संजीवनी टुडे

News

उत्तराखंड से लेकर मेरठ, दिल्ली और NCR भूकंप के खतरनाक जोन चार में: भू-वैज्ञानिक

Sanjeevni Today 07-12-2017 05:17:00

नई दिल्ली। मेरठ सहित दिल्ली के आस-पास के इलाकों नोएडा, सहारनपुर,में बुधवार रात करीब 8:45 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप के इन झटकों के बाद भू-वैज्ञानिकों ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी। ये झटके नोएडा में ही नहीं बल्कि दिल्ली समेत हरियाणा और उत्तराखंड में भी महसूस किए गए। 

रात करीब 8:52 पर आए भूकंप की तीव्रता रिएक्टर स्केल पर 5.4 बतार्इ गई। हालांकि भूकंप का केंद्र उत्तराखंड के रुद्र प्रयाग में पाया गया। हालांकि नोएडा में भूकंप से किसी भी तरह की हानि नहीं हुर्इ लेकिन झटकों से लोगों में एक दहशत सी बैठ गर्इ। 
भू-वैज्ञानिक डा0 कंचन सिंह के अनुसार उत्तराखंड से लेकर मेरठ, दिल्ली और एनसीआर भूकंप के सबसे खतरनाक जोन चार में है। उन्होंने बताया कि चूंकि ये क्षेत्र हिमालय का निचला हिस्सा है। यहां भूमि के करीब 5 किमी की सिस्मेसिक प्लेटों के बीच आपस में काफी गैप आ चुका है। इसका कारण भूमिक्षरण और तेजी से हो रहा वृक्षों का कटान है। इसके अतिरिक्त निर्बाध गति से भूमि से पानी का दोहन भी भूकंप का कारण है।

जिसके कारण इन प्लेटों के बीच गैप के कारण ये आपस में टकराती रहती हैं। जिसके कारण इन क्षेत्रों में पांच से सात रिएक्टर पैमाने के भूकंप आने संभावना हमेशा बनी रहती है। एनसीआर के मैदानी इलाकों में तो तीन से चार रिएक्टर स्केल के भूकंप तो यदा कदा आते रहते हैं चूंकि ऐसे भूकंपों की समय सीमा काफी कम होती है इसलिए ये महसूस नहीं हो पाते।

चौधरी चरण सिंह विवि में मौजूद मौसम विज्ञान विभाग और भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार इस भूकंप की डेप्थ भूमि से दस किमी भीतर रही। इंडिया मेटालॉजिकल डिपार्टमेंट के अनुसार इसका सीधा मतलब हुआ कि 5.5 रिक्टर स्केल पर भूकंप की जो तीव्रता थी वह आने वाले समय के लिए चेतावनी है। इस भूकंप के बाद मौसम विज्ञान विभाग भी सचेत हो गया है।

Watch Video

More From national

Recommended