loading...
पांच साल बाद 30 रुपए प्रति लीटर की दर से बिकेगा पेट्रोल सहारनपुर में अगर दोषियों को आड़े हाथ नहीं लिया गया तो जाम कर देंगे दिल्ली: भीम सेना सीनियर सैकण्डरी कला वर्ग का परीक्षा परिणाम शनिवार को बेहद खूबसूरत दिखने वाली इस हसीना ने रची थी खौफनाक साजिश, मिली फांसी की सजा यहां हर महीने लगभग 25 जानवरों की हो जाती है मौत, जानिए वजह अब चुनाव में नामांकन के लिए कर सकते है ऑनलाइन आवेदन भारत में लश्कर के 21 आतंकियों के आने की खबर, हाई अलर्ट जारी एक साथ आईं इतनी लाशें, 40 क्विंटल लकड़ी और एक हजार से ज्यादा कंडे से जल उठा श्मशान नारायण मूर्ति ने आईटी सेक्टर में कर्मचारियों को नौकरी से हटाए जाने पर जताया दुख किसान कृषि के साथ पशुपालन कर 12 मास पाएं रोजगार : जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री केजरीवाल कभी भी सत्येंद्र जैन से पल्ला झाड़ सकते है: कपिल मिश्रा आंध्र प्रदेश में दिनदहाड़े शख्‍स की हत्या, विडियो बनाते रहे लोग पर्यटन का दूसरा नाम आकर्षण: यूनुस खान सहारा समूह अपने तीन विदेशी होटलों की बिक्री के लिए कर रहा है बातचीत अनोखी परम्परा: यहां पर गोरा बच्चा पैदा करने पर किया जाता है ये काम... चैंपियंस ट्रॉफी 2017 : भारत के क्रिकेट योद्धा पहुचें इंग्लैंड, पहली जंग 1 जून से भारतीय लापता सुखोई-30 विमान का मिला मलबा, 2 पायलट थे सवार बेटे ने वृद्ध मां का गला घोंटकर की हत्या आज से भारत में बनी मर्सिडीज कारें हो जाएगी 7 लाख रुपए सस्ती यहां की इस अनोखी परम्परा के बारें में जानकर आप रह जाएंगे दंग
दुखद कहानी ! इस लड़की के साथ प्रकृति का ये कैसा न्याय, आज भी माँ-बाप की आंखे नम
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 06:45:20 AM
1 of 1

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की इस महिला की बहुत ही दुखद कहानी है एक ऐसे बीमारी है जो डॉक्टरो भी नही समज पाये पर डॉक्टर को खूब दिखया पर वो भी कुछ नहीं कर सके उसके परिवार ने जब एक रिपोर्ट में बतया की उसके आँख और एक नाक है थता उसके उसके मुंह के बाईं साइट छोटा सा छेद है, तो वो उसी जगह से खा पाती है। 21 साल की ये महिला न्यूरोफाइब्रोमैटॉसिस बीमारी से गंभीर रूप पीड़ित है, जो की सूजन और गांठ का एक कारण है और ये बीमारी आनुवंशिक स्थितियों में बहुत कम होती है

जन्म के समय से मरे और बच्चों से बिलकुल अलग

उसकी माँ अमीना से खास बातचीत में बतया की वो बहुत मोटी और भारी पैदा हुई थी और वो जन्म के समय से मरे और बच्चों से बिलकुल अलग देखा था और वो ठीक से आँखें नहीं खोल सकती थी जो जब ही मुझे एहसास हुआ की वो मरे बाकी बच्चों से अलग है। और ये भी बतया की उसको 6 महीने के लिया हॉस्पिटल में भर्ती करवाया और डॉक्टरों ने खूब परीक्षण भी किये पर उनका कुछ भी अन्त नही निकला अंत में हमको हार का सामना करना पड़ा। 21 साल की उम्र में कोलकाता, पश्चिम बंगाल में उसका स्कूल में कोई मित्र नहीं है, बतया जाता है की लेकिन वो अपने माता पिता वो अपने परिवार के साथ में बहुत खुश है।


यह भी पढ़े : 3 तलाक के विरोध में जज को लिख डाला खून से खत

यह भी पढ़े : पर्दा प्रथा ! भारत में इस तरह शुरुआत हुई पर्दा प्रथा की, बड़ी दिलचस्प है वजह

यह भी पढ़े: इस गांव में सुनसान पड़े है सभी बैंक और ATM, जानिए वजह

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

1 comments

  • Iqbal sheikh   02/12/2016

    Ya Allah bless him please

    (0)
Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.