देश और दुनिया के इतिहास में 24 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं नाशपाती के सेवन से होते है ये फायदे तुतला कर बोलते हैं तो करे आंवले का सेवन मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए लोगो को जागरूक किया पार्षद ने सेहत विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर क्षेत्र का दौरा किया किदवई में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजन स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के फैसले से इलाकावासियों की खुशी आधी-अधूरी स्वास्थ्य अधिकारियों की लापरवाही के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा के घटिया परिणाम पर मनोहर लाल ने जताई नराजगी सुमन महाराज ने कहा- क्षमा धर्म का प्राण और अराधना का सार है शिविर में डेढ़ सौ लोगों का स्वास्थ जांचा भारत को रूस बेचना चाहता है अपना सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान मिग-35 जूनियर पाइलेटों से भरवा रही है जमानती बांड जेट एयरवेज स्मैक बेचने के आरोप में दो तस्कर गिरफ्तार विश्व पैरा एथलीट: भारत एक स्वर्ण सहित पांच पदक के साथ रही टॉप 30 से बाहर भारत सरकार ‘मेक इन इंडिया के तहत बनाएगी सुपर कंप्यूटर WWC17: भारत के सपने हुए चकनाचूर, इंग्लैंड चौथी बार बनी वर्ल्ड चैंपियन मेलबर्न के फेडरेशन चौक पर भारतीय झंडा फहराएंगी ऐश्वर्या वर्ल्ड कप फाइनल LIVE: भारतीय महिला टीम लड़खड़ाई, वेदा के बाद गोस्वामी भी लोटी, score 208/7 चार वर्षीय मासूम बच्ची को चिमटो से दागने वाली दादी गिरफ्तार
रात में काम करने से घट सकती है उम्र।
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 06:22:25 AM
1 of 1

वाशिंगटन। एक ताजा शोध में बताया गया है कि पांच या इससे अधिक वर्षो तक बदल-बदल कर रात्रि पारी में काम करने वाली महिलाओं में ह्वदयरोग से जुड़ी समस्याओं के कारण मृत्युदर बढ़ा पाया गया, जबकि 15 वर्ष से अधिक समय तक काम करने वाली महिलाओं में फेफड़े के कैंसर से मृत्यु होने की दर में इजाफा देखा गया। लगातार रात्रि पारी में बदल-बदल कर काम करना स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक साबित हो सकता है और इसके कारण फेफड़े का कैंसर और ह्वदयरोग से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं, जो आपकी जल्द मौत का भी कारण बन सकती है। अध्ययन में महीने में कम से कम तीन पारीयां रात में करने वालों को शामिल किया गया। हारवर्ड मेडिकल स्कूल की सहायक प्राध्यापिका इवा शेर्नहैमर ने बताया, ''इस शोध के परिणाम रात्रि पारी में काम करने और स्वास्थ्य या लंबी आयु के बीच संभावित हानिकारक संबंधों के पूर्व सबूतों को प्रमाणित करते हैं।"

Image result for रात में काम करने से घट सकती है उम्र

मौत होने का खतरा 25 फीसदी अधिक पाया गया।
इस अमेरिकी संस्था से लगभग 75,000 नर्से पंजीकृत हैं। पाया गया कि छह से 15 वर्षो तक बदल-बदल कर रात्रि पारी में काम करने वाली नर्सो की मृत्यु दर 11 फीसदी अधिक रही। इनमें दिल की बीमारी से होने वाली मृत्यु की दर 19 फीसदी अधिक पाई गई। 15 या इससे भी अधिक वर्षो से रात्रि पारी में काम कर करने वाली महिलाओं में फेफड़े के कैंसर से मौत होने का खतरा 25 फीसदी अधिक पाया गया। यह अध्ययन 'अमेरिकन जर्नल ऑफ प्रीवेंटिव मेडिसिन के ताजा अंक में प्रकाशित हुआ। नींद और हमारी दैनिक जैविक क्रियाएं ह्वदय सर्केडियन सिस्टम दिल के स्वास्थ्य और कैंसर के ट्यूमर को बढऩे से रोकने में बेहद अहम होती हैं। इवा ने बताया, ''चूंकि दुनियाभर में रात्रि पाली में काम करने वाले कर्मचारियों की संख्या में तेजी से इजाफा हो रहा है, अत: यह अध्ययन संभवत: दुनिया में सबसे बड़े समूह से संबंधित अध्ययन है।" अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने अमेरिका में नर्सो के स्वास्थ्य संबंधी आंकड़ा रखने वाली संस्था नर्सेज हेल्थ स्टडी (एनएचएस) द्वारा दर्ज 22 वर्ष के आंकड़ों का विश्लेषण किया।

यह भी पढ़े : इस शख्स को फरारी कलेक्ट करने का है शौक, खरीद रखी हैं 330 करोड़ की कारें!

यह भी पढ़े :पति ने यौन संबंध बनाने से किया इन्कार, तो पत्नी ने किया ये...

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

यह भी पढ़े :इतने बड़े खतरनाक हादसे के बाद भी बच निकले ये दोनों बाप-बेटे, VIDEO



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.