पेटीएम मॉल `मेरा कैशबैक सेल' में खरीद पर आकर्षक इनाम आज सिनेमाघरों में 'हसीना पारकर' सहित दस्तक देंगी ये चार फिल्मे नेपाल चीन के साथ 13 और एंट्री प्वाइंट्स खोलेगा पेट्रोल-डीज़ल पर लगने वाला वैट बिलकुल भी कम नहीं होगा: जयंत मलैया Video: ढिंचैक पूजा का नया गाना 'बापू दे दे थोड़ा कैश' हुआ रिलीज साइबर अपराध रोकने के लिए यह कदम उठाएगी सरकार: गृह मंत्री पाकिस्तान की गोलाबारी का भारतीय जवानो ने दिया मुंहतोड़ जवाब इकबाल कासकर का बड़ा खुलासा- फिलहाल पाकिस्तान में है दाऊद इब्राहिम! पीएम मोदी आज वाराणसी दौरे पर, कई विकास परियोजनाओं की करेंगे शुरूआत राम रहीम के बाद अब फलाहारी बाबा पर दुष्कर्म का अपराध दर्ज कीकू शारदा: पहले से भी ज्यादा दमदार तरीके से होगी 'द कपिल शर्मा' की वापसी विद्रोह और आतंकवाद के अभियान का पाकिस्तान लगातार हो रहा है शिकार: खकान अब्बासी ...तो हैटट्रिक से पहले कुलदीप ने इस खिलाडी से पूछा था 'कैसी गेंद डालूं' सोना 250 रुपये और चांदी 600 रुपये फिसली अपराधों को जड़ से समाप्त करने के लिए एक्शन प्लान तैयार करें अधिकारी: आराधना शुक्ला बनर्जी सरकार को जोर का झटका, मोहर्रम के दिन भी होगा दुर्गा विसर्जन डीपीसी: विद्यार्थियों की सुरक्षा के लिए शिक्षकों को दिलाएंगे शपथ हम पर दर्ज नहीं है अपराध यस बैंक ने की 2500 कर्मचारियों की छंटनी, डिजिटलीकरण बना कारण देश और दुनिया के इतिहास में 22 सितंबर की महत्वपूर्ण घटनाएं राशिफल : 22 सितंबर: कैसा रहेगा आपके लिए शुक्रवार का दिन, जानने के लिए क्लिक करें
शहरों में अपराध बढ़ा पुलिस रोकने में नाकाम
sanjeevnitoday.com | Friday, September 15, 2017 | 07:56:14 AM
1 of 1

नई दिल्ली। शहर की कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने और अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए अधिकारियों के दावे और पुलिस की लापरवाही की भेंट चढ़ते दिखाई दे रहे है। दफ्तरों में बैठकर घटनाओं पर काम अभिलेखों तक सीमित है। अपराधी सड़कों पर स्नैचर, तो बंद मकानों में धावा बोलकर लाखों का सामान समेटने वाले चोर जनता की मुसीबत बनें हुए है। पुलिस की कार्रवाई मौका मुआयना से शुरू होकर मुकदमा दर्ज करने तक सीमित है। 

यह भी पढ़े: अपनी जान दांव पर लगाकर इस शख्स ने किया कुछ ऐसा...

टनकपुर हाईवे से सटे अवध नगर कॉलोनी में असिस्टेंट ट्रेजरी अफसर के मकान से पांच लाख की चोरी की गई। इसका आज तक खुलासा न हो सका। पुलिस घटना के दिन के बाद से आज तक पीड़ित से संपर्क करने भी नहीं पहुंची।  चोरों की तस्वीर कैमरे में कैद हुई, जिसके बाद भी कोतवाली पुलिस कोई सुराग नहीं जुटा सकी। सुधार के बजाए कोतवाली पुलिस और लापरवाह हो गई। 

चोरी की बढ़ती वारदातों को लेकर सीओ सिटी धर्म सिंह मार्छाल ने सर्किल स्तर से पुराने रिकार्ड खंगालकर एक सूची तैयार की है। जिसमें पूर्व में चोरी की वारदातों में जेल भेजे जा चुके 68 अपराधियों के नाम शामिल किए गए है। इसमें सिपाही दरोगा लगाकर कार्रवाई के लिए कहा गया है। इसमें सदर कोतवाली के 31, गजरौला के 11 और 26 अपराधी सुनगढ़ी क्षेत्र के रहने वाले है। इनकी सूची थानाध्यक्षों को देकर उनका सत्यापन कराने की जिम्मेदारी दी गई है।

ये भी पढ़े : देश और दुनिया के इतिहास में 15 सितंबर की महत्वपूर्ण घटनाएं

इसके अलावा लूट की वारदातों में भी दरोगाओं को पुराने अपराधियों की तस्दीक का जिम्मा दिया है। पुराने अपराधियों की सूची बनाकर थानाध्यक्षों को सत्यापन के लिए दी गई है। उनकी वर्तमान स्थिति, गतिविधि समेत कई बिंदुओं पर रिपोर्ट 16 सितंबर तक मांगी गई है। इसके आधार पर सुरागरसी कराई जा रही है। अगर नियत समय पर रिपोर्ट नहीं मिलती या फिर यह साबित होता है कि दफ्तरों में बैठकर रिपोर्ट बनाई गई है। ऐसे में संबंधित पुलिसकर्मी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

NOTE: संजीवनी टुडे Youtube चैनल सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करे !

जयपुर में प्लॉट ले मात्र 2.20 लाख में: 09314188188



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.