सीमा सुरक्षा बल ने अर्ध मैराथन 2017 का किया आयोजन, शहीदों के लिए दौड़ आयोजित उत्तर प्रदेश में कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या हिमाचल चुनाव को लेकर कांग्रेस ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची कि जारी LIVE: न्यूजीलैंड ने भारत को 6 विकेट से हराया, लाथम (103) और टेलर (95) रन की पारी खेली LIVE: रॉस टेलर- लाथम ने बढ़ाई टीम इंडिया की मुश्किले, न्यूजीलैंड जीत की ओर अग्रसर जोंक हर लेती है इंसानों का मर्ज, देती है सेहत का वरदान सामान्य स्थिति तभी होगी जब वापस लौटेंगे रखाइन : सुषमा स्वराज नौकरशाहों पर नकेल कसना भी जरूरी है LIVE: टीम इंडिया संकट में, रॉस टेलर और लाथम ने लगाया अर्धशतक भारत के सबसे बड़े बाइक सेलर्स की लिस्ट में होंडा दूसरे स्थान पर, हीरो पहले पर काबिज LIVE: रॉस टेलर-लाथम के बीच हुई अर्धशतकीय साझेदारी, स्कोर 140/3 हार्दिक पटेल ने ठुकराई राहुल की मुलाकात युगावतार बहाउल्लाह का द्विशताब्दी जन्मदिवस समारोह बड़े धुमधाम से मनाया LIVE: न्यूजीलैंड को तीसरा झटका, गुप्टिल (32) आउट, स्कोर 100 के करीब आईआईटी कानपुर ने टॉप 500 में बनाई अपनी जगह, मिला 201वां स्थान एशिया कप हॉकी: भारत ने मलेशिया को फाइनल में 2-1 से हराकर 10 साल बाद जीता ख़िताब भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टोलरेंस की नीति पर कायम राज्य सरकार : कटारिया रेलमंत्री पीयूष गोयल ने रेल व्यवस्था का किया औचक निरीक्षण LIVE: कुलदीप ने विलियमसन को भेजा पेवेलियन, स्कोर 65/2 LIVE: भारत को मिली पहली सफलता, मुनरो आउट, स्कोर 50 पार
क्या ई-सिगरेट पीना सेहत के लिए उतना ही घातक हैं जितना सिगरेट, जानिए आगे
sanjeevnitoday.com | Saturday, August 12, 2017 | 01:52:53 PM
1 of 1

नई दिल्ली। हाल ही के एक अध्ययन से पता चला है कि जो किशोर ई-सिगरेट का इस्तेमाल एक तरह के दिखावे के लिए करते हैं उनके अक्सर छह महीने के अंदर-अंदर भारी सिगरेट धूम्रपान पीने वालों में शामिल होने की संभावना होती है।
अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार 3,000 प्रतिभागियों पर किया गया, जो लॉस एंजिल्स क्षेत्र के 10 सार्वजनिक उच्च विद्यालयों के छात्र हैं।15 वर्ष की उम्र के इन टीन्स का उनके ई-सिगरेट के उपयोग के मुताबिक 2014 के पश्चात और छह महीने बाद किया गया।

यह भी पढ़े : चंडीगढ़ में नेहा धूपिया का हुआ एक्सीडेंट, मदद करने के बजाय सेल्फी और ऑटोग्राफ लेने नजर आए लोग
दक्षिणी कैलिफोर्निया केक स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए इस अध्ययन से पता चलता है कि जिन लोगों ने दिन में 10 बार से ज्यादा सिगरेट का सेवन किया है, उनका औऱ लोगों की तुलना में भारी धूम्रपान करने वाला बनने की संभावना ज्यादा रहती है। 15 वर्ष की उम्र इन टीन्स के लिए एक महत्वपूर्ण समय है क्योंकि इस समय ही अधिकतर धूम्रपान शुरू करते हैं। अध्ययन से पता चलता है कि किशोरों में से 20 प्रतिशत किशोर सिगरेट का छह महीनों तक धूम्रपान करते हैं, जबकि केवल 1 प्रतिशत ही ऐसे थे जो बहुत कम करते थे। जिस व्यक्ति की कश लेने को दौरान जितनी अधिक ताकत और तम्बाकू की मात्रा जितनी अधिक होगी, उतनी ही उसको उसकी आवश्यकता होगी।

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.