पड़ोस युवक ने पीया मासूम बच्ची का खून, मामला सुनकर उड़ जायेंगे होश एक बार फिर साथ नजर आएंगी ये जोड़ी AAP को छोड़ BJP में शामिल हो सकते है कुमार विश्वास नोटबंदी: गड़बड़ी करने वाले बैंकों के कर्मचारियों पर सरकारी कार्रवाई Sanjeevni Today: Top Stories of 9am जो शक्तिशाली पडोसी देश है उनके बीच मतभेद स्वाभाविक: PM मोदी ISI की साजिश थी, इंदौर-पटना एक्सप्रेस का पटरी से उतरना निक्केई 0.20% कमजोरी के साथ 18,776 ओबामा प्रशासन की ट्रंप पर फर्जी आरोप लगाकर कमजोर करने की कोशिश: पुतिन जो रूट नहीं खेलेंगे इस साल IPL, छोड़ने की बताई ये वजह आतंकवाद से निपटने के लिए भारत की सहायता की जरुरत है :अमेरिका दो साल में घरेलू हवाई यात्रियों की संख्या बढ़ी डेढ़ गुना पढ़ें: इतिहास के पन्नों में 18 जनवरी का दिन क्यों है खास पाकिस्तान विमान हादसा : जांच के लिए पायलटों के शव निकाले जाएंगे कब्र खोदकर! अपराधियों और बागियों के आलावा मुलायम की और से सबको OK 'आर्मी जवानो' को मिलेंगे मॉडर्न-हेलमेट, इसमें क्या होगा खास खुशखबरी : वोडाफोन 250 में देगा 4 जीबी डेटा डीविलियर्स ने क्रिकेट से संन्यास को लेकर दिया ये बड़ा बयान, कहा... क्या आप जानते है Keyboard के बटन अल्फाबेटिकल क्यों नही होते 60 अंक बढ़त के साथ सेंसेक्स 27350 , निफ्टी 8450 के करीब
स्पेशलिटी बिजनस बेचेगा टाटा स्टील
sanjeevnitoday.com | Tuesday, November 29, 2016 | 09:29:07 AM
1 of 1

नई दिल्ली। टाटा स्टील यूके ने अपने स्पेशलिटी स्टील बिजनस को लिबर्टी हाउस के हाथ बेचने का फैसला कर लिया है। यह इस बात का पहला बड़ा संकेत है कि स्टील बिजनस के लिए फॉर्मर चेयरमैन सायरस मिस्त्री ने जो स्ट्रैटेजी बनाई थी, उसे बिना किसी बदलाव के लागू किया जा रहा है। भारतीय मूल के बिजनेसमैन संजीव गुप्ता के स्वामित्व वाली लिबर्टी हाउस को टाटा स्टील यह बिजनेस लगभग 10 करोड़ डॉलर में बेचेगी। टाटा ने जब जर्मन कंपनी थिसेनक्रुप के साथ विलय के विकल्प पर सहमति जताई थी, उससे पहले से गुप्ता ब्रिटेन में टाटा स्टील का प्लांट खरीदने की होड़ में शामिल थे।

मिस्त्री ने टाटा स्टील के सीनियर मैनेजमेंट के साथ मिलकर प्लान बनाया था कि टाटा स्टील के ब्रिटिश बिजनस के कुछ हिस्से को या तो बेचा जाए या उसे थिसेनक्रुप जैसी किसी बड़ी यूरोपियन कंपनी के साथ मिला दिया जाए। निवेशकों को डर था कि मिस्त्री को चेयरमैन पद से हटाए जाने के बाद टाटा ग्रुप घाटे में चल रही या लचर प्रदर्शन वाली एसेट्स को बेचने की स्ट्रैटेजी से हट जाएगा। टाटा स्टील ने पिछले सप्ताह मिस्त्री की जगह पर ओ पी भट्ट को चेयरमैन बनाया था। टाटा स्टील ने मिस्त्री और नुस्ली वाडिया को अपने बोर्ड से हटाने के लिए एक्स्ट्राऑर्डिनरी जनरल मीटिंग भी बुलाई है।

गुप्ता ने कहा, इस डील से हम बहुत खुश हैं। इससे हमारी ग्रीन स्टील स्ट्रैटेजी मजबूत होगी और हमें अपने दम पर टिके रहने वाला बिजनस बनाने में मदद मिलेगी। डील की शर्तों पर सहमति बन गई है। छह हफ्तों में डील पूरी करने का लक्ष्य रखा गया है। गुप्ता की स्टील स्ट्रैटेजी यह है कि ब्लास्ट फर्नेस के इस्तेमाल से नया स्टील बनाने के बजाय स्टील को रिसाइकल किया जाए। ब्रिटेन का प्लांट इलेक्ट्रिक आर्क फर्नेस से स्टील बना सकता है, जिसका इस्तेमाल ऑटोमोबाइल और एयरोस्पेस इंडस्ट्री में हो सकता है। लिबर्टी के साथ लेटर ऑफ इंटेंट के दायरे में साउथ यॉर्कशर की कई एसेट्स शामिल हैं। 

इनमें रॉथरहम इलेक्ट्रिक आर्क स्टीलवर्क्स, स्टॉकब्रिज का स्टील प्योर करने वाला प्लांट और ब्रिंसवर्थ की एक मिल के साथ ब्रिटेन के बॉल्टन और वेडनेसबर्री और चीन के शुझोऊ स्थित सर्विस सेंटर्स शामिल हैं।स्पेशलिटी स्टील में करीब 1700 कर्मचारी हैं, जो एयरोस्पेस, ऑटोमोटिव और ऑइल ऐंड गैस इंडस्ट्रीज के लिए स्टील बनाते हैं। टाटा स्टील में लगभग 1500 कर्मचारी हैं। टाटा स्टील यूके ने पिछले नौ वर्षों में 1.5 अरब डॉलर का निवेश किया है। सोमवार को जारी बयान में कंपनी ने कहा कि वह अपने यूके स्ट्रिप बिजनस के दमदार भविष्य के लिए वह एक ट्रांसफॉर्मेशन प्लान पर कदम बढ़ा रही है।

यह भी पढ़े :बड़े भाई को हुआ छोटी बहन से प्यार, पिता ने करा दी सगाई!

यह भी पढ़े :शादी में दूल्हा-दुल्हन को क्यों लगाई जाती है मेहंदी? जाने वजह

यह भी पढ़े :जाने, दांतों की सेहत आपकी SEX LIFE को कर सकती है खराब! 

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप



FROM AROUND THE WEB

0 comments

© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.