संजीवनी टुडे

News

चलती कार में सामूहिक दुष्कर्म का लगाया था आरोप, पुलिस को सबूत नहीं मिलने पर आया नया मोड़

Sanjeevni Today 17-10-2016 21:37:22

रोहतक। रोहतक में कॉलेज छात्रा के साथ हुए गैंगरेप के मामले में सोमवार को कोर्ट में सुनवाई हुई। इसमें CCTV ने पकड़े गए 5 आरोपियों के खिलाफ जांच में कोई सबूत न मिलने की अर्जी दी, जिसके बाद कोर्ट ने पाचों को कस्टडी से रिलीज कर दिया। अगली सुनवाई 29 अक्टूबर निर्धारित की है।

JAIPUR : मात्र 155/- प्रति वर्गफुट प्लाट बुक करे, कॉल -09314166166

DNA रिपोर्ट भी आई थी निगेटिव....
न्यायिक हिरासत में 3 आरोपियों का DNA टेस्ट भी कराया गया था जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई थी। पहले पकड़े गए तीनों आरोपियों ने वारदात के दिन अपनी लोकेशन अलग-अलग जगह होने के सबूत भी पेश किए थे। SIT ने भी इसी ग्राउंड पर उन्हें डिस्चार्ज करने की अपील की थी।  वहीं होटल से पकड़े गए अन्य 2 आरोपियों के पक्ष में खुद दुष्कर्म पीड़िता ने बयान दिया था कि वे निर्दोष हैं।

सूत्रों के अनुसार- भिवानी की रहने वाली लड़की रोहतक के एक कॉलेज में B.COM में पढ़ती है। वह यहां किराए पर रह कर पढ़ाई कर रही थी।13 जुलाई 2016 की सुबह वो घर से कॉलेज के लिए निकली, लेकिन शाम को घर नहीं पहुंची। बाद में वह बेहोशी की हालत में रोहतक के सुखपुरा चौक पावर हाउस के पास झाड़ियों में पड़ी मिली। उसे सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां अगले दिन होश आया। लड़की और उसकी माँ ने आरोप लगाया था कि उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ है। कहा गया कि 3 साल पहले गैंगरेप करने वाले आरोपियों ने ही इस वारदात को अंजाम दिया। इस मामले में भिवानी निवासी जगमोहन, अमित, संदीप, मौसम, आकाश के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इनमें से जगमोहन, अमित और संदीप पुलिस को उस दिन की CCTV फुटेज सौंप चुके हैं, उनका कहना है कि वे वारदात के दिन रोहतक में नहीं थे। उनकी लोकेशन अलग-अलग जगह थी। इस केस में 2 आरोपी आकाश और मौसम अभी फरार हैं।

 

यह भी पढ़े : 30 साल तक बर्फ में दबे रहने के बावजूद भी जीवित निकला ये Toughest Animal

यह भी पढ़े : जानिये अपनी सेक्स लाइफ को कैसे बनाया जाये और भी इंटरेस्टिंग

यह भी पढ़े : इस महिला ने 1 मिनट में बदले इतने कपड़े, बनाया World Record

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 

Watch Video

More From crime

Recommended