लॉटरी का झांसा देकर 5 लाख की ठगी देश और दुनिया के इतिहास में 24 जुलाई की महत्वपूर्ण घटनाएं नाशपाती के सेवन से होते है ये फायदे तुतला कर बोलते हैं तो करे आंवले का सेवन मलेरिया व डेंगू से बचने के लिए लोगो को जागरूक किया पार्षद ने सेहत विभाग के अधिकारियों के साथ मिलकर क्षेत्र का दौरा किया किदवई में नि:शुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजन स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के फैसले से इलाकावासियों की खुशी आधी-अधूरी स्वास्थ्य अधिकारियों की लापरवाही के कारण स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित स्वास्थ्य विभाग और शिक्षा के घटिया परिणाम पर मनोहर लाल ने जताई नराजगी सुमन महाराज ने कहा- क्षमा धर्म का प्राण और अराधना का सार है शिविर में डेढ़ सौ लोगों का स्वास्थ जांचा भारत को रूस बेचना चाहता है अपना सबसे आधुनिक लड़ाकू विमान मिग-35 जूनियर पाइलेटों से भरवा रही है जमानती बांड जेट एयरवेज स्मैक बेचने के आरोप में दो तस्कर गिरफ्तार विश्व पैरा एथलीट: भारत एक स्वर्ण सहित पांच पदक के साथ रही टॉप 30 से बाहर भारत सरकार ‘मेक इन इंडिया के तहत बनाएगी सुपर कंप्यूटर WWC17: भारत के सपने हुए चकनाचूर, इंग्लैंड चौथी बार बनी वर्ल्ड चैंपियन मेलबर्न के फेडरेशन चौक पर भारतीय झंडा फहराएंगी ऐश्वर्या वर्ल्ड कप फाइनल LIVE: भारतीय महिला टीम लड़खड़ाई, वेदा के बाद गोस्वामी भी लोटी, score 208/7
मीरा जैसमिन: सेक्शुअल असॉल्ट करने वालों की एक ही दर्दनाक सजा, नपुंसक बना देना!
sanjeevnitoday.com | Monday, November 28, 2016 | 03:45:42 PM
1 of 1

मुंबई। साउथ इंडियन एक्ट्रेस मीरा जैसमिन ने कहा कि महिलाओं पर सेक्शुअल असॉल्ट करने वालों के लिए दर्दनाक सजा देने का एक ही रास्ता है, उन्हें 'नपुंसक' बनाना। वे एक्टर अनूप मेनन के साथ पेरूमबावूर में रेप और मर्डर की शिकार हुई एक दलित लड़की की मां के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस के  दौरान मीरा ने कहा, "रेप जैसे क्राइम से निपटने के लिए मौजूदा कानून पर्याप्त नहीं हैं।" 

ऐसे क्रिमिनल्स को, मीरा ने कहा, "रेप और महिलाओं का सेक्शुअल असॉल्ट करने वाले क्रिमिनल्स के लिए दर्दनाक सजा मिलनी चाहिए। ऐसे लोगों से निपटने का एक ही रास्ता है कि उन्हें नपुंसक बना देना चाहिए। 


जब ऐसी सजा क़ानून में होगी तो कोई किसी महिला को छूने की हिम्मत नहीं कर सकेगा। मीरा साउथ फिल्मों की फेमस एक्ट्रेस हैं। 2004 में बेस्ट एक्ट्रेस का नेशनल अवॉर्ड जीत चुकी हैं। 2001 से वे सतत साउथ इंडियन फिल्म इंडस्ट्री में काम कर रही हैं। 

वे मलयालम, तमिल, तेलुगु और कन्नड़ भाषाओं की कई फिल्मों में काम कर चुकी हैं। साल 2008 में एसोसिएशन ऑफ मलयालम मूवी आर्टिस्ट्स द्वारा मलयाली सिनेमा से अनऑफिशियली बैन कर दिया गया था।

यह भी पढ़े: लड़कियों के ये अंग उन्हें बनाते है और भी ज्यादा कामुक, बढ़ती है सेक्स की भावना... ये है वो अंग

यह भी पढ़े : लेडी टीचर इतनी हुई कामुक की बना लिए छात्रा से सम्बन्ध

यह भी पढ़े: शादी के बाद भी दूसरी औरतों के पीछे क्यों भागते है मर्द

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 


FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.