणी पर उनसे माफी मांगने के लिए दबाव डालने का फैसला किया। मोदी ने कहा था कि विपक्षी दल नोटबंदी विपक्षी दल नोटबंदी का विरोध करके काले धन का समर्थन कर रहे हैं।   

कांग्रेस  नेता जयराम रमेश ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘धमाका’ राजनीति में भरोसा रखते हैं और बड़े नोटों को बंद करने का फैसला इसलिए लिया गया क्योंकि उन्हें उत्तर प्रदेश में कुछ संभावनाएं दिखाई दीं जहां अगले साल चुनाव होने हैं. उन्होंने दावा किया कि विदेशों में जमा कालेधन को वापस लाने के प्रधानमंत्री के बड़े चुनावी वादे को पूरा करने में सरकार की नाकामी को ढकने के लिए 1000 और 500 रुपये के नोटों को बंद किया गया है। 

यह भी पढ़े: ...तो लडकिया इस समय सबसे ज्यादा सोचती है सेक्स के बारे में

यह भी पढ़े: यह है दुनिया की 'एकमात्र कामसूत्र' की पाठशाला।

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: चमत्कारी स्प्रे, इसे लगाने के बाद खिंची चली आएंगी लड़कियां..!

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.