आज का राशिफल (18 जनवरी 2017) सुल्तान कुतबुद्दीन ऐबक का इतिहास ये है ऐसा देश जहां मर्द करते है महिलाओ की गुलामी.. जानिये बंदर को भी टीवी देखने में आता है मजा... भारत के महान शहीदों और वीरो से संबंधित जानकारी और तथ्य ...तो जियो यूजर्स को 31 मार्च 2017 के बाद भी मिल सकती है फ्री सेवा इसलिए लिया भगवान श्री गणेश ने विकट अवतार बाप रे! इतनी ठंड की बर्फ में लोमड़ी तक जम गई... OMG यह है अजीबोगरीब परम्परा : यहाँ हजारों लोगों के बीच भस्म हुआ मंदिर... रिकार्ड बनाकर भी न्यूजीलैंड से हारा बांग्लादेश डि'विलियर्स ने अटकलों पर लगाया विराम, नहीं लेंगे किसी भी फॉर्मेट से सन्यास भूमि अधिग्रहण के खिलाफ हिंसक आंदोलन, फायरिंग में एक की मौत 9 बाइक चोर आठ बाइक के साथ रंगे हाथ पकडे गए... हार्दिक ने सरकार को ललकारा, कहा- आरक्षण नहीं देंगे तो छीन कर लेंगे ट्रेलर रिलीज : बोल्डनेस का सबूत देती है 'माया' रिश्वत लेते महिला कर्मी रंगेहाथ गिरफ्तार भारत अकेले शांति के रास्ते पर नहीं चल सकता: मोदी नहीं रहे चांद पर जाने वाले आखिरी व्यक्ति एक वीडियो ने रातों-रात बना दिया स्टार पाक सिंगर को... साईकिल को मिला हाथ का साथ, यूपी में महागठबंधन का फार्मूला तय: कांग्रेस 80, सपा 280 व आरएलडी को 20 सीटें
फाइनेंस नहीं चुकाने और चेक बाउंस का आरोप : दो लाख 89 हजार का जुर्माना, तीन माह कैद की सजा
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 08:56:40 PM
1 of 1

छतरपुर। न्यायिक अधिकारी प्रथम श्रेणी सदाशिव दांगौड़े की अदालत ने मंगलवार को धोखाधड़ी करने वाले एक आरोपी को दोषी करार देते हुए आरोपी के ऊपर दो लाख 89 हजार 605 रुपये का जुर्माना लगाकर तीन माह की कैद की सजा दी है।

एडवोकेट लखन राजपूत ने बताया...
महेन्द्रा एण्ड महेन्द्रा फाइनेंशियल सर्विसेस लिमिटेड शाखा छतरपुर के मैनेजर जीतेन्द्र मिश्रा ने कोर्ट में एक मामला पेश किया था, कि 21 अप्रैल 2016 को गणपत पुत्र मुन्ना सिंह निवासी कर्रा ने तीन लाख 15 हजार रुपए का फाइनेंस लिया था। इसने फाइनेंस ट्रैक्टर लेने के लिए कराया था। इस ऋण राशि का भुगतान गणपत को किस्तों में अदा करना था। गणपत से किश्ते निर्धारित समय पर नहीं दी  गयी। तब गणपत ने एक लाख 74 हजार 661 रुपए चुकाने के लिए चैक दिया। गणपत के खाते में पर्याप्त धनराशि न होने पर बैंक ने चैक को बाउंस कर दिया। नोटिस देने पर भी गणपत ने राशि का भुगतान नहीं किया।

अदालत ने आरोपी गणपत को आइपीसी की धारा 138 के तहत दोषी ठहराया। और गणपत के ऊपर दो लाख 89 हजार 605 रुपये का जुर्माना लगाया। साथ ही तीन माह की कैद की सजा सुनाई। जुर्माने  की राशि में से दो लाख 84 हजार 605 रुपये बतौर प्रतिकर फाइनेंस कम्पनी को देने का भी आदेश दिया।

यह भी पढ़े : OMG! उम्र 10 साल, वजन 192 Kg... इतना मोटा की दूर-दूर से देखने आते है लोग

यह भी पढ़े....पकडे गए फिल्मों को लीक करने वाले मुन्नाभाई

यह भी पढ़े : ऐसा केवल india में ही हो सकता है... देशी जुगाड़ देख मुस्कुरा देंगे आप !

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.