संजीवनी टुडे

News

हॉकी वर्ल्ड लीग: टीम इंडिया को आत्ममुग्धता से बचते हुए फाइनल की करेंगे डगर तय

Sanjeevni Today 07-12-2017 09:15:00

नई दिल्ली। हॉकी वर्ल्ड लीग के क्वार्टर फाइनल में भारत ओलंपिक सिल्वर मेडलिस्ट बेल्जियम से शूटआउट में 3-2 से जीतने के बाद भारतीय हॉकी टीम के कोच शोर्ड मारिन ने इस जीत को अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करार दिया है। बेल्जियम को सडन डैथ में हराने के बाद आत्मविश्वास से भरी भारतीय हॉकी टीम शुक्रवार को हाकी विश्व लीग फाइनल्स के सेमीफाइनल मुकाबले में जब उतरेगी तो इस चमत्कारिक जीत के बाद उसके लिए आत्ममुग्धता से बचते हुए फाइनल की डगर तय करना बड़ी चुनौती होगी। 

कलिंगा स्टेडियम पर दस हजार से ज्यादा दर्शकों के सामने भारत ने बुधवार को जो मुकाबला जीता, वह आने वाले सालों तक हॉकी प्रेमियों के जेहन में रहेगा। वास्तव में इस जीत की खुमारी अभी भी खिलाड़ियों के जहन और मिजाज दोनों पर ही चढ़ी होगी, अंतिम चार के लिए इन्हीं तमाम बातों से मुक्त होकर मैदान पर उतरना टीम के लिए एक बड़ा चैलेंज होगा।

  

सेमीफाइनल में भारत की टक्कर दुनिया की नंबर एक टीम और रियो ओलंपिक चैंपियन अर्जेंटीना या इंग्लैंड से होगी, जिसने उसे पूल चरण में हराया था। क्वार्टरफाइनल में सटीक पेनल्टी कार्नर, तेज तर्रार आक्रमण, अडिग डिफेंस और सबसे अहम जीत के तेवर सभी कुछ टीम के पास था। सोने पे सुहागा रहा दर्शकों का समर्थन जो शुक्रवार को फिर ‘इंडिया इंडिया’,‘चक दे इंडिया’ का शोर मचाते हुए ऊर्जा का संचार करेंगे।

भारत और बेल्जियम के बीच कलिंगा स्टेडियम में कड़ा मुकाबला हुआ, दोनों टीमें पहले 2-2 की बराबरी पर थीं, निर्धारित समय तक स्कोर 3-3 था। इसके बाद पेनल्टी शूटआउट में भी स्कोर 2-2 से बराबर रहा, सडन डेथ में भारत के हरमनप्रीत सिंह ने गोल किया। भारतीय गोलकीपर आकाश चिकते ने पेनल्टी शूटआउट में बेल्जियम के तीन शॉट रोके, फिर सडन डेथ में भी शानदार बचाव किया, भारतीय फॉरवर्ड आकाशदीप सिंह का यह 150वां इंटरनेशनल मैच था। 

Watch Video

More From sports

Recommended