बीजेपी की कार्यकारिणी बैठक में बोले पीएम मोदी मुकुल रॉय तृणमूल कांग्रेस से निलंबित, BJP में हो सकते हैं शामिल गडकरी 3 अक्टूबर को आंध्र प्रदेश में 4,468 करोड़ रुपये लागत की राजमार्ग परियोजनाओं का करेंगे शिलान्‍यास पीवी सिंधु को पद्म भषूण अवार्ड देने के लिए सिफारिश भेजी CBI कोर्ट के फैसले को राम रहीम ने हाईकोर्ट में दी चुनौती कंगारू टीम पर ढहा कहर, एश्टन एगर वनडे सीरीज से हुए बाहर वीडियो : राहुल गांधी ने गुजरात मे किया रोड शो, मोदी पर फिर साधा निशाना 'न्यूटन' को लेकर नया खुलासा- 'गणशत्रु' से मिलता-जुलता मूवी का पोस्टर रेलवे सुरक्षा बल 47 अतिरिक्‍त रेलवे स्‍टेशनों पर बाल सुरक्षा चलाएगा अभियान रोहिंग्या आतंकियों ने 28 हिन्दुओ को मारा, मिली सामूहिक कब्र: म्यांमार सेना वायुसेना प्रमुख हवाई में प्रशांत क्षेत्र के वायुसेना प्रमुखों की संगोष्‍ठी को संबोधित करेंगे टीम इंडिया ने की बादशाह कायम, ऐसा हुआ तो जल्द छिन सकता है नंबर 1 का ताज गुजरात मिशन पर बोले राहुल - इनके दिल में गरीबों का नहीं अमीरो का वास रेप केस में दिल्ली हाइकोर्ट ने महमूद फारूकी को किया बरी सीरीज हार पर स्मिथ ने कहा, एशेज श्रृंखला से पहले कुछ मैच में चाहता हूं विजय अखिलेश को मुलायम का आशीर्वाद, बोले अखिलेश - नेताजी जिंदाबाद, शिवपाल नदारद औरत ने बछड़े के साथ रचाई शादी, मानती है अपना पति 1.50 लाख रुपये तक की ये स्पोर्ट्स बाइक्स दिशा पाटनी ने करवाया हॉट फोटोशूट, देखें तस्वीरें यहां पर मिली विशालकाय मछली, देखने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़
कैशलेस गांव ! अब एटीएम से ही खरीदनी होगी सब्जी, डिजिटल बन रहा ये गांव
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 08:07:52 PM
1 of 1

ठाणे। ठाणे का धसई गांव पूरी तरह से कैशलेस होने वाला है। इस गांव के लोग व्यापारियों से लेकर सब्जी वाले तक को एटीएम कार्ड से पैसे का भुगतान करते हैं। जनधन योजना के तहत गांववाले एटीएम कार्ड के द्वारा पैसो का  भुगतान करते हैं। ठाणे जिले के धसई गांव के 10,000 निवासियों ने नकद लेन-देन को खत्म करने का फैसला करके एक नई मिसाल पेश की है। गांव में 40 कार्ड स्वाइप मशीनों है। मिड-डे की खबर के मुताबिक गांववाले नाई से लेकर डॉक्टर तक को एटीएम कार्ड से भुगतान करेंगे। एक राज्यसभा सांसद ने गांववालों के पूरी तरह से कैशलेस हो जाने के फैसले पर कहा था कि, किसानों को ऑनलाइन लेन-देन और एटीएम कार्ड के बारे में न कुछ पता है और न ही वह इसे इस्तेमाल करना नहीं जानते हैं। हालांकि अब गांववालों ने सांसद को एक मिसाल के तौर पर पहचान बनाकर गलत साबित कर दिया है।
 
सावरकर स्मारक संगठन के अध्यक्ष रंजीत सावरकर जो एक गैर सरकारी संगठन चलाते है उन्होनें गांव में कैशलेस यानि एटीएम कार्ड से भुगतान शुरु करने की पहल की थी। बैंक ऑफ बड़ौदा, और जन धन योजना की मदद से सभी ग्रामीणों के पास अब रूपे एटीएम कार्ड होगा। इस तरह गांव में एक नई  सुविधा का आगाज हुआ है। इस गांव में एटीएम कार्ड से भुगतान की सुविधा से करीब 400 व्यापारियों को फायदा होगा। बहरहाल यह देश का पहला कैशलेश गांव होगा। जहां लोग पैसो का लेन-देन और भुगतान एटीएम कार्ड से करते हैं।   बता दें कि प्रधानमंत्री जनधन योजना का मुख्य उद्देश्य भारत की वित्तीय सेवाओं जैसे बैंकिंग, पैसे के लेन-देन , लोन, बीमा और पेंशन को उपयोगी और सुविधाजनक बनाना था। इस अभियान को अगस्त 2014 में शुरू किया गया था, जिसमे अब तक लगभग 25.68 करोड़ जन धन खातों में 72,834.72 करोड़ रुपये जमा हुए हैं यह अपने आप में एक बड़ा कदम है। 

यह भी पढ़े: ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार

यह भी पढ़े: नाक में क्यों होते है दो छेद? जाने वजह

यह भी पढ़े: जिंदगी भर के लिए छिन गयी इस लड़की की हंसी... पढ़ना ना भूले

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.