loading...
loading...
loading...
दूल्हे की सच्चाई का पता चला तो दुल्हन रह गई सन्न बारिश में भीगते हुए करीना की ये तस्वीरें हुई वायरल, देखें तस्वीरें सिर्फ 100 रुपए के लिए शराबी बेटे ने कर दी मां की हत्या सीरिया के मयादीन में स्थित आईएस संचालित जेल पर हमला ,60 लोगों की मौत तीन दिवसीय विदेश यात्रा पूरी कर लौटे मोदी, सुषमा ने किया एयरपोर्ट पर स्वागत शिवसेना ने बांधे मोदी की तारीफों के पुल, कहा- उनके शब्दों में निश्चित ही दम है Video: 'टॉयलेट- एक प्रेम कथा' का गाना हंस मत पगली... रिलीज यहां पर एक ऐसे बच्चे ने लिया जन्म जिसका नहीं है सिर! अपराधी लड़की ने कारोबारी को शराब पिलाकर कर दिया अचेत और फिर... 1.61% की गिरावट के साथ नैस्डेक 6146.62 पर बंद राष्ट्रपति चुनाव: सोनिया मनमोहन की मौजूदगी में मीरा कुमार ने भरा नामांकन डॉलर के मुकाबले रुपए में आई 2 पैसे की गिरावट वेनेजुएला के सुप्रीम कोर्ट पर आंतकी हमला कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार को 100 में से 1 नंबर दूंगी: मायावती ऑटो से उतरते वक्त अपराधियों ने युवती के हाथ छीना मोबाइल और फिर... जीएसटी लागू करने की तैयारी पूरी, पर्लियमेंट के सेंट्रल हॉल में हो रहा है रिहर्सल सुरक्षा व्यवस्था के लिए US देगा भारत को संसाधन और तकनीक: अमेरिकी उपराष्ट्रपति शाहरुख़ के साथ करने से करीना ने किया इंकार, ये है वजह एक ऐसा किला जिसकी दीवारों से टपकता था खून और रात में... चीन में भूस्खलन में जिंदा दफन लोगों में से 35 लोग सुरक्षित मिले, 73 लोग लापता
स्विटजरलैंड में भारतीयों के सिंगापुर और हांगकांग से कम खाते
sanjeevnitoday.com | Monday, June 19, 2017 | 07:35:38 AM
1 of 1

नई दिल्ली। कालेधन की परेशानी से निमटने की कोशिशों की रफ़्तार को तेज करने के लिए स्विट्जरलैंड में निजी बैंकरों के एक समूह ने यह कहा है कि भारतीयों का सिंगापुर और हांगकांग जैसे वित्तीय केंद्रों की तुलना में स्विस बैंकों में जमा खातों की संख्या ‘कम’ हैं। वर्ष 2015 के अंत में स्विस बैंकों में भारतीयों के जरिए जमा राशि घटकर अब तक के न्यूनतम स्तर 1.2 अरब फ्रैंक पर आ गई है।

 

 

 हालांकि अन्य वैश्विक केंद्रों के बारे में जमा राशि को लेकर कोई बाकी पेज 8 पर  आधिकारिक आंकड़ा नहीं मिला है। महत्त्वपूर्ण है कि स्विट्जरलैंड ने भारत और 40 अन्य क्षेत्रों के साथ कर सूचना के स्वत: आदान-प्रदान के लिए पिछले सप्ताह वैश्विक संधि के मसौदे को मंजूरी दे दी।

मसौदे में आंकड़ों की गोपनीयता बनाए रखने पर जोर दिया गया है लेकिन जिनेवा स्थित एसोसएिशन आफ स्विस प्राइवेट बैंक के मुताबिक उसे भारत को लेकर  किसी तरह की कोई चिंता नहीं है, क्योंकि कानून का शासन लागू है। 


 गौरतलब है कि एसोसिएशन के प्रबंधक जान लांगलो ने जिनेवा से कहा कि स्विटजरलैंड में भारतीयों के सिंगापुर या हांगकांग के मुकाबले यहां काफी कम खाते हैं। भारतीयों की जमा प्रवृत्ति के बारे में पूछे जाने पर लांगलो ने कहा कि ऐसी कोई खास प्रवृत्ति नहीं है। उन्होंने कहा, ‘उनके लिर स्विट्जरलैंड के मुकाबले एशियाई वित्तीय केंद्र में खाता खोलना ज्यादा व्यवहारिक है।



FROM AROUND THE WEB

0 comments

Most Read
Latest News
© 2015 sanjeevni today, Jaipur. All Rights Reserved.