loading...
loading...
loading...
झारखंड : गोरक्षा ने गाय के शव को लेकर बुज़ुर्ग को बुरी तरह पीटा, घर को भी लगाई आग राष्ट्रपति चुनाव के लिए मीरा कुमार ने किया नामांकन #ToiletEkPremKatha का पहला गाना HansMatPagli रिलीज इन अजीबोगरीब रेस्टोरेंट के बारें में सुनकर आपको भी आ जाएंगी हंसी मुंबई ब्लास्ट के दोषी मुस्तफा डोसा की हार्ट अटैक से मौत बॉलीवुड अभिनेत्री महिमा चौधरी के ममेरे भाई-भाभी की सड़क हादसे में मौत इस रेस्टोरेंट के बंद होने की वजह जानकर आप चौंक जाएंगे Video: सेंसर बोर्ड ने दी 'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' के इस ट्रेलर को रिलीज़ की इजाजत आनंदपाल का शव लेने से परिजनों ने किया इंकार, अब पुलिस की निगरानी में होगा अंतिम संस्कार 31 अंक की बढ़ोतरी के साथ सैंसेक्स 30,989 अंक पर GST लॉन्च की तैयारी को लेकर संसद में आज होगा मेगा रिहर्सल इस पति ने अपनी पत्नी के साथ जो किया उसे सुनकर आप रह जाएंगे दंग मानसून मेगा सेल में Spice Jet दे रहा 699 रुपए में हवाई यात्रा करने का मौका श्वेता तिवारी की बेटी का ये हॉट फोटोशूट देख आप भी कहेंगे WOW GST को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दाखिल, 29 जून को होगी सुनवाई 'साथ निभाना साथिया' की गोपी बहु की तबियत ख़राब, हॉस्पिटल में हुइ एडमिट आपत्तिजनक हालत में पुलिस ने 35 लड़के-लड़कियों को किया गिरफ्तार नियम उल्लंघन मामले को लेकर 'लसिथ मलिंगा' पर लगा 6 महीने का प्रतिबंध 'द कपिल शर्मा शो' में कपिल का साथ देने आ रही है भारती सिंह पुजारी ने लड़की की आबरू को तार-तार करने की वारदात को दिया अंजाम
स्वस्थ जीवन शैली से दूर करे हृदय रोग
sanjeevnitoday.com | Tuesday, June 20, 2017 | 04:13:25 AM
1 of 1

एक व्यक्ति को हृदय रोग कई कारणों की वजह से होता है। इनमें से एक लोगों की जीवन शैली है। हमारे पूर्वजों को कभी हृदय रोग नहीं होता था इसका कारण उनकी सरल और स्वस्थ जीवन शैली थी। हृदय रोग के कारण, लेकिन, आज हमने अपनी जीवन शैली को बहुत जटिल बना दिया है, और हमारे भोजन में मिलावट हृदय रोग की समस्या को पाने के लिए एक अन्य कारण भी है।  लेकिन गंभीर उपचारों के अतिरिक्त, आज हृदय रोग से बचने के कई तरीके भी हैं।
 

दिल की बीमारी से ग्रसित होने के पीछे हमारी जीवनशैली भी काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। अगर हम अपनी जीवनशैली और दैनिक दिनचर्या में थोड़ा सा परिवर्तन कर सकें तो दिल की बीमारी का ख़तरा आसानी से टल सकता है। हर डॉक्टर दिल के स्वास्थ्य के लिये आपको कुछ अच्छी आदतें सुझाता है। आजकल ज़्यादातर लोग दिल की बीमारी से पीड़ित होते हैं। सारे विश्व में करीब 10 लाख लोग दिल की समस्या से गंभीर रूप से ग्रस्त होते हैं, और इनमें से 85 % लोगों की मृत्यु भी हो जाती है। शोध से साबित हुआ है कि कोरोनरी (coronary) दिल की बीमारी मौत का काफी बड़ा कारण बनती है। अतः अपनी जीवनशैली की मदद से हम इस बीमारी को होने से रोक सकते हैं। नीचे इसके लिए कुछ नुस्खे दिए गए हैं।

ह्रदय रोग से बचाव, जीवन शैली में परिवर्तन के साथ, आसानी से हृदय रोग की समस्या को जीता जा सकता है। हृदय रोग के महत्वपूर्ण कारणों में से कुछ शामिल हैं: धूम्रपान, शराब पीना, शारीरिक गतिविधियों में कमी और तनाव है।

दिल को स्वस्थ रखने के टिप्स – जीवन शैली में परिवर्तन के साथ हृदय रोग से बचने के तरीके 

दिल की बीमारी का इलाज – पसीना निकालें 
व्यायाम, फिट रहने का एक बढ़िया तरीका है। अगर आप बहुत कठिन शारीरिक गतिविधियों के लिए अनुकूलित नहीं हैं, तो आप अपने भौतिक कार्यक्रमों से 30 मिनट का समय निकालें और पसीना निकालने के लिये व्यायाम करें। एक सप्ताह में लगभग 5 दिनों के लिए तेज चलने की स्थिति आपके लिये बेहतर होगी। यदि आप अधिक वसा जला कर बाहर निकालना चाहते हैं, तो आप 60 मिनट की अवधि के लिए भी जा सकते हैं। इस प्रकार आप एक सप्ताह में 600- 1200 कैलोरी जलाकर आसानी से बाहर निकाल सकते हैं। यह आवश्यक नहीं है कि आप ज़िम में जाकर कठिन शारीरिक व्यायाम को करें। व्यायाम शुरू में थोड़ा थोड़ा करें और धीरे धीरे इसमें अधिक समय को दे और पसीना निकालें।

ह्रदय को स्वास्थ्य – धूम्रपान बंद करें 
जैसा कि आप जानते हैं धूम्रपान हृदय रोग का एक अन्य कारण है जिसके कारण कैंसर हो सकता है, इसलिये पूरी तरह से धूम्रपान को रोकने की सलाह दी जाती है। सिगरेट में शामिल तंबाकू दिल की समस्याओं के प्रमुख जोखिम कारक के रूप में जाना जाता है। यह आपकी धमनियों को सकरा करने के लिये जिम्मेदार भी है जो बदले में एथेरोस्क्लेरोसिस को जन्म दे सकता है। एक व्यक्ति में दिल की समस्या की यह स्थिति निश्चित रूप से दिल का दौरा पड़ने को जन्म देगा। शुरू में आपनी आदत को बदलने के लिये कम निकोटीन सिगरेट या ई सिगरेट का प्रयोग कर सकते हैं। लंबे समय तक इसका प्रयोग भी बहुत ही जोखिम भरा हो सकता है।

हृदय रोग का उपचार – स्वस्थ वजन को बनाए रखना 
अगर आपका वजन सामान्य से अधिक है, तो आपके अधिक वजन की समस्या के कारण आपको कई घातक बीमारियां हो सकती हैं। इन घातक बीमारियों में से एक हृदय रोग है जो अधिक वजन के प्रभाव के कारण हो सकता है। आप हो सकता है कि इन बीमारियों के इलाज के लिये पर्याप्त समय पा जायें लेकिन, हृदय रोग आपको कभी भी समय नहीं देगा। एक अनुसंधान के अनुसार, यदि आपका वजन एक साल में एक किलो बढ़ता है तो हृदय रोग का जोखिम कभी भी कम नहीं होगा। यह महत्वपूर्ण होगा कि आप नियमित आधार पर बीएमआई मापें और ऊंचाई के हिसाब से वजन को नियंत्रित करके फिट और स्वस्थ रहें।

ह्रदय रोग का इलाज – नियमित स्वास्थ्य जांच
आज, नियमित आधार पर स्वास्थ्य जांच एक महत्वपूर्ण गतिविधि है। ह्रदय को स्वस्थ, कई लोग मधुमेह, कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप आदि जैसी समस्याओं से पीड़ित हैं। आपको नियमित आधार पर अपने रक्त शर्करा के स्तर का परीक्षण और इसके लिए उपचार लेना चाहिए। यदि आप रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं, तो यह हृदय रोग के जोखिम को कम करने के लिए काफी आसान हो जाएगा।

स्वस्थ खानपान अपनाएं 
हममें से ज़्यादातर लोग स्वास्थ्य के नहीं बल्कि स्वाद के पीछे भागते हैं। यही कारण है कि ज़्यादातर लोग दिल की बीमारी के शिकार होते हैं। हम ज़्यादातर स्नैक्स (snacks) जैसे तले और कुरकुरे खाद्य पदार्थों का सेवन करना पसंद करते हैं, जो अस्वास्थ्यकर और सैचुरेटेड (saturated) वसा से युक्त होते हैं। अतः लोगों को इस प्रकार की जीवनशैली को त्याग देना चाहिए और इसके बदले स्वास्थ्यकर खानपान करना चाहिए, जिसके अंतर्गत हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, विटामिन्स, फाइबर्स (vitamins, fibers) आदि मुख्य हैं।

रोज़ाना व्यायाम करें 
आज के दौर में लोगों को हर चीज़ बिल्कुल अपने हाथों में प्राप्त हो जाती है, जिसके फलस्वरूप वे काफी आलसी और अकर्मण्य हो जाते हैं। यह भी एक कारण है जिसकी वजह से लोग दिल की बीमारियों का शिकार हो सकते हैं। अगर आप रोज़ाना व्यायाम करें तो आप स्वस्थ रहेंगे और आपको दिल की बीमारियां छू भी नहीं पाएंगी। आप जिम (gym) जाकर व्यायाम करना शुरू कर सकते हैं। अगर आपके पास जिम जाने का समय नहीं है तो आपके लिए घर पर फ्री हैण्ड (free hand) व्यायाम करना ज़्यादा अच्छा रहेगा।

तनाव दूर करने के लिए ध्यान 
कई बार तनाव भी दिल का दौरा पड़ने का एक कारण होता है। आप अब नियमित रूप से ध्यान करके तनाव मुक्त वातावरण का निर्माण कर सकते हैं। ध्यान आपको तनाव से कोसों दूर रखता है।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.