loading...
Airtel: ग्राहकों के लिए रोमिंग चार्जेज खत्म करने की तैयारी में POK में मुख्य न्यायाधीश का फरमान, 'अदालती कर्मचारियों का नमाज पढ़ने पर ही बढ़ेगा वेतन' अजहरूद्दीन ने भारतीय टीम को लेकर दिया बड़ा ये बयान, कहा... बेहतर फ्रंट कैमरा से लैस ये हैं टॉप 5 बजट स्मार्टफोन्स, कीमत 7000 रुपये से भी कम, जानिए! ...तो अब ये भूमिका निभाना चाहते हैं विवेक कमजोरी रुख के साथ हुई एशियाई बाजारों की शुरुआत शराबबंदी के बाद महागठबंधन सरकार का पहला बजट आज, बुनकरों के लिए हो सकता है बड़ा ऐलान विजय हजारे ट्राफी में ईडन गार्डन्स पर धोनी ने खेली आकर्षक शतकीय पारी ओलांद ने ट्रंप को बातों-बातों में सुनाई खरी-खोटी फिल्म 'इत्तफाक' में जल्द नजर आएंगी ये जोड़ी अमेजन इंडिया पर माइक्रोमैक्स के हैंडसेट्स पर जबरदस्त ऑफर,जानिए! राज्य में इस्पात संयंत्र की स्थापना के लिए सौर ऊर्जा संयंत्र लगाएगी आर्सेलर-मित्तल व्हाइट हाउस स्थित ओवल ऑफिस में पहली बार ट्रंप से मिले भारतीय राजदूत सरना ISIS में शामिल भारतीय युवक की ड्रोन हमले में मौत 'किक 2' एमी जैक्सन नहीं बल्कि नजर आएंगी ये एक्ट्रेस रिलायंस जियो यूजर ने इस सेवा को समय रहते सब्सक्राइब नहीं किया तो ये होगा! 28 फरवरी को रहेंगी सभी बैंको की हड़ताल अखिलेश ने मोदी पर साधा निशाना- PM कब करेंगे काम की बात चुनाव विशेष: पूर्वांचल को अलग राज्य का दर्जा दिलवाएगी मायावती आज का राशिफल (27 फरवरी 2017,सोमवार)
जज साहब "मैं जिन्दा हूँ, मेरे पति और सास निर्दोष है
sanjeevnitoday.com | Thursday, December 1, 2016 | 10:46:36 PM
1 of 1

चित्रकूट। जज साहब "मैं जिन्दा हूँ, मुझे किसी ने नहीं मारा"! ये डायलॉग आपने सिर्फ फिल्मो में सुना होगा। लेकिन ये घटना हकीकत की है दरअसल राजापुर थाने के टिकरा गांव की निवासी ज्ञानवती (22) पत्नी उदित नारायण 5 अक्टूबर को ससुराल वालों से बिना बताए अपनी मर्जी से कहीं चली गई थी। 15 अक्टूबर को महिला के पिता मिलनवा ने राजापुर थाने में पति और चचेरी सास सुमित्रा के खिलाफ बेटी की हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया था। 

आपको पूरी जानकारी दे...
चित्रकूट जि‍ले के राजापुर थाना इलाके की ज्ञानवती की शादी 2015 में उदित नारायण से हुई थी।  ज्ञानवती 5 अक्टूबर 2016 को ससुराल में बिना बताए गायब हो गई थी। 18 अक्टूबर को कौशांबी जिले में यमुना नदी से एक महिला की लाश मिली। पुलिस ने पहचान के लिए ज्ञानवती के मायके वालों को बुलाया था। जिसको पिता मिलनवा ने अपनी बेटी का शव बताया था जिसके आधार पर आईपीसी की धारा-304 में दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। हत्या के आरोप में पति उदित नारायण और चचेरी सास सुमित्रा 40 दिनों से जेल में है। 

बुधवार को जब अदालत में केस की की सुनवाई चल रही थीं तो अचानक से ज्ञानवती आ गयी और कहा जज साहब में जिन्दा हूँ, मुझे किसी ने नहीं मारा, कृपया मेरे पति और सास सुमित्रा को छोड़ दीजिये। इससे जज सहित सभी हैरान रह गए और सैकड़ों की तादाद में वादकारी उस महिला को देखने लगे।

ज्ञानवती ने बताया...
घर में कुछ टेंशन की वजह से वह ससुराल छोड़कर अपनी रिश्तेदार के यहां चली गई थी। लेकिन जब उसने सुना कि उसकी हत्या के मामले पति को जेल भेज दिया गया है तो मुझे वापस आना पड़ा। जो महिला की लाश मिली, वह मेरी हमशक्ल होगी। इसी वजह से घर वालों को लगा कि लाश मेरी है और उन्होंने केस कर दिया।

इस घटना क्रम के बाद चित्रकूट सीजेएम सुभाष सिंह ने...
आनन-फानन सीओ राजापुर और वादी मिलनवा को तलब कर मुकदमे से आईपीसी की धारा-304 हटाने और वादी का सीआरपीसी की धारा-164 के तहत न्यायालय में बयान दर्ज कराने के अलावा निर्दोषों की रिहाई का फरमान सुनाया है। 

यह भी पढ़े: आतंकियों के लिए यमराज- ये महिला ''खूंखार आतंकियों का सिर कलम'' कर देती हैं।

यह भी पढ़े: इस 'गांव में खूबसूरत गौरी' के सामने फेल है- अभिनेत्रियां

यह भी पढ़े: ये कैसी महिला- लड़के के गले में कुत्तों की तरह पट्टा डाल, जानवर की तरह घुमा रही है।

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.