बॉडी पर इन 7 जगहों पर है तिल है तो हो सकता है ये... मोर्ने मोर्केल ने वनडे क्रिकेट करियर को लेकर चिंता की व्यक्त ड्रग रैकेट में फंसा 'बाहुबली-2' का एक्टर सुब्बाराजू, SIT ने की पूछताछ पालनहारों के भामाशाह, आधार एवं विद्यालय अध्ययन प्रमाण पत्र एस एस ओ पोर्टल पर होंगे अपडेट नगर निगम चुनाव में बीजेपी को मिली करारी हार , दिग्गजों ने दिया इस्तीफा जानिए, गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक परिवर्तन रशियन ओपन ग्रां प्रि बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंचे राहुल यादव सहकार जीवन बीमा योजना के तहत 79 वर्ष तक के किसानों को मिलेगा 10 लाख रुपये तक का बीमा कवर जल्द करे झारखंड पुलिस में ग्रेजुएट्स पदों पर आवेदन ऑस्ट्रेलिया के बेरोजगार क्रिकेटर तलाश रहे है इंडिया में रोजगार मोदी सरकार सीनियर सिटिजन के लिए नई पेंशन स्‍कीम एक साल में लें 60 हजार रुपये बैडमिंटन: भारत के समीर करेंगे यूएस ओपन की अगुआई, प्रणय- कश्यप भी शामिल ED ने मीसा भारती के CA के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट पाक सिंगर अली का निधन, दोस्त के घर मिली लाश अमित शाह ने ली मंत्रिमंडल सदस्यों की बैठक, तीन साल के कार्यकाल का लिया ब्यौरा अरबाज ने किया कंफर्म, दबंग 3 को डायरेक्ट नहीं करेंगे सब्बीर खान नोएडा: IPL खिलाडी परविंदर अवाना पर 5 बदमाशों ने किया हमला तीन दिवसीय दौरे पर जयपुर पहुंचे अमित शाह, हुआ शाही स्वागत, गूजे शाह, मोदी के नारे यूएस रियल स्टेट में निवेश करने के मामले में चीन ने भारत को पछाड़ा टेनिस पर छाए काले बादल, विंबलडन के मैचों की होगी जांच
संक्रमण से बचने के लिए मधुमेह के रोगी मानसून में रखें खास ख्याल ....
sanjeevnitoday.com | Sunday, July 16, 2017 | 11:01:16 AM
1 of 1

नई दिल्ली। मानसून के मौसम में उमस, पसीना और नमी से फंगस व अन्य सूक्ष्म जीव पैदा होते हैं, ऐसे में मधुमेह रोगियों को अपने पैरों का खास ख्याल रखना चाहिए। मानसून में पैरों में फंगस का संक्रमण हो सकता है और अगर यह ठीक न हुआ तो गैंगरीन बन सकता है, जिसमें पैर काटने तक की नौबत आ जाती है। आईये आपको बताते है, कैसे रखे अपने पैरों का ख़्याल....


मानसून में मधुमेह रोगियों को नॉयलॉन के मोजों की जगह कॉटन के मोजे पहनने चाहिए। अपने मोजों को रोजाना बदलिए और गीले मोज़ों को बदलने में देरी ना करें। 


डायबिटिक फुट के मरीजों के लिए नंगे पांव चलना अच्छा नहीं होता क्योंकि ऐसे में घावों के होने की अधिक संभावना रहती है। और कीटाणुओं और सूक्ष्मजीवों को बढ़ने का मौका मिलता है। यहां तक कि जब आप अपने घर में हैं तब भी जूते या चप्पल पहनें।

 
गीले पैरों को ठीक प्रकार से साफ करने के बाद उन्हें सुखाने के बाद ही जूते पहनें। ऐसे मौसम में आसानी से सूखने वाले खुले जूते चप्पलें पहनें। हफ्ते में एक दिन जूतों को कुछ देर धूप में रखें, जिससे उसमें मौजूद सूक्ष्मजीवी या फफूंद नष्ट हो जायें।
 

घाव, कटना और कॉर्न्स नियमित रूप से जांच करते रहे। यदि आप की पैरो की त्वचा रूखी है या फिर उसमें खुजली है, तो डॉक्‍टर से परामर्श करें। पैरों की सफाई का भी खास ख्याल रखें। पैरों को गुनगुने पानी और नरम साबुन के साथ डिटॅल डालकर नियमित रूप से धोएं। उसके बाद साफ़ तौलिये से अच्छे से पोंछकर ही जूते पहनें। ध्यान रखें कि उंगलियों के बीच भी पानी नही रहना चाहिए।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

 

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.