संजीवनी टुडे

News

अब भारत में होगा घातक F-16 का प्रोडक्शन, टाटा समूह के बीच समझौता

Sanjeevni Today 20-06-2017 14:11:10

नई दिल्ली। सोमवार को एफ-16 लड़ाकू विमान भारत में बनाने के लिए एक 'बड़े' समझौते पर हस्ताक्षर किए गए । इस समझौते के दौरान कहीड टेक्सास के अपने फोर्ट वर्थ कारखाने को भारत स्थानांतरित करेगी। दुनिया के सबसे खतरनाक लड़ाकू विमानों में से एक एफ 16 अब का प्रोडक्शन अब भारत में होगा।

 


हालांकि टाटा एडवांस्‍ड सिस्‍टम्‍स और लॉकहीड मार्टिन के बीच हुआ ये समझौता   भारत के लिए बहुत ही महत्‍वपूर्ण है। इस समझौते को अमेरिका से भारत में नौकरियों को फ्लाइट कराने के रूप में भी देखा जा रहा है।

 दरअसल, अब लॉकहीड अपना उत्‍पादन टेक्‍सास में बंद कर देता और भारत में नई यूनिट स्‍थापित करेगा। इसके परिणामस्‍वरूप भारतीयों को ज्‍यादा रोजगार  मिलेंगे और अमेरिका में नौकरियां कम होगी । रक्षा विशेषज्ञों की मानें तो देश में अभी इस तरह के 200 लड़ाकू विमानों की जरूरत है। अगर हम इतनी तादाद में इन विमानों को बाहर से इम्पोर्ट करते हैं तो इससे अर्थव्यवस्था पर खासा असर पड़ेगा।

हालांकि दोनों कंपनियों के मुताबिक कुछ नौकरियां टेक्सास में रहेंगी।  खबरों के मुताबिक, पेरिस एयरशो में अग्रीमेंट की घोषणा करते हुए लॉकहीड मार्टिन और टाटा ने कहा कि F-16 के भारत में उत्पादन होने से अमेरिका में नौकरियों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। 


 दुनिया के 26 देश 3,200 F-16 लड़ाकू विमानों का इस्तेमाल करते हैं। कंपनी का दावा है कि एफ-16 ब्लॉक 70 उसका सबसे नया और सबसे उन्नत तकनीक पर आधारित विमान है यदि ऐसा है तो भारत के पास ऐसे उन्नत कतनीक के विमान के होंगे जो अन्य देशों के पास न के बराबर होंगे।

Watch Video

More From business

Recommended