loading...
चॉकलेट बनी विवेक ओबेराय की कमजोरी कश्मीर समस्या के स्थायी निदान का रोडमैप तैयार है: राजनाथ सिंह पूर्व Miss Pakistan शांजे हयात, आज कल चर्चाओं में OMG जब पैदा होने के चंद मिनट बाद ही चलने लगा ये नवजात शिशु, वीडियो वायरल घृणित युद्ध' का सामना कर रही भारतीय सेना को नये तरीके से लड़ने की जरूरत है: बिपिन रावत नारीवाद के प्रति लोगों की धारणा बदली: हुमा कुरैशी 7 दशकों से खतरा बने पाक के खिलाफ हमारी रक्षा तैयारी सर्वोच्च होनी चाहिए: जेटली विन्ध्य महोत्सव से रीवा को मिली नई पहचान, पर्यटन गैलरी का हुआ शुभारंभ किया बॉलीवुड की 'देसी गर्ल' को मिलेगा दादा साहेब फाल्के एकेडमी अवॉर्ड Ind Vs NZ LIVE: भारत ने न्यूजीलैंड को पहले अभ्यास मैच में किया पराजित, डकवर्थ लुईस नियम से हुआ फैसला सन् 2022 तक किसानों की आय में होगा दुगना इजाफा : राधामोहन सिंह लड़की का लिव इन में रहना घर वालो को लगा नागवार,उतारा मौत के घाट आर्सनल ने चेल्सी को पराजित कर एफए कप का 13वीं बार जीता खिताब गोकुल ग्राम की तर्ज पर ‘गिर गाय अभ्यारण्य’ स्थापित करने को मिली मंजूरी जन्म के कुछ ही मिनटों बाद अपने पैरों पर चला बच्चा,वीडियो वाइरल 11 साल की लड़की ने अपने टीचर्स को दी नसीहत,जानिए.... जिम्नास्टिक खेल में लगातार तीन ओलंपिक्स खेलों में भारतीय टीम का कैप्टन अनंत राम को मिला सम्मान एमजेएसए में जल संरचनाओं के निर्माण में दे जोर : यूनुस खान थाना शहर क्षेत्र में नाबालिग लड़की के साथ लड़का फरार Ind Vs NZ LIVE: विराट ने जड़ा अर्धशतक, बारिश ने मैच में डाली बाधा, कोहली-धोनी क्रीज पर
100 अरब डॉलर का होगा सस्ते मकानों का बाजार
sanjeevnitoday.com | Monday, October 17, 2016 | 01:56:14 PM
1 of 1

मुंबई। एक अध्ययन के अनुसार देश में सस्ते या वहनीय मकानों की बढ़ती मांग के साथ इस खंड का बाजार अगले 5-7 साल में बढ़कर 100 अरब डॉलर सालाना होने का अनुमान है। यह अध्ययन पीडब्ल्यूसी, नारेडको व एपीआरईए ने किया है। इसमें कहा गया है कि बढ़ते शहरीकरण, अर्थव्यवस्था के विकास तथा विशेषकर निम्न आयवर्ग में मकानों की भारी कमी को ध्यान में रखते हुए उक्त खंड का बाजार अगले 5-7 साल साल में बढ़कर 100 अरब डॉलर सालाना का हो जाएगा। 

JAIPUR:  सबसे सस्ते प्लाट और फार्म हाउस CALL: 09313166166

अध्ययन में कहा गया है की ‘नीतियों व प्रक्रिया का सरलीकरण, प्रौद्योगिकी नवोन्मेष व वित्तपोषण इस क्षेत्र में निजी क्षेत्र की भागीदारी आकर्षित करने में बड़ी भूमिका निभाएगा।’ सरकारी अनुमानों के अनुसार इस समय 6 करोड़ मकानों की कमी है जिनमें से 2 करोड़ मकान शहरी व 4 करोड़ मकान ग्रामीण इलाकों में चाहिए।

यह भी पढ़े :जानकर हो जाओगे हैरान! एडल्ट फिल्में देखने के मामले में लड़कियों की यह बातें..! 
यह भी पढ़े :मजेदार! जानकर होगी हैरानी.. गर्लफ्रेंड के दूर जाते ही लड़के जरूर करते है यह हरकत

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप
यह भी पढ़े :ओह! तो महिलाएं इस वजह से भी करती हैं ऑर्गैजम का नाटक...!



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.