ATP टूर्नामेंट चेन्नई से पुणे स्थानांतरित होने से अमृतराज बंधु दुखी बॉडी पर इन 7 जगहों पर है तिल है तो हो सकता है ये... मोर्ने मोर्केल ने वनडे क्रिकेट करियर को लेकर चिंता की व्यक्त ड्रग रैकेट में फंसा 'बाहुबली-2' का एक्टर सुब्बाराजू, SIT ने की पूछताछ पालनहारों के भामाशाह, आधार एवं विद्यालय अध्ययन प्रमाण पत्र एस एस ओ पोर्टल पर होंगे अपडेट नगर निगम चुनाव में बीजेपी को मिली करारी हार , दिग्गजों ने दिया इस्तीफा जानिए, गर्भावस्था के दौरान होने वाले शारीरिक परिवर्तन रशियन ओपन ग्रां प्रि बैडमिंटन चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में पहुंचे राहुल यादव सहकार जीवन बीमा योजना के तहत 79 वर्ष तक के किसानों को मिलेगा 10 लाख रुपये तक का बीमा कवर जल्द करे झारखंड पुलिस में ग्रेजुएट्स पदों पर आवेदन ऑस्ट्रेलिया के बेरोजगार क्रिकेटर तलाश रहे है इंडिया में रोजगार मोदी सरकार सीनियर सिटिजन के लिए नई पेंशन स्‍कीम एक साल में लें 60 हजार रुपये बैडमिंटन: भारत के समीर करेंगे यूएस ओपन की अगुआई, प्रणय- कश्यप भी शामिल ED ने मीसा भारती के CA के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट पाक सिंगर अली का निधन, दोस्त के घर मिली लाश अमित शाह ने ली मंत्रिमंडल सदस्यों की बैठक, तीन साल के कार्यकाल का लिया ब्यौरा अरबाज ने किया कंफर्म, दबंग 3 को डायरेक्ट नहीं करेंगे सब्बीर खान नोएडा: IPL खिलाडी परविंदर अवाना पर 5 बदमाशों ने किया हमला तीन दिवसीय दौरे पर जयपुर पहुंचे अमित शाह, हुआ शाही स्वागत, गूजे शाह, मोदी के नारे यूएस रियल स्टेट में निवेश करने के मामले में चीन ने भारत को पछाड़ा
प्लास्टिक में पैक फ़ूड का सेवन पुरुषों के लिए है खतरनाक!
sanjeevnitoday.com | Sunday, July 16, 2017 | 11:38:58 AM
1 of 1

नई दिल्ली। प्लास्टिक में पाए जाने वाले हानिकारक रसायनों से पुरुषों में गंभीर बीमारियां होने की आशंका रहती है। सूत्रों के अनुसार, एडिलेड विश्वविद्यालय व दक्षिण ऑस्ट्रेलियाई स्वास्थ्य एवं मेडिकल अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने 1,500 से ज्यादा पुरुषों में थैलेट्स नामक रसायन की मौजूदगी की संभावना की जांच की है। 


एडिलेड विश्वविद्यालय के सहायक प्रोफेसर जुमिन शी ने कहा कि परीक्षण किए गए पुरुषों में थैलेट्स की पहचान करीब हर (99.6 फीसदी) 35 साल व उससे ज्यादा आयु वाले लोगों के पेशाब के नमूने में पाया गया है। ऐसा प्लास्टिक के बर्तनों या बोतलों में रखे खाद्य पदार्थ को खाने से हुआ है। 


शी ने एक बयान में कहा, "हमने ज्यादा थैलेट्स स्तर वाले पुरुषों में दिल संबंधी बीमारियां, टाइप-2 मधुमेह व उच्च रक्त दाब को बढ़ा हुआ पाया है। "उन्होंने कहा, "हम अभी भी थैलेट्स के स्वतंत्र रूप से बीमारी से जुड़े होने से सटीक कारण को नहीं समझ सके हैं। हम मानव अंत:स्रावी प्रणाली पर रसायनों के प्रभाव को जानते हैं, जो हार्मोन के स्राव को नियंत्रित करते हैं, जो शरीर के वृद्धि, उपापचय व लैंगिक विकास व कार्य को नियमित करते हैं।"


शी ने कहा कि यह विशेष बात है कि पश्चिम के लोगों में थैलेट्स का स्तर ज्यादा है, क्योंकि वहां बहुत सारे खाद्य पदार्थो को अब प्लास्टिक में पैक किया जाता है। उन्होंने कहा कि पहले के शोध में पाया गया है कि जो सॉफ्ट ड्रिंक पीते हैं और पहले से पैक खाद्य सामग्री को खाते हैं, उनके पेशाब में स्वस्थ लोगों की तुलना में थैलेट्स की मात्रा ज्यादा पाई गई।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.