गुजरात चुनाव: आंतरिक गुटबाजी और पीएएएस की वजह से कांग्रेस की सूची में विलंब बुन्देलखण्ड को औद्योगिक हब बनाएगी योगी सरकार: मौर्य बद्रीनाथ के कपाट शीतकाल के लिए बंद पद्मावती, आईएफएफआई विवाद पर हंसल मेहता निराश ISL 2017: गोवा एफसी ने 3-2 से चेन्नईयन एफसी को चटाई धूल व्हाट्सएप पर पोस्ट डालना अधिकारी को पड़ा महंगा, गवानी पड़ी कुर्सी गांव में हो रही है राजपाल यादव की बेटी की शादी, बैंक मैनेजर है दामाद करुणामय संसार बनाने के लिए भारत-चीन को मिलकर करना होगा काम: दलाई लामा एशियन कबड्डी चैंपियनशिप: पुरुष व महिला की टीमें घोषित, हिमालय के 4 खिलाडी शामिल विश्व शौचालय दिवस : स्वच्छ भारत मिशन ने मनाया शौचालय दिवस VVS लक्ष्मण की ड्रीम टेस्‍ट टीम घोषित, जानिए टीम के 11 सदस्य बरेली पुलिस ने अपराध होने से पहले आरोपियों को किया गिरफ्तार प्रति व्यक्ति औसत GDP के लिहाज से भारत ने लगाई छलांग, पहुंचा 126 वें स्थान पर अंडर-19 एशिया कप में पाक को हराकर अफगानिस्‍तान बना चैम्पियन जिम्बाब्वे: रॉबर्ट मुगाबे की पार्टी प्रमुख पद से की छुट्टी, एमर्सन नांगाग्वा संभालेंगे कमान सरहदी नागरिकों ने राजस्थान की तर्ज पर एंट्री टैक्स को माफ करने की मांग उठाई ऐसा होगा राजस्थान पुलिस परीक्षा का पैटर्न, पढ़िए पूरी खबर आमिर व सैफ अली खान के अलावा करीना कपूर भी है लव जिहाद का शिकार मार्च 2018 तक कोई नई नियुक्ति नहीं: एसोचैम कांग्रेस और पाटीदार नेताओं के बीच आरक्षण पर बनी सहमति, आज उम्मीदवारों की पहली लिस्ट
इस मंदिर के भगवान को लगता है चाउमीन, नूडल्स का भोग, जानिए ऐसा क्यों..?
sanjeevnitoday.com | Thursday, October 20, 2016 | 04:58:47 AM
1 of 1

कोलकत्ता : आपने मंदिर में देवी देवताओं को फूल, फल, मेवा और मिठाईओं का भोग लगते तो देखा होगा। लेकिन क्या आपने अभी तक चाऊमीन-नूडल्स का भोग लगते हुए देखा है। शायद नहीं देखा होगा। आज आपको एक ऐसे मंदिर के बारे मे बता रहे हैं जहां देवी मां को चाऊमीन-नूडल्स का भोग लगाया जाता है। यही नहीं भक्‍तों को भी यहां प्रसाद के रूप मे चाऊमीन-नूडल्स ही दिया जाता है। जी हां, हम बात कर रहे है कोलकाता के टंगरा इलाके में काली मां के मंदिर की जहां प्रसाद के रूप में चाऊमीन, नूडल्स और फ्राइड राइस भक्तों में बांटा जाता है। यह मंदिर दूर-दूर तक बहुत ही प्रसिद्ध है। मां को चाइनीज व्यंजन का भोग लगाया जाता है इसलिए इस मंदिर का नाम अब चाइनीज काली मां हो गया है। वहीं इस मंदिर में आने वाले भक्त माता को चीनी व्यंजन जिनमें नूडल्स, चॉप्सी, राइस और वेजिटेबल भी शामिल हैं, का भोग लगाते हैं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

काली मां मंदिर के पीछे एक चीनी बच्चे का जुड़ाव...
 इस मंदिर की देखभाल 55 साल के इसोन चेन करते हैं। इस चाइनीज काली मां मंदिर के पीछे एक चीनी बच्चे का जुड़ाव भी है। दरअसल, पुजारी ने बताया कि इस मंदिर में काफी समय से बीमार चल रहे एक चीवी बच्चे को लाया गया। यहां आते ही उसकी बीमारी खत्म हो गई। जिसके बाद से ही चीनी लोगों का इस मंदिर पर काफी गहरा विश्वास हो गया। मंदिर की सबसे खास बात है कि यहां प्रणाम भी चीनी शैली में ही किया जाता है। हिंन्दू और चीनी सभ्यता के मेल का प्रतीक यह मंदिर देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र भी है। यह मंदिर 60 साल पुराना है। मंदिर में काली पूजा के दौरान काफी लोग मां के दर्शन के लिए आते हैं। इस मंदिर मे नवरात्रि और दीपावली के अवसर पर विशेष आरती का आयोजन होता है। जिसमे मंत्रोच्चारण और आरती हिंदू धर्म के अनुसार होती है।

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...

यह भी पढ़े: दिलचस्प..! लड़कियां न्यूड होकर करती हैं तेज गाड़ियों की स्पीड को कंट्रोल…

यह भी पढ़े : खुशियां बाँट रही फीमेल डॉक्टर.. न्यूड होकर करती है इलाज, मरीजों की लगी रहती हैं लंबी कतार !

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.