दिल्ली में दिवाली के मौके पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश कीउड़ाई धज्जियां उड़ाई रिलायंस जियो का धन धना धन पैक हुआ महंगा 399 की जगह देने होंगे 459 राष्ट्रपति कोविंद ने दीपावली की पूर्व संध्या पर देशवासियों को दी बधाई वीडियो : PM मोदी ने सेना के जवानों के साथ मनायी दिवाली मैरिलैंड के बिजनेस पार्क में हुई गोलीबारी में एक संदिग्ध बंदूकधारी गिरफ्तार कंधार में सेना के कैंप पर तालिबान ने किया आत्मघाती हमला, भारत ने दी कड़ी प्रतिक्रिया भारत से हमारी ऐसी दोस्ती 100 साल तक चले : अमेरिका मंदिर में दिया जलाने गये बालक को जिंदा जलाया... ईपीएफओ ने यूएएन को ऑनलाईन से आधार जोड़ने की नई सुविधा दी इस कुत्तें की कीमत जानकर आपके उड़ जाएंगे होश भ्रष्टाचार केस : नवाज शरीफ और उनकी बेटी-दामाद पर आरोप तय, हो सकती है जेल पिछले 80 सालों से दुकान में बंद है दुल्हन का मोम का पुतला यहां मन्नत पूरी होने पर श्रद्धालु कराते हैं बेड़नियों का नाच भारत में ही नहीं विश्व के इन देशो में भी मनाया जाता है दिवाली की त्यौहार पुराने सेकंड हैंड सोफे ने बना दिया लखपति, जानिए कैसे? दीपावली विशेष : जानिए, मां लक्ष्मी और गोवर्धन पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि इस्लामिक स्टेट ने चोर को दी ऐसी खौफनाक सजा, देखें फोटोज विद्युत एमनेस्टी योजना : 31 दिसम्बर तक बकाया राशि एकमुश्त जमा कराने पर ब्याज व पेनल्टी में छूट अब एक और बाबा पर लगा अवैध सम्बन्ध का आरोप, उठाया ये खौफनाक कदम... रंजिश के चलते औरत को अगवा कर किया गैंगरेप, फिर प्राइवेट पार्ट...
जज साहब "मैं जिन्दा हूँ, मेरे पति और सास निर्दोष है
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 10:46:36 PM
1 of 1

चित्रकूट। जज साहब "मैं जिन्दा हूँ, मुझे किसी ने नहीं मारा"! ये डायलॉग आपने सिर्फ फिल्मो में सुना होगा। लेकिन ये घटना हकीकत की है दरअसल राजापुर थाने के टिकरा गांव की निवासी ज्ञानवती (22) पत्नी उदित नारायण 5 अक्टूबर को ससुराल वालों से बिना बताए अपनी मर्जी से कहीं चली गई थी। 15 अक्टूबर को महिला के पिता मिलनवा ने राजापुर थाने में पति और चचेरी सास सुमित्रा के खिलाफ बेटी की हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया था। 

आपको पूरी जानकारी दे...
चित्रकूट जि‍ले के राजापुर थाना इलाके की ज्ञानवती की शादी 2015 में उदित नारायण से हुई थी।  ज्ञानवती 5 अक्टूबर 2016 को ससुराल में बिना बताए गायब हो गई थी। 18 अक्टूबर को कौशांबी जिले में यमुना नदी से एक महिला की लाश मिली। पुलिस ने पहचान के लिए ज्ञानवती के मायके वालों को बुलाया था। जिसको पिता मिलनवा ने अपनी बेटी का शव बताया था जिसके आधार पर आईपीसी की धारा-304 में दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। हत्या के आरोप में पति उदित नारायण और चचेरी सास सुमित्रा 40 दिनों से जेल में है। 

बुधवार को जब अदालत में केस की की सुनवाई चल रही थीं तो अचानक से ज्ञानवती आ गयी और कहा जज साहब में जिन्दा हूँ, मुझे किसी ने नहीं मारा, कृपया मेरे पति और सास सुमित्रा को छोड़ दीजिये। इससे जज सहित सभी हैरान रह गए और सैकड़ों की तादाद में वादकारी उस महिला को देखने लगे।

ज्ञानवती ने बताया...
घर में कुछ टेंशन की वजह से वह ससुराल छोड़कर अपनी रिश्तेदार के यहां चली गई थी। लेकिन जब उसने सुना कि उसकी हत्या के मामले पति को जेल भेज दिया गया है तो मुझे वापस आना पड़ा। जो महिला की लाश मिली, वह मेरी हमशक्ल होगी। इसी वजह से घर वालों को लगा कि लाश मेरी है और उन्होंने केस कर दिया।

इस घटना क्रम के बाद चित्रकूट सीजेएम सुभाष सिंह ने...
आनन-फानन सीओ राजापुर और वादी मिलनवा को तलब कर मुकदमे से आईपीसी की धारा-304 हटाने और वादी का सीआरपीसी की धारा-164 के तहत न्यायालय में बयान दर्ज कराने के अलावा निर्दोषों की रिहाई का फरमान सुनाया है। 

यह भी पढ़े: आतंकियों के लिए यमराज- ये महिला ''खूंखार आतंकियों का सिर कलम'' कर देती हैं।

यह भी पढ़े: इस 'गांव में खूबसूरत गौरी' के सामने फेल है- अभिनेत्रियां

यह भी पढ़े: ये कैसी महिला- लड़के के गले में कुत्तों की तरह पट्टा डाल, जानवर की तरह घुमा रही है।

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.