प्रधानमंत्री कौन से धन से चुनाव जीते, यह बताने से कतरा क्यों रहे हैं - गहलोत शिक्षक ने की छात्रा से छेड़खानी 'कहानी 2' के सेट पर विद्या बालन को हो गया था इनसे प्यार सुब्रमण्यम स्वामी को अयोध्या मसले में पक्षकार मानने से मुस्लिम बोर्ड का इन्कार विदेश में नौकरियां आउटसोर्स करने वाली कंपनियों पर 35 फीसदी कर लगाने की ट्रंप ने दी चेतावनी.. राहिल शरीफ बने बहुराष्ट्रीय इस्लामी आतंकवाद विरोधी बल के प्रमुख दक्षिण अफ्रीका ने पहली गोल्फ टेस्ट श्रृंखला में भारत को हराया.. जाधवपुर विश्वविद्यालय के मुख्य छात्रावास में फांसी पर लटका मिला छात्र चंद्रबाबू नायडू की रिश्तेदार दस लाख के पुराने नोटों के साथ पकड़ी गई जर्मन कोच: भारत हाकी विश्व कप में खिताब का प्रबल दावेदार.. महेश भट्ट की बेटी को है यह बीमारी... लूट की योजना बनाते चार गिरफ्तार सम्मेलन में भारत और अफगानिस्तान ने आतंक के मुद्दे पर पाक को घेरा.. सरताज अजीज को स्वर्ण मंदिर मे घुसने से मना किया तीन बार प्यार हुआ, उन्हें बदले में प्यार करने वाली कोई नहीं मिली: करन जौहर जयललिता को पड़ा दिल का दौरा शरीफ हैं ट्रंप से मिलने को इच्छुक, अगले महीने कर सकते हैं अमेरिका यात्रा जेल से पैरोल पर आने के बाद वापस न जाने का आरोपी गिरफ्तार मोदी के बाद अब केजरीवाल भी करेंगे परिवर्तन रैली इंग्लैंड के खिलाफ पहले वनडे से पहले धोनी के लिये कोई मैच नहीं?
जज साहब "मैं जिन्दा हूँ, मेरे पति और सास निर्दोष है
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 10:46:36 PM
1 of 1

चित्रकूट। जज साहब "मैं जिन्दा हूँ, मुझे किसी ने नहीं मारा"! ये डायलॉग आपने सिर्फ फिल्मो में सुना होगा। लेकिन ये घटना हकीकत की है दरअसल राजापुर थाने के टिकरा गांव की निवासी ज्ञानवती (22) पत्नी उदित नारायण 5 अक्टूबर को ससुराल वालों से बिना बताए अपनी मर्जी से कहीं चली गई थी। 15 अक्टूबर को महिला के पिता मिलनवा ने राजापुर थाने में पति और चचेरी सास सुमित्रा के खिलाफ बेटी की हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया था। 

आपको पूरी जानकारी दे...
चित्रकूट जि‍ले के राजापुर थाना इलाके की ज्ञानवती की शादी 2015 में उदित नारायण से हुई थी।  ज्ञानवती 5 अक्टूबर 2016 को ससुराल में बिना बताए गायब हो गई थी। 18 अक्टूबर को कौशांबी जिले में यमुना नदी से एक महिला की लाश मिली। पुलिस ने पहचान के लिए ज्ञानवती के मायके वालों को बुलाया था। जिसको पिता मिलनवा ने अपनी बेटी का शव बताया था जिसके आधार पर आईपीसी की धारा-304 में दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। हत्या के आरोप में पति उदित नारायण और चचेरी सास सुमित्रा 40 दिनों से जेल में है। 

बुधवार को जब अदालत में केस की की सुनवाई चल रही थीं तो अचानक से ज्ञानवती आ गयी और कहा जज साहब में जिन्दा हूँ, मुझे किसी ने नहीं मारा, कृपया मेरे पति और सास सुमित्रा को छोड़ दीजिये। इससे जज सहित सभी हैरान रह गए और सैकड़ों की तादाद में वादकारी उस महिला को देखने लगे।

ज्ञानवती ने बताया...
घर में कुछ टेंशन की वजह से वह ससुराल छोड़कर अपनी रिश्तेदार के यहां चली गई थी। लेकिन जब उसने सुना कि उसकी हत्या के मामले पति को जेल भेज दिया गया है तो मुझे वापस आना पड़ा। जो महिला की लाश मिली, वह मेरी हमशक्ल होगी। इसी वजह से घर वालों को लगा कि लाश मेरी है और उन्होंने केस कर दिया।

इस घटना क्रम के बाद चित्रकूट सीजेएम सुभाष सिंह ने...
आनन-फानन सीओ राजापुर और वादी मिलनवा को तलब कर मुकदमे से आईपीसी की धारा-304 हटाने और वादी का सीआरपीसी की धारा-164 के तहत न्यायालय में बयान दर्ज कराने के अलावा निर्दोषों की रिहाई का फरमान सुनाया है। 

यह भी पढ़े: आतंकियों के लिए यमराज- ये महिला ''खूंखार आतंकियों का सिर कलम'' कर देती हैं।

यह भी पढ़े: इस 'गांव में खूबसूरत गौरी' के सामने फेल है- अभिनेत्रियां

यह भी पढ़े: ये कैसी महिला- लड़के के गले में कुत्तों की तरह पट्टा डाल, जानवर की तरह घुमा रही है।

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.