loading...
दो लाख रुपए से अधिक की नकद खरीद पर देना होगा, 100 प्रतिशत जुर्माना चौथे टेस्ट में कोहली की जगह खेल सकता है ये बल्लेबाज स्कूल में डायरेक्टर और टीचर कर रहे थे रोमांस, फिर ऐसे आई सच्चाई सामने... आईपीएल-2017: पुणे टीम ने विश्व के नंबर-1 गेंदबाज़ को किया शामिल, मचा सकता है तहलका फिल्म 'सैराट' की एक्ट्रेस रिंकू राजगुरु के साथ हुई छेड़छाड़ आतंकवादी संगठन आईएस ने ली लंदन हमले की जिम्मेदारी, अब तक आठ गिरफ्तार मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने धौलपुर का दौरा किया भोपाल अपहरण मामले में 14 आरोपी गिरफ्तार महिला हॉकी राउंड-2: रानी का लक्ष्य विश्व लीग में टीम को शीर्ष पर पहुंचाना एयर इंडिया ने मैनेजर से मारपीट करने वाले शिवसेना सांसद रवींद्र गायकवाड़ को किया ब्लैकलिस्ट सिद्धि विनायक मंदिर में विद्या के साथ हुआ ये शर्मनाक इंसिडेंट, यूं दिया करारा जवाब लडकी के अपहरण के आरोप में दो लोग गिरफ्तार ऑफिस में आजम की तस्वीर देखकर भड़के यूपी के नए मंत्री मोहसिन रजा , PM और CM की फोटो लगाने का दिया आदेश सोनाक्षी सिन्हा पूछना चाहती है 'सुल्तान' से ये सवाल भोपाल में दिनदहाड़े युवक का अपहरण एयर एशिया 15 अप्रैल को रांची से हवाई सेवा करेगी शुरू यूपी के नए स्वास्थ्य मंत्री का ऐलान, एम्बुलेंस से हटेगा 'समाजवादी' शब्द गुजरात लॉयन्स टीम के मालिक को IPL का बेसब्री से इंतजार, जाने क्या है वजह? वर्षा से क्षतिग्रस्त सड़कों व भवनों के लिए 13 करोड़ 77 लाख की मदद : कटारिया कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन पर 8 घंटे रेलिंग से लटकती रही लाश, लेकिन किसी की भी नहीं पड़ी नजर
अगले सप्ताह हो सकती है ब्याज दर कम : RBI
sanjeevnitoday.com | Friday, December 2, 2016 | 12:13:53 PM
1 of 1

नई दिल्ली। आरबीआई के बैंकों से सरप्लस कैश वापस लेने के बोल्ड स्टेप के बाद एक म्यूचुअल फंड हाउस के सीईओ ने अपने वॉट्सऐप ग्रुप के मेंबर्स को लिखा था कि कैश रिजर्व रेशियो (सीआरआर) बढ़ाने का फैसला सही है। उन्होंने बताया था कि इससे मार्केट को स्टेबल बनाने में किस तरह मदद मिलेगी। इसके एक दिन बाद रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल ने कहा कि यह कदम परमानेंट नही है, जिसका बॉन्ड मार्केट ने जश्न मनाया। ये लोग जानते हैं कि इकनॉमिक ग्रोथ कम होने और डिपॉजिट बढ़ने पर आरबीआई को आज नहीं तो कल ब्याज दरों में कटौती करनी पड़ेगी। इससे बॉन्ड के दाम बढ़ेंगे और यील्ड कम होगी। 

इकनॉमी के लिए जो बुरी खबर है, वह मार्केट के लिए खुशखबरी है। सीआरआर बढ़ने के बाद पिछले शनिवार को बॉन्ड के दाम में जो गिरावट आई थी, वह पटेल के बयान के बाद खत्म हो गई। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच में चीफ इंडिया इकनॉमिस्ट इंद्रनील सेनगुप्ता ने बताया, सीआरआर बढ़ाने के बाद रेट कट को बेमेल नहीं माना जाना चाहिए क्योंकि कैश रिजर्व रेशियो में बढ़ोतरी को आखिरकार वापस लिया जाएगा। इकनॉमी अभी ठहर गई है, इसलिए हम रेट कट की उम्मीद कर रहे हैं। हम पहले भी दिसंबर में ब्याज दरों में 0.25 पर्सेंट कटौती की उम्मीद कर रहे थे। हमारा मानना है कि इस फाइनेंशियल ईयर के बचे हुए महीनों यानी अगले साल मार्च तक एक बार और 0.25 प्रतिशत की कटौती होगी।

देश के बड़े बॉन्ड हाउसों में से एक एसटीसीआई प्राइमरी डीलर के मैनेजिंग डायरेक्टर प्रदीप माधव ने कहा कि अगर रिजर्व बैंक रेट में आधा पर्सेंट की भी कटौती करता है तो उन्हें हैरानी नहीं होगी। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच ने फाइनेंशियल ईयर 2017 के लिए जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को आधा पर्सेंट घटाकर 6.9 पर्सेंट कर दिया है। वह सितंबर 2017 तक इंटरेस्ट रेट में 0.75 प्रतिशत कटौती की उम्मीद कर रहा है। अधिकतर अर्थशास्त्रियों का कहना है कि अगले हफ्ते मॉनेटरी पॉलिसी कमेटी की मीटिंग में 0.25 प्रतिशत रेट कट तय है। उनका कहना है कि नोटबंदी से स्मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (एसएमई) को काफी नुकसान हो रहा है। फ़िलहाल सेंट्रल बैंक को उन्हें सपोर्ट देना चाहिए।

अनुभूति सहाय ने बताया, हम दिसंबर में पहले से 0.25 प्रतिशत रेट कट की उम्मीद कर रहे थे। अब हम फरवरी तक ब्याज दरों में और 0.25 पर्सेंट कमी की उम्मीद कर रहे हैं क्योंकि इकनॉमिक ग्रोथ कम हो रही है। कुछ दिनों पहले सीआरआर बढ़ाने का जो ऐलान हुआ था, वह बैंकों से सरप्लस कैश वापस लेने के लिए था। इसका रिजर्व बैंक के इंटरेस्ट रेट पर स्टैंड से कोई लेना-देना नहीं है। 26 नवंबर को आरबीआई ने बैंकों से 16 सितंबर से 11 नवंबर के बीच सभी इंक्रीमेंटल डिपॉजिट अपने पास जमा कराने को कहा था। नोटबंदी के बाद बैंकिंग सिस्टम में कैश काफी बढ़ गया है, जिसे कम करने के लिए यह कदम उठाया गया था। रिजर्व बैंक इंटरेस्ट रेट पर फैसला 9 दिसंबर की मीटिंग में करेगा।

यह भी पढ़े: जिसके पैरो के निशान दिखे थे 6 महीने पहले उसी ने किया 6 किसानों का क़त्ल, आज भी नही हुआ खुलासा

यह भी पढ़े: जेब में रखे चीनी करेगा मोबाइल चार्ज ये है तरीका

यह भी पढ़े: जवाब नहीं ! चोरी के डर से घर को बना डाला लोहे का पिंजरा

यह भी पढ़े : ताज़ा और रोचक ख़बरों से जुड़े रहने के लिए डाउनलोड करें हमारा एंड्राइड न्यूज़ ऍप

 

 



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.