loading...
loading...
loading...
भारत में क्रिकेट खेल साथ साथ धर्म भी प्रशासन की सख्ती के बावजूद फिर अवैध रूप से गर्भपात संकल्प कैंप में बच्चों को गुरुबाणी, गुरु इतिहास और रहित मर्यादा बारे जानकारी दी पेय पदार्थ के नाम पर दुकानदार परोस रहे है जहर भारत और विश्व के इतिहास में 27 जून की प्रमुख घटनाएं रेशा देवी ने कहा- युवाओं को नशे से दूर करने के लिए धर्म के साथ जोड़े दार्जिलिंग: भारी बारिश और बंद के माहौल में मुस्लिमो ने मनाया ईद-उल-फितर रमन शर्मा ने कहा- अापातकाल देश के इतिहास में काला दिन खाना खजाना प्रतियोगिता में महिलाओं ने दिखाया उत्साह कंडबाड़ी में NGO परिवर्तन द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन बालड़ी रक्षक योजना ने तोडा दम स्वास्थ्य को लेकर महिलाओं का उदासीन रवैया इफ्तार पार्टी है नौटंकी, इसकी हमे क्या जरूरत: गिरिराज सिंह 2018 से बदल सकता है वित्त वर्ष, इस साल नवंबर में पेश हो सकता है बजट WWC 2017: ऑस्ट्रेलिया का विजयी आगाज, इंडीज को दी 8 विकेट से शिकस्त दिल्ली के नामी ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी के वेयर हाउस में 37 लाख रुपये की लूट 3 जुलाई को भोपाल में होगा ग्लोबल स्किल पार्क का शिलान्यास: चौहान मोदी के सपोर्ट में न्यूड होने वाली हॉट एक्ट्रेस ने थामा एनसीपी का दामन बैंक मैनेजर पिता 6 माह से कर रहा था अपनी बेटी के साथ ऐसा शर्मनाक काम ... भोपाल में पंचायती राज मंत्रियों का सम्मेलन 27 जून को होगा आयोजित
2020 तक एड्स का रामबाण इलाज संभव, बनेगी जड़ से ख़त्म करने वाली दवा
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 12:55:43 PM
1 of 1

नई दिल्ली। एड्स फैलाने वाले वायरस एचआईवी को खत्म करने के लिए शोधकर्ताओं ने नई दवा तैयार करने का दावा किया है। दावे के मुताबिक शोधकर्ताओं की यह नई दवा जानलेवा एचआईवी वायरस का जड़ से खात्मा कर देगी। शोधकर्ताओं के मुताबिक महिला और पुरुष दोनों को शामिल करके एचवीटीएन 702 नाम का एक अध्ययन किया गया। जिसके तहत तैयार नई दवा का परीक्षण 5400 लोगों पर किया जाएगा। पहले दवा को सबसे ज्यादा उन हिस्सों में इस्तेमाल किया जाएगा जहां औसतन एक हजार लोग इस वायरस का शिकार हैं होते।


हो सकती है रामबाण इलाज
फिलहाल इस नई दवा के लिए शोधकर्ताओं ने दक्षिण अफ्रीका में ट्रायल भी शुरू कर दिया है। अगर परिणाम पक्ष में मिले तो यह नई दवा एचआईवी को खत्म में करने में रामबाण इलाज के तहत काम में आ सकती है।

2020 तक मिलेंगे परिणाम
रिपोर्ट्स के मुताबिक अगर यह दवा 60 फीसदी भी कारगर साबित होती है तो एचआईवी पीडित लोगों को वायरस से काफी निजात मिलेगी। फिलहाल इस नई दवा का परीक्षण किया जा रहा है, जिसके परिणाम 2020 तक मिलेंगे। बता दें कि एड्स के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए 1988 से हर साल 1 दिसंबर को विश्व एड्स दिवस मनाया जाता है।

यह भी पढ़े :चीन की विष कन्‍याएं ISIS और ब्रिटेन के लिए बन रही खतरा ...जानिए कौन है ये

यह भी पढ़े :बदनसीबी के आगे हार गयी माँ की ममता, बच्चे तक को बेचना पड़ रहा

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप
यह भी पढ़े :ये है दुनिया के सबसे पेचीदा 21 तथ्य जिनका जानना बेहद जरुरी... पढ़े एक बार



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.