देश और दुनिया के इतिहास में 28 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं जानिए खीरे के स्वास्थ्यवर्द्धक और सौन्दर्यवर्द्धक गुण किशमिश स्वास्थ्य के लिए बड़ी ही लाभदायक लगातार ब्रैड के सेवन से स्वास्थ्य के लिए हानिकारक इस तरह करे प्याज का सेवन, होंगे अनेक फायदे रोजाना खाली पेट लहसुन खाने के फायदे जान दंग रह जाएंगे आप... अपहरण के बाद पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी अवैध शराब सहित तीन आरोपी गिरफ्तार स्वाइन फ्लू की दस्तक से हिल गया स्वास्थ्य विभाग व्यापार और घर में भी धर्म का पालन करना जरूरी मातृत्व एवं शिशु स्वास्थ्य के प्रति लोगों को जागरुक करने की जरुरत बच्चों के स्वास्थ्य की जांच करेगी मोबाइल हेल्थ टीम डॉ.पीके शर्मा ने कहा- स्वास्थ्य की तरह मिट्टी की जांच भी करवानी जरूरी प्रतापगढ़ जिले के कल्पेश राज सोनी को मिला ग्लोबल बिजनेस लीडरशिप अवार्ड राहुल जौहरी को एसजीएम से बाहर करने पर बीसीसीआई पदाधिकारियों को नोटिस SSC CGL 2017 के Admit Card जारी PM मोदी ने भारतीय महिला टीम से की मुलाकात, कहा- 125 करोड़ भारतीयों ने उठाया हार का बोझ ससुराल वालों की प्रताड़ना से परेशान युवक ने खाया जहर, मौत सभी पाठ्यपुस्तकें राज्य के SIRT द्वारा तैयार पाठ्यक्रम के अनुरूप हो: वासुदेव देवनानी सस्ते फ्लैट का झांसा देकर करोड़ों की ठगी करने वाला एक ग‌िरफ्तार
इस मंदिर के भगवान को लगता है चाउमीन, नूडल्स का भोग, जानिए ऐसा क्यों..?
sanjeevnitoday.com | Thursday, October 20, 2016 | 04:58:47 AM
1 of 1

कोलकत्ता : आपने मंदिर में देवी देवताओं को फूल, फल, मेवा और मिठाईओं का भोग लगते तो देखा होगा। लेकिन क्या आपने अभी तक चाऊमीन-नूडल्स का भोग लगते हुए देखा है। शायद नहीं देखा होगा। आज आपको एक ऐसे मंदिर के बारे मे बता रहे हैं जहां देवी मां को चाऊमीन-नूडल्स का भोग लगाया जाता है। यही नहीं भक्‍तों को भी यहां प्रसाद के रूप मे चाऊमीन-नूडल्स ही दिया जाता है। जी हां, हम बात कर रहे है कोलकाता के टंगरा इलाके में काली मां के मंदिर की जहां प्रसाद के रूप में चाऊमीन, नूडल्स और फ्राइड राइस भक्तों में बांटा जाता है। यह मंदिर दूर-दूर तक बहुत ही प्रसिद्ध है। मां को चाइनीज व्यंजन का भोग लगाया जाता है इसलिए इस मंदिर का नाम अब चाइनीज काली मां हो गया है। वहीं इस मंदिर में आने वाले भक्त माता को चीनी व्यंजन जिनमें नूडल्स, चॉप्सी, राइस और वेजिटेबल भी शामिल हैं, का भोग लगाते हैं।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

काली मां मंदिर के पीछे एक चीनी बच्चे का जुड़ाव...
 इस मंदिर की देखभाल 55 साल के इसोन चेन करते हैं। इस चाइनीज काली मां मंदिर के पीछे एक चीनी बच्चे का जुड़ाव भी है। दरअसल, पुजारी ने बताया कि इस मंदिर में काफी समय से बीमार चल रहे एक चीवी बच्चे को लाया गया। यहां आते ही उसकी बीमारी खत्म हो गई। जिसके बाद से ही चीनी लोगों का इस मंदिर पर काफी गहरा विश्वास हो गया। मंदिर की सबसे खास बात है कि यहां प्रणाम भी चीनी शैली में ही किया जाता है। हिंन्दू और चीनी सभ्यता के मेल का प्रतीक यह मंदिर देश-विदेश से आने वाले पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र भी है। यह मंदिर 60 साल पुराना है। मंदिर में काली पूजा के दौरान काफी लोग मां के दर्शन के लिए आते हैं। इस मंदिर मे नवरात्रि और दीपावली के अवसर पर विशेष आरती का आयोजन होता है। जिसमे मंत्रोच्चारण और आरती हिंदू धर्म के अनुसार होती है।

यह भी पढ़े: स्त्री में सम्भोग की इच्छा बढ़ाने के 4 सबसे आसान घरेलू उपाय...

यह भी पढ़े: दिलचस्प..! लड़कियां न्यूड होकर करती हैं तेज गाड़ियों की स्पीड को कंट्रोल…

यह भी पढ़े : खुशियां बाँट रही फीमेल डॉक्टर.. न्यूड होकर करती है इलाज, मरीजों की लगी रहती हैं लंबी कतार !

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.