AC में रहने की आदत आपकी सेहत के लिए नुकसानदायक पनीर खाने का सही समय और फायदे घंटो तक गेम खेलना स्वास्थ्य के लिए खतरनाक कपूर के तेल से दूर करे डैंड्रफ की समस्या आपकी बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करेगा ये फेस पैक महिला सशक्तिकरण की प्रतीक हैं मिताली राज : शिवराज सिंह विश्व बैंक की टीम के सदस्यो ने की शिक्षा मंत्री देवनानी से मुलाकात 78 हजार निजी विद्यालयों के अप्रशिक्षित शिक्षकों को भी करनी होगी टीचर ट्रेनिंग प्रो कबड्डी लीग 2017: तमिल थलाइवाज और हरियाणा स्टीलर्स का मुकाबला 25-25 से रहा ड्रा बांग्लादेश में जाने ले रहा है बाढ़, 30 की मौत लाल किला पर रही राजस्थानियो की धूम, जयहिंद के साथ जय जय राजस्थान की रही गूंज... BCCI के शीर्ष अधिकारियों को हटाने की सीओए ने SC से की मांग हिजबुल मुजाहिदीन को अमेरिका ने विदेशी आतंकवादी संगठन किया घोषित INDvsSL: वनडे सीरीज में रोहित शर्मा बने उपकप्तान, कहा- मौके का उठाऊंगा फायदा जयपुर की कई कॉलोनियों में शुक्रवार को नहीं होगी बीसलपुर पानी की सप्लाई तिरंगे के सम्मान में नक्सली भी पीछे नहीं, दी सलामी टीम इण्डिया के ‘गब्बर’ श्रीलंका की सड़को पर ऑटो चलाकर उठा रहे है लुफ्त इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय का स्वच्छता पखवाड़ा सम्पन्न जम्मू-कश्मीर में 12 जगहों पर मारा छापा, सात लोगों को किया गिरफ्तार शारापोवा को मिली वाइल्ड कार्ड इंट्री, यूएस ओपन में खेलेगी पहला ग्रैंड स्लेम
भारत में मुसलमानों को असुरक्षित बताए जाने पर हुमा कुरैशी ने बोली यह बात
sanjeevnitoday.com | Sunday, August 13, 2017 | 04:51:30 PM
1 of 1

नई दिल्ली। बॉलीवुड में फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ से पहचान बनाने वाली अदाकारा हुमा कुरैशी हाल ही में अपनी फिल्म 'पार्टीशन: 1947' के प्रमोशन के लिए दिल्ली पहुंची आई थी। यहां एक प्रतिष्ठित अखबार को दिए गए इंटरव्यू में हुमा कुरैशी ने कहा कि मैं खुद एक लड़की हूं, हिंदुस्तानी हूं और यहां खुद को पूरी तरह महफूज महसूस करती हूं। 

बता दें कि हुमा ने यह बयान पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के कार्यकाल के अंतिम दिन दिए गए विदाई भाषण में मुसलमानों को असुरक्षित बताए जाने पर दिया है। हुमा ने आगे कहा कि भारत को आजाद हुए 70 वर्ष पूरे हो गए और इतने अच्छे माहौल में सकारात्म बातें ही अच्छी लगती हैं। भारत की आजादी के 70वें वर्ष में महिलाओं की आजादी की बात पर हुमा बोलीं, भारत में काफी सुधार हुआ है। बेसिक सुरक्षा तो सरकार लड़कियों को दे जा रही है मगर लड़कियों को खुद भी इतना मजबूत होना पड़ेगा कि उन्‍हें इसकी जरूरत न पड़े। दिल्‍ली विश्वविद्यालय से हिस्ट्री ऑनर्स में डिग्री हासिल कर चुकीं हुमा ने कहा, इतिहास मेरा हमेशा से पसंदीदा विषय रहा है। 

इस फिल्म की निर्देशक गुरिंदर चड्ढा ने बताया, मुझे यह फिल्‍म बनाने का आइडिया तब आया जब मैं अपने दादा का पुश्तैनी मकान खोजते हुए पाकिस्‍तान के झेलम शहर पहुंची थी। वहां मैंने बहुत लोगो से पूछा कि क्‍या वो लोग मेरे दादा को जानते हैं। तब पता चला कि वो सभी सन 1947 में ही वहां आकर बसे हैं। इससे मुझे अंदाजा लग गया था कि कैसे रातों रात एक पूरा शहर अपना घर-जमीन छोड़कर दूसरी जगह बस गए। उसी प्लॉट को लेकर यह फिल्म बनाई गई है। 

हुमा ने बताया, विभाजन के वक्त मेरे दादा जी पाकिस्‍तान छोड़ दि‍ल्ली में बस गए थे मगर मेरे पिताजी की दो बुआओं की शादी पाकिस्‍तान के एक शहर में हुई थी। पापा और दादा के भारत आ जाने के बाद उनका बुआ लोगों से मिलना-जुलना बंद हो गया था। काफी साल बाद दिल्ली में पापा के होटल में एक आदमी उन्हें ढूंढता हुआ आया और उसने उनका नाम पूछा। उसने बताया कि वह पापा की बुआ के बेटे हैं। सालों बाद पापा से मुझे जब इस बात का पता चला तो हम लोग काफी इमोशनल हो गए। 

यह भी पढ़े: दूल्हा हुआ बेहोश, दुल्हन ने रचाई देवर के साथ शादी

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188

 

 


FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.