संजीवनी टुडे

News

जन्म से ही कुछ लोगों के कान पर होता है छेद, जाने वजह

Sanjeevni Today 28-11-2016 13:55:29

नई दिल्ली। दुनिया में जन्म लेने वाले कुल लोगों में से कुछ ही ऐसे होते हैं जो अपने कान पर एक छेद के साथ पैदा होते हैं। यह छेद कई बार मुश्किल से ही दिखाई देता है। ऐसे लोग जिस चीज के साथ पैदा होते हैं, उसे प्रीयूरीक्यूलर साइनस कहते हैं। यूके में, सिर्फ 1 फीसदी लोगों के साथ ऐसा है। यूएस में यह फ्रीक्वेंसी और भी कम है और भारत सहित एशिया, अफ्रीका के हिस्सों में 4 से 10 फीसदी लोग इससे इफेक्टेड होते हैं।

यह छेद ग्रंथि, खरोंच या डिंपल होता है जो खास तौर से उन जगहों पर होता है जहां चेहरे और कान की नरम हड्डी मिलती है। प्रीयूरिक्यूलर साइनस तकनीकी रूप से एक अनुवांशिक बर्थ डिफेक्ट है जो सबसे पहले साइंटिस्ट वेन हेसिंगर ने 1864 मे डॉक्युमेंट किया था। उन्होंने इसे एक कान में ही पाया था लेकिन जिन लोगों के साथ ऐसा होता है, उनमें से 50 फीसदी लोगों के दोनों कान पर छेद देखा गया है।

अगर आप दुनिया की कुल आबादी का एक फीसदी हैं तो चिंता की कोई बात नहीं। यह किसी प्रॉब्लम की तरफ इशारा नहीं है बल्कि कुछ ऐसा है जिसे आसानी से खत्म किया जा सकता है। एंटीबायोटिक्स से इसे दूर किया जा सकता है। हालांकि अधिकतर मौकों पर साइनस को दूर करने के लिए सर्जरी की जरूरत पड़ती है।

यह भी पढ़े: ...तो लडकिया इस समय सबसे ज्यादा सोचती है सेक्स के बारे में

यह भी पढ़े: यह है दुनिया की 'एकमात्र कामसूत्र' की पाठशाला।

यह भी पढ़े: मनुष्यों के लिये अंग उगाएगी छिपकली की पूंछ!

यह भी पढ़े: चमत्कारी स्प्रे, इसे लगाने के बाद खिंची चली आएंगी लड़कियां..!

Watch Video

More From ajab-gjab

Recommended