loading...
loading...
loading...
27 जून : आज का इतिहास दैनिक राशिफल……27 जून, 2017 मंगलवार जेटली ने राज्य में जीएसटी लागू करने के लिए मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती सईद से आग्रह किया गोवा की राज्यपाल ने शाकम्भरी माता के दर्शन किए भागलपुर: श्रावणी मेला की तैयारी में जुटा स्वास्थ्य विभाग हम सबको गुरु चरणों से जुड़ जाना चाहिए: स्वामी धर्म सिंह भारत में क्रिकेट खेल साथ साथ धर्म भी प्रशासन की सख्ती के बावजूद फिर अवैध रूप से गर्भपात संकल्प कैंप में बच्चों को गुरुबाणी, गुरु इतिहास और रहित मर्यादा बारे जानकारी दी पेय पदार्थ के नाम पर दुकानदार परोस रहे है जहर भारत और विश्व के इतिहास में 27 जून की प्रमुख घटनाएं रेशा देवी ने कहा- युवाओं को नशे से दूर करने के लिए धर्म के साथ जोड़े दार्जिलिंग: भारी बारिश और बंद के माहौल में मुस्लिमो ने मनाया ईद-उल-फितर रमन शर्मा ने कहा- अापातकाल देश के इतिहास में काला दिन खाना खजाना प्रतियोगिता में महिलाओं ने दिखाया उत्साह कंडबाड़ी में NGO परिवर्तन द्वारा स्वास्थ्य शिविर का आयोजन बालड़ी रक्षक योजना ने तोडा दम स्वास्थ्य को लेकर महिलाओं का उदासीन रवैया इफ्तार पार्टी है नौटंकी, इसकी हमे क्या जरूरत: गिरिराज सिंह 2018 से बदल सकता है वित्त वर्ष, इस साल नवंबर में पेश हो सकता है बजट
आयकर विभाग गोल्ड लोन और माइक्रोफाइनैंस कंपनियों के कर रहा है रिकॉर्ड चेक
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 12:34:53 PM
1 of 1

नई दिल्ली। नोटबंदी की घोषणा के बाद अब सरकार की नजर ऐसी कंपनियों पर है जहां कालाधन ज्यादा खपाने की अशंका है। इनकम टैक्स डिपॉर्टमेंट ऐसी कंपनियों के रिकॉर्ड चेक रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक टैक्स डिपॉर्टमेंट गोल्ड लोन और माइक्रोफाइनैंस कंपनियों से डिटेल्स मंगा रहा है। जिसमें इस बात को चैक किया जा रहा है कि जिन लोगों ने गोल्ड लोन लिया है, उन्होंने कितना में सोना गिरवी रखा है। 

इसके जरिए डिपॉर्टमेंट इस बात का पता चलेगा कि लोगों ने इनकम की तुलना में कितना गोल्ड रखा हुआ है। इसके अलावा क्या कंपनियां अकाउंट खोलने में कोई हेरा-फेरी तो नहीं कर रही हैं। इसी तरह माइक्रोफाइनैंस कंपनियां ग्रामीण इलाकों में लोगों को लोन देकर ई.एम.आई. लेती हैं। ऐसे में इस बात को भी देखा जाता है कि अकाउंट खोलने में किसी बात की गड़बड़ी तो नहीं की गई है। एक फाइनैंस कंपनी के अधिकारी ने बताया कि कंपनी के.वाई.सी. मानकों के आधार पर लोन देती है, जो कि आर.बी.आई. द्वारा बनाए गए हैं। ऐसे में नियमों में अनदेखी नहीं हो सकती है।

यह भी पढ़े :बड़े भाई को हुआ छोटी बहन से प्यार, पिता ने करा दी सगाई!

यह भी पढ़े :शादी में दूल्हा-दुल्हन को क्यों लगाई जाती है मेहंदी? जाने वजह

यह भी पढ़े :जाने, दांतों की सेहत आपकी SEX LIFE को कर सकती है खराब! 

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.