सीमा सुरक्षा बल ने अर्ध मैराथन 2017 का किया आयोजन, शहीदों के लिए दौड़ आयोजित उत्तर प्रदेश में कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या हिमाचल चुनाव को लेकर कांग्रेस ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची कि जारी LIVE: न्यूजीलैंड ने भारत को 6 विकेट से हराया, लाथम (103) और टेलर (95) रन की पारी खेली LIVE: रॉस टेलर- लाथम ने बढ़ाई टीम इंडिया की मुश्किले, न्यूजीलैंड जीत की ओर अग्रसर जोंक हर लेती है इंसानों का मर्ज, देती है सेहत का वरदान सामान्य स्थिति तभी होगी जब वापस लौटेंगे रखाइन : सुषमा स्वराज नौकरशाहों पर नकेल कसना भी जरूरी है LIVE: टीम इंडिया संकट में, रॉस टेलर और लाथम ने लगाया अर्धशतक भारत के सबसे बड़े बाइक सेलर्स की लिस्ट में होंडा दूसरे स्थान पर, हीरो पहले पर काबिज LIVE: रॉस टेलर-लाथम के बीच हुई अर्धशतकीय साझेदारी, स्कोर 140/3 हार्दिक पटेल ने ठुकराई राहुल की मुलाकात युगावतार बहाउल्लाह का द्विशताब्दी जन्मदिवस समारोह बड़े धुमधाम से मनाया LIVE: न्यूजीलैंड को तीसरा झटका, गुप्टिल (32) आउट, स्कोर 100 के करीब आईआईटी कानपुर ने टॉप 500 में बनाई अपनी जगह, मिला 201वां स्थान एशिया कप हॉकी: भारत ने मलेशिया को फाइनल में 2-1 से हराकर 10 साल बाद जीता ख़िताब भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टोलरेंस की नीति पर कायम राज्य सरकार : कटारिया रेलमंत्री पीयूष गोयल ने रेल व्यवस्था का किया औचक निरीक्षण LIVE: कुलदीप ने विलियमसन को भेजा पेवेलियन, स्कोर 65/2 LIVE: भारत को मिली पहली सफलता, मुनरो आउट, स्कोर 50 पार
बांझपन अस्पताल में पुलिस का छापा, बंधक 46 सरोगेट मदर्स को बचाया
sanjeevnitoday.com | Sunday, June 18, 2017 | 07:36:09 PM
1 of 1

हैदराबाद। हैदराबाद पुलिस ने एक बड़े सरोगेसी रैकेट का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने बंजारा हिल्स इलाके में एक अस्पताल से 46 सरोगेट मदर्स बचाया है। हैदराबाद पुलिस ने शनिवार को बंजारा हिल्स में साई किरण बांझपन अस्पताल में छापा मारा जहां से करीब 46 गर्भवती महिलाअों को बचाया।

 

बताया जा रहा है कि प्रत्येक महिलाअों के सरोगेसी के बदले 2.5 से 3.5 लाख रुपए दिया जाता है। इस गतिविधि में शामिल ज्यादातर महिलाएं दिल्ली, नागालैंड, दार्जिलिंग, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की निवासी हैं। डीपीसी टास्क फोर्स लिम्बा रेडी के बताया कि जिला चिकित्सा अधिकारी (डीएमओ) की सहायता से छापा मारा गया। अस्पताल में 46 गरीब महिलाअों को पैसे का लालच देकर सरोगेसी के लिए रखा गया था।

अस्पताल के दस्तावेजों का सत्यापन करने में काफी अनियमितताएं पायी गई। अस्पताल प्रबंधन बिना किसी सरोगेट पंजीकरण के अवैध तरीके से ये सब कर रहा है। इतना ही नहीं अस्पताल प्रबंधन महि्लाअों को बाहर जाने की इजाजत भी नहीं देता, उन्हें अवैध तरीके से अस्पताल में नौ महीने तक रहने को मजबूर कर दिया जाता है। अस्पताल के पास कोई लाइसेंस नहीं है।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.