रेसिपी: इस प्रकार बनाएं स्वादिष्ट मैकरोनी कन्‍नौज में दूल्‍हा-दुल्‍हन ने थाने में रचाई शादी, खाईं सात जन्‍मों की कसमें, देखें वीडियो रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता हैं पपीता, जानिए पद्मावती विरोध: किले में शव मिलने से बॉलीवुड में मचा हड़कंप, जानिए पूरा मामला मिस्र: हिंसक आतंकी हमले में 155 मरे, सैंकड़ों घायल ‘मॉनसून शूटआउट’ का नया गाना ‘अंधेरी रात’ में दिया हुआ रिलीज़ THE फैक्ट्री कार्नर ने मनाया बालदिवस कई खतरनाक बीमारियों को दूर भगाता है अमरूद, जानिए अभिनेत्री नमिता ने फिल्म निर्माता वीरेंद्र चौधरी संग रचाई शादी DSP ने शादी का झांसा देकर महिला कांस्टेबल से बनाए शारीरिक सम्बन्ध सुस्त मांग से सोने में गिरावट, चांदी स्थिर मिनटों में निखरी और बेदाग त्वचा पाने के लिए दही का करें इस्तेमाल JIO का ऐलान, कल से बंद हो जायेगी ये सर्विस मिस्र के उत्तरी प्रांत में चरमपंथियों का हमला, 85 लोगो की मौत, 80 घायल ईरान: 4.3 की तीव्रता से आया भूकंप, 35 घायल दिल्ली के न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी में चलती बस में युवक की चाकू मारकर की हत्या अब इन दोनों कपल का हुआ ब्रेकअप, 4 सालों से कर रहे थे डेट ईरान के पश्चिमी प्रांत में भूकंप के झटके, 36 लोग घायल क्या नोटबंदी के समय किसी सूटवाले को लाइन में देखा था: राहुल गांधी RSS प्रमुख मोहन भागवत का बड़ा बयान, कहा- अयोध्या में राम मंदिर बनेगा इसके अलावा कुछ नहीं
देश की पहली कंपनी बनी टाटा स्टील जिसने भारतीय रेल के साथ लॉन्ग टर्म ट्रैरिफ कांट्रैक्ट पर हस्ताक्षर किया
sanjeevnitoday.com | Saturday, July 15, 2017 | 04:33:20 PM
1 of 1

नई दिल्ली। टाटा स्टील देश की ऐसी पहली कंपनी बन गई है, जिसने भारतीय रेल के साथ लॉन्ग टर्म ट्रैरिफ कांट्रैक्ट (एलटीटीसी) पर हस्ताक्षर किया टाटा स्टील ने कहा कि उसने रेलवे के साथ दीर्घकालिक शुल्क अनुबंध किया है और इस तरह का समझौता करने वाली वह इस्पात क्षेत्र की पहली कंपनी है। 

 यह करार तीन से पांच वर्षों के लिए होगा। नई दिल्ली स्थित रेल भवन में शुक्रवार को कार्यक्रम हुआ। इस करार के तहत टाटा स्टील, रेलवे के लिए गारंटी के साथ राजस्व में बढ़ोतरी के लिए काम करेगा। इस मौके पर टाटा स्टील के वाइस प्रेसिडेंट (स्टील मैनयुफैक्चरिंग) सुधांशु पाठक उपस्थित थे।

 मजबूत होंगे रिश्ते : टाटा स्टील ने कहा कि इस समझौते से रेलवे के साथ उनके रिश्ते मजबूत होंगे। टाटा स्टील ने अपने रेल के बुनियादी ढांचे और माल ढुलाई प्रणाली में सुधार के लिए भारी निवेश किया है। इससे रेलवे रैक की कमी को दूर करने और बैगन टर्नअराउंड समय को कम करने में मदद मिली।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.