संजीवनी टुडे

News

सिक्‍स पैक के शौकीन जरूर पढ़े ये खबर

Sanjeevni Today 14-08-2017 03:27:11

लाइफस्टाइल डेस्क। आजकल के युवा सिक्‍स पैक एब्‍स के दीवाने हो गए हैं। सिक्‍स पैक एब्‍स पाने के लिए पेट के चारों तरफ की अतिरिक्‍त चर्बी को कम कर मांसपेशियों को उभारने की जरूरत होती है। अतिरिक्‍त फैट को कम करने के लिए कड़ी कसरत के साथ ही सही आहार लेना भी जरूरी होता है। फिटनेस में यही फैशन स्टेटमेंट बन गया है तो भला मर्द इस फैशन को क्यों न फॉलो करें। लेकिन इन एक्सरसाइज के बदले उन्हें लेनी पड़ती है महंगी डाइट जैसे प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट आदि। जो उस वक्त तो शरीर पर असर दिखा बॉडी को फिट दिखाता है लेकिन बाद में यही फिटनेस उनकी सेहत पर असर डालने लग जाती है। आईये जानते है कैसे?


सभी को पता है की सिक्स पैक एब बनाने के लिए सप्लीमेंट लेने की सलाह दी जाती है। ये सप्लीमेंट छोटे-बड़े पैकेट से लेकर पांच-दस किलो के डिब्बों में तरह-तरह के नामों से आते है। पर ये सप्लीमेंट नुकसानदायक हो सकते हैं चाहे लो किसी की सलाह से लिए गए हों।


अमरीका में स्पोर्टस मैडिसीन में डब्लयूएचओ( विश्व स्वास्थय संस्था) से फ़ैलोशिप कर चुके डॉक्टर जवाहर लाल जैन कहते हैं, "न्यूट्रिशन सपलीमैंट फिज़िशियन की निगरानी में ही लिया जाना चाहिए। न्यूट्रिशन सपलीमैंट लेना बुरा नहीं है, लेकिन सबसे बड़ी समस्या है कि न्यूट्रिशन सपलीमैंट की इंडस्ट्री नियामक नहीं है। बहुत सारी आयुर्वेदिक दवाइयां हैं लेकिन बिना सलाह से या फिर अपने मन से सपलीमैंट लेने से नुकसान भी हो सकता है।"


साथ ही उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा की अगर सप्लीमेंट में क्षमता बढाने वाली दवाइंया मिली हों तो किसी भी खिलाड़ी का खेल जीवन क्लिक करें डोप के आरोप में समाप्त हो सकता है। जैन कहते है "सप्लीमेंट के डिब्बो में कई बार स्टेरॉयड्स मिले हुए होते हैं। एथलीट ये बात समझते हैं कि एक चम्मच खाने से प्रदर्शन 10 गुना और 6 चम्मच खाने से 60 गुना बढ़ जाएगा।

Watch Video

More From lifestyle

Recommended